शरद यादव का जीवन परिचय | Sharad Yadav Biography in Hindi

4/5 - (1 vote)

शरद यादव का जीवन परिचय, बायोग्राफी, प्रोफाइल, कौन है, कहानी,  विकिपीडिया, निधन, आयु, जन्मदिन, घर, परिवार, पत्नी, बच्चे, धर्म, जाति, गोत्र, राजनीतिक करियर, शिक्षा, विवाह, कुल संपत्ति, परिवार, विवाद, नेटवर्थ (Sharad Yadav Biography In Hindi, Death, News, Die, Passed Away, Dead, Wiki, History, Political Career, Cast,  House, Age, Birthday, Family, Cars, Child, Education Qualification, Wife, Marriage, Net Worth)

Sharad Yadav Passed Away – जनता दल पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव का 12 जनवरी 2023 को 75 साल की उम्र में निधन हो गया है. इस बात की जानकारी उनकी बेटी शुभाषिनी ने ट्विटर के माध्यम से दी है. बिहार की राजनीति में एक अलग मुकाम हासिल करने वाले शरद के जाने से हर कोई दुखी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उन्हें किडनी सम्बंधित बीमारी थी और और डायलिसिस पर थे. अपने आखिरी समय में उन्हें गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था. शरद पंवार के दामाद राज कमल राव ने बताया कि उन्हें कार्डियक अरेस्ट आया था, उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. 13 दिसंबर को उनके पार्थिव शरीर को मध्य प्रदेश में उनके पैतृक गांव ले जाया गया जहां उनका अंतिम संस्कार किया गया.

तो आज के इस लेख में हम आपको शरद यादव का जीवन परिचय (Sharad Yadav Biography in Hindi) के बारे में पूरी जानकरी देने वाले है.

Sharad Yadav Biography in Hindi

शरद यादव का जीवन परिचय (Sharad Yadav Biography in Hindi)

नाम (Name) शरद यादव (Sharad Yadav)
जन्म तारीख (Date Of Birth) 1 जुलाई 1947
जन्मदिन (Sharad Yadav Birthday) 1 जुलाई
जन्म स्थान (Place) बंदाई गांव, होशंगाबाद, मध्यप्रदेश
उम्र (Age) 75 साल (निधन)
धर्म (Religion) हिन्दू
मृत्यु की तारीख (Date of Death) 12 जनवरी 2023
मृत्यु स्थान (Place Of Death) फोर्टिस अस्पताल, गुरुग्राम
मृत्यु का कारण (Death Cause) कार्डियक अरेस्ट
जाति (Cast) यादव
गोत्र (Gotra) बुंदेला
व्यवसाय  (Business) राजनेता और कृषक
राजनीतिक दल (Political Party) जनता दल
शिक्षा (Educational Qualification) सिविल इंजीनियरिंग
कॉलेज (College) जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज,
रॉबर्टसन कॉलेज जबलपुर
नागरिकता (Nationality) भारतीय
राशि (Zodiac Sign) सिंह राशी
भाषा (Languages) हिंदी, इंग्लिश
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) विवाहित
शादी की तारीख (Wedding Date) 15 फरवरी 1989
सांसद, राज्य सभा (Member of Parliament, Rajya Sabha) 3 बार
लोकसभा सांसद (Lok Sabha MP) 4 बार

कौन थे शरद यादव (Who was Sharad Yadav)

शरद यादव राष्ट्रीय जनता दल पार्टी के एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे. सिविल से इंजीनियरिंग करने वाले यादव सात बार लोकसभा के लिए और तीन बार जनता दल से राज्यसभा के सदस्य के लिए चुने गये. साल 2003 में गठन के बाद से साल 2016 तक जनता दल (यूनाइटेड) के पहले नेशनल प्रेसिडेंट पद पर रहे. मीसा के अंतर्गत कई बार जेल भी गए. पहली बार साल 1974 में जेपी आंदोलन के दौरान मध्य प्रदेश की जबलपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की. साल 1977 में एक बार फिर उसी सीट से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे.

शरद यादव का जन्म और शिक्षा (Sharad Yadav Birth and Education)

शरद यादव का जन्म मध्य प्रदेश के होशंगाबाद के एक छोटे से गांव अखमाऊ में 1 जुलाई 1947 को एक किसान परिवार में हुआ. किसान के घर में जन्में शरद पढ़ने-लिखने में बहुत तेज थे. यहीं से उन्होंने शुरुआती पढ़ाई पूरी की, इसके बाद उन्होंने हायर सेकेंडरी इटारसी के हायर सेकेंडरी स्कूल से पूरी की. साल 1964 में जबलपुर के साइंस कॉलेज से बीएससी और साल 1970 में कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग जबलपुर से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की. पढाई लिखाई में शुरू से ही तेज़ होने के कारण इंजीनियरिंग में गोल्ड मेडल भी जीता.

शरद यादव  का परिवार ( Sharad Yadav Family)

साल 1989 में इनकी शादी रेखा यादव से हुई इनके एक बेटा और एक बेटी है. उनकी बेटी सुभाषिनी राजा राव साल 2020 बिहार विधान सभा इलेक्शन से पहले  कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी और उन्होंने बिहारीगंज विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और उनके सामने राजद के उम्मीदवार के रूप में सीट से चुनाव लड़ा लेकिन हार गई. शरद यादव के बेटे शांतनु बुंदेला लंदन यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएशन की पढाई कर रहे हैं.

पिता का नाम (Sharad Yadav Father Name) नंद किशोर यादव
माता का नाम (Sharad Yadav mother Name)
पत्नी का नाम  (Sharad Yadav Wife Name) रेखा यादव
बेटी का नाम (Sharad Yadav Daughter Name) सुभाषिनी राजा राव
बेटे का नाम (Sharad Yadav Son name) शांतनु
दामाद का नाम (Sharad Yadav  son-in-law’s name) राज कमल राव

शरद यादव का राजनीतिक सफर (Sharad Yadav Political Career)

  • शरद का राजनीतिक करियर साल 1971 में कॉलेज के दिनों में ही शुरू हो गया था. जब पहली बार जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में छात्र संघ के प्रसीडेंट चुने गए. युवा छात्र रहते हुए राजनीती में उनकी मजबूत पकड़ हो गई थी.
  • इसी दौरान शरद कई क्रांतिकारी आंदोलन का हिस्सा भी रहे थे। जिसमे मिसा आंदोलन के तहत साल 1969, 1970, 1972 और 1975 में कई बार जेल भी जाना पड़ा। 
  • साल 1974 में, उन्होंने जबलपुर से लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस के खिलाफ विपक्ष के उम्मीदवार के रूप में जीत हासिल की. और 27 साल की उम्र में सांसद बने. जिसने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के खिलाफ उनकी राजनीतिक लड़ाई को और मजबूत किया.
  • साल 1975 में आपातकाल लग गई इसके बाद साल 1977 में इसी सीट से एक बार फिर जीतकर सांसद बने. आपातकाल विरोधी आंदोलन के दौरान कई नेताओं ने संघर्ष कर अपनी एक अलग पहचान बनाई थी, शरद यादव उनमें से एक थे. एक ऐसी छवि जिसने उन्हें कई सालों तक सांसद बने रहने के दौरान जनता के सामने खुद को अच्छी स्थिति में रखा.
  • 2 बार मध्यप्रदेश में जबलपुर से लोकसभा सांसद के रूप में अपनी पहचान बनाकर वर्ष 1986 में राज्यसभा के लिए चुने और सांसद बने. लेकिन इस बार साल 1989 में मध्य प्रदेश छोड़कर वे उत्तर प्रदेश की ओर चले गए और उत्तर प्रदेश की बदायूं लोकसभा सीट से चुनाव लड़े. और तीसरी बार संसद चुने गये.
  • शरद यादव ने 90 के दशक के अंत में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री के रूप में काम किया। वर्ष 1989 में वीपी सिंह सरकार में कपड़ा एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री बने थे.
  • साल 1990 में शरद वापिस बिहार की तरफ चले गए. इसके बाद वे साल 1991 से लेकर 2014 तक लगातार 23 साल बिहार की मधेपुरा लोकसभा सीट से सांसद रहे. 23 साल के लंबे अरसे तक शरद का बिहार से ऐसा नाता रहा कि ज्यादातर लोग उन्हें बिहारी ही मानते थे.
  • शरद यादव भी देश की पार्टी जनता दल के संस्थापकों में से एक थे. साल 1995 में उन्हें  जनता दल पार्टी का एग्जीक्यूटिव चेयरमैन नियुक्त किया गया. साल 1996 में पांचवीं बार लोकसभा सीट का इलेक्शन जीतकर संसद बने.
  • साल 1997 में जनता दल के नेशनल प्रेसिडेंट बने। इसके बाद साल 1998 में भारत के पूर्व रेल मंत्री जॉर्ज फर्नांडीस की सहायता से जनता दल यूनाइटेड पार्टी की स्थापना की. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक दल होने के कारण शरद यादव फिर से केंद्र सरकार में मंत्री बने.
  • शरद साल 1999 में सिविल एविएशन मिनिस्टर और साल 2001 में केंद्रीय श्रम मंत्रालय में कैबिनेट मिनिस्टर बनाए गए. वर्ष 2004 में एक बार फिर राज्यसभा के सदस्य चुने गए. और साल 2009 में एक बार फिर संसद बने. लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण साल 2014 में मधेपुरा सीट से चुनाव लड़ा और उनके सामने जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव थे और पप्पू यादव ने शारद को मात देते हुए जीत दर्ज की। 

शरद यादव का निधन  (Sharad Yadav Passed Away)

जनता दल पार्टी के पूर्व प्रेसिडेंट और पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर शरद यादव का 12 जनवरी 2023 को 75 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है. यह दुखत जानकरी उनकी बेटी शुभाषिनी यादव ने सोशल मीडिया के माध्यम से दी है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा “पापा नही रहे”. इनके निधन की खबर से पूरे राजनीतिक जगत में शोक का माहौल बना हुआ है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शरद अपने अंतिम वक्त में बीमारी से जुंझ रहे थे. उनके दामाद राज कमल राव के अनुसार, उनके ससुर को कार्डियक अरेस्ट आया है और उन्हें तुरंत बेहोशी की हालत में गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया.

जहाँ डॉक्टर की टीम ने एसीएलएस प्रोटोकॉल के अंतर्गत सीपीआर किया। लेकिन तमाम कोशिशों के के बाद भी उन्हें बचाया नही जा सका और रात 10:19 मिनट पर डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. ऐसा बताया भी जा रहा है कि वह किडनी की बीमारी से भी पीड़ित थे और डायलिसिस पर थे.

उनका पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव जो मध्यप्रदेश में होशंगाबाद के बंदाई गांव मौजूद है. वहा पर ले जाया जायेगा और उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा.

निष्कर्ष :- तो आज के इस लेख में आपने जाना शरद यादव का जीवन परिचय (Sharad Yadav Biography in hindi) के बारे में. उम्मीद करते है आपको यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी. 

FAQ

Q : शरद यादव का जन्म कहाँ हुआ था
Ans : बंदाई गांव, होशंगाबाद, मध्यप्रदेश

Q : शरद यादव का जन्म कब हुआ था
Ans : 1 जुलाई 1947

Q : शरद यादव का निधन कब हुआ?
Ans : 12 जनवरी 2023 को

Q : शरद यादव का निधन कहाँ हुआ?
Ans : गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में

Q : शरद यादव का निधन के समय उम्र कितनी थी?
Ans : 75 साल

Q : शरद यादव की एजुकेशन क्या थी
Ans : सिविल इंजीनियरिंग

Q : शरद यादव के कितने बच्चे हैं
Ans : एक बेटा और के बेटी

Q : शरद यादव का गोत्र क्या है
Ans : बुंदेला

Q : शरद यादव की शादी कब हुई थी
Ans : 15 फरवरी 1989

Q : शरद यादव की बेटी का क्या नाम है?
Ans : सुभाषिनी राजा राव

Q : शरद यादव की बेटे का क्या नाम है?
Ans : शांतनु

यह भी पढ़े

 

Previous articleनार्को टेस्ट क्या है | What is Narco Test in Hindi
Next articleमकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है, कहानी, मुहूर्त और महत्व | Makar Sankranti 2023 Muhurat, Date And Time In Hindi
Founder of Wonder Facts Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here