अशोक गहलोत का जीवन परिचय | Ashok Gehlot Biography in Hindi

अशोक गहलोत का जीवन परिचय, बायोग्राफी, प्रोफाइल, कौन है, हिस्टी, विकिपीडिया, कांग्रेस, राजस्थान मुख्यमंत्री , आयु, जन्मदिन, घर, परिवार, पत्नी, बच्चे, बेटी, बेटा, धर्म, जाति, गोत्र,राजनीतिक करियर, शिक्षा, विवाह, कुल संपत्ति, परिवार, विवाद, नेटवर्थ, मोबाइल नंबर (Ashok GehlotBiography in Hindi, Wiki, History, Kon Hai ,  Chief Minister of Rajasthan, News, Political Career, Congress President, Cm,  Religion, Cast,  House, Age, Dob, Birthday, Family, Cars, Child, Education Qualification, Wife, Child, Son, Father, Sister, Marriage, Net Worth, Residence, Contact Number)

अशोक गहलोत वर्तमान में राजस्थान के मुख्यमंत्री हैं और एक भारतीय राजनीतिज्ञ के तौर पर जाने जाते है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं. साल 1998 से लेकर 2003, 2008 से लेकर 2013 और 2018 से वर्तमान तक तीन बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने. लेकिन कांग्रेस में नए नेशनल प्रेसिडेंट के चुनाव को लेकर राजस्थान की राजनीती में हडकंप मची हुई है. जानकारी में मुताबिक अशोक गहलोत को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने की पूरी तरह से संभावना बनी हुई है. अगर गहलोत कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते है तो उन्हें राजस्थान के मुख्यमंत्री पद छोड़ना होगा. मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में सचिन पायलट का नाम सामने आ रहा है. हो सकता है कि सचिन पायलट को राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री नियुक्त किया जाये.

तो आज के इस लेख में हम आपको अशोक गहलोत का जीवन परिचय (Ashok Gehlot Biography in Hindi) के बारे में पूरी जानकरी देने वाले है.

Ashok Gehlot Biography in Hindi

अशोक गहलोत का जीवन परिचय (Ashok Gehlot Biography in Hindi)

नाम (Name) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot)
अन्य नाम (Other Name) जादूगर
जन्म तारीख (Date Of Birth) 3 मई, 1951
जन्मदिन (Ashok Gehlot Birthday) 3 मई
जन्म स्थान (Place) महामंदिर, जोधपुर, राजस्थान
उम्र (Age) 71 साल (2022)
धर्म (Religion) हिन्दू
जाति (Cast) माली
गोत्र (Gotra) गहलोत
व्यवसाय  (Business) राजनेता
वर्तमान पद (Current Position) राजस्थान के मुख्यमंत्री
राजनीतिक दल (Political Party) भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
शिक्षा (Educational Qualification) बीएससी, एमए (अर्थशास्त्र), एल.एल.बी
विश्वविद्यालय (University) जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय, जोधपुर
नागरिकता (Nationality) भारतीय
राशि (Zodiac Sign) मेष राशी
भाषा (Languages) राजस्थानी, हिंदी, इंग्लिश
वैवाहिक स्थिति विवाहित
शादी की तारीख (Wedding Date) 27 नवम्बर, 1977
संपत्ति (Net Worth ) 6.54 करोड़
स्थायी पता (Address) धारण के बस स्टैंड के पास, महामंदिर, जोधपुर
मुख्यमंत्री कार्यालय (Chief Minister’s Office) 8, सिविल लाइंस, जयपुर
मुख्यमंत्री आवास (Chief Minister’s Residence) मुख्यमंत्री कार्यालय, सचिवालय, जयपुर
संपर्क नंबर (Contact Number) +91-141-2227656, 2227647
ई मेल (Mail ID) [email protected]

कौन है अशोक गहलोत (Who Is Ashok Gehlot)

अशोक गहलोत तीन बार राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके है. जोधपुर, राजस्थान के सरदारपुरा विधानसभा से विधायक है. केंद्र सरकार में गहलोत कई बार केंद्रीय मंत्री के रूप में अपनी सेवाए दी. वह पहली बार साल 1980 में जोधपुर संसदीय क्षेत्र से 7वीं लोकसभा के लिए चुने गए. गहलोत साल 1999 में सदरपुरा, जोधपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक के रूप में चुने गए. अशोक गहलोत के पिताजी जादूगर थे जो देश विदेश में घूमकर जादू दिखाया करते थे. अशोक गहलोत ने साल 1977 में सुनीता से शादी की. इनके एक बेटा और एक बेटी है.

अशोक गहलोत का जन्म और परिवार (Ashok Gehlot Birth and Family)

अशोक गहलोत का जन्म राजस्थान राज्य के जोधपुर जिले में 3 मई 1951 को एक जादूगर परिवार में हुआ. इनके पिता स्व. श्री लक्ष्मण सिंह गहलोत जादूगर थे, जो अपने जादू के करतब दिखाने के लिए देश भर में यात्रा करते थे. इनके पिता का राजनीति से कोई संबंध नहीं था. और उनकी माँ का नाम सेवा देवी है.

अशोक गहलोत की शादी 27 नवम्बर, 1977 को सुनीता गहलोत के साथ हुई. इनके दो बच्चे है एक बेटा वैभव गहलोत और एक बेटी सोनिया गहलोत.

अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत पेशे से वकील हैं और वर्तमान समय में राजस्थान कांग्रेस कमेटी के महासचिव पद पर हैं और राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट भी हैं. जोधपुर से लोकसभा का चुनाव लड़ा था लेकिन हार का सामना करना पड़ा. इनकी शादी साल 2005 में हिमांशी से हुई. हिमांशी “इन्वेंटिव हेल्पिंग हैंड सोसायटी” नामक NGO चलाती है. इनकी एक बेटी है जिनका नाम काश्विनी गहलोत है.

अशोक गहलोत की बेटी सोनिया की शादी मुंबई के बिजनेसमैन गौतम अनखड़ के साथ हुई. और वह कुछ कंपनिया के मालिक है

परिवार की जानकारी (family Information)

पिता का नाम (Ashok Gehlot Father Name) स्व. श्री बाबू लक्ष्मण सिंह गहलोत (जादूगर)
माता का नाम (Ashok Gehlot mother Name) सेवा देवी
भाई का नाम (Ashok Gehlot Brother Name) अग्रसेन गहलोत, कंवरसेन (2018 में मृत्यु)
बहन का नाम (Ashok Gehlot Sister Name) विमला देवी
पत्नी का नाम  (Ashok Gehlot Wife Name) सुनीता गहलोत
बेटे का नाम (Ashok Gehlot Son Name) वैभव गहलोत (वकील)
बेटी का नाम (Ashok Gehlot Daughter Name) सोनिया
बहू का नाम (Ashok Gehlot daughter-in-law’s name) हिमांशी (एनजीओ डायरेक्टर)
पोती का नाम (Ashok Gehlot granddaughter’s name) काश्विनी गहलोत
दामाद का नाम (Ashok Gehlot D son-in-law’s name) गौतम अनखड़ (बिजनेसमैन)

अशोक गहलोत की शिक्षा (Ashok Gehlot Education)

अशोक गहलोत ने जोधपुर के जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय से विज्ञान और कानून में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की और इसके बाद अर्थशास्त्र विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की.

अशोक गहलोत का शुरुआती जीवन (Ashok Gehlot Early Life)

अशोक गहलोत ने कम ही उम्र में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के सदस्य बन गए थे. कम उम्र में महात्मा गांधी के विचारो और शिक्षाओं से इतने ज्यादा प्रभावित हुए कि पूरा जीवन महात्मा गांधी के सिद्धांतों पर चले. एक छात्र के रूप में भी सामाजिक राजनीतिक कार्यों में अहम भूमिका निभाई.

साल 1971 में बांग्लादेश के लिबरेशन के दौरान गहलोत ने बनगांव और 24 परगना जिलों, और वेस्ट बंगाल समेत कई जगहों पर रिफ्यूजी को कैंपस में रहने के लिए व्यवस्था करवाई. इन्होंने इंदौर, सेवाग्राम, औरंगाबाद और वर्धा में तरुण शांति सेना द्वारा आयोजित शिविरों में भी सक्रिय भूमिका निभाई. यह वह जगह थी जब पूर्व प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी ने पहली बार शरणार्थी शिविरों में अपनी एक यात्रा के दौरान अपने संगठनात्मक कौशल की पहचान की थी.

अशोक गहलोत का राजनीतिक सफ़र (Ashok Gehlot Political Career)

  • अशोक गहलोत ने साल 1977 में सरदारपुरा निर्वाचन क्षेत्र के लिए राजस्थान विधान सभा के लिए अपना पहला चुनाव लड़ा और भारतीय जनता पार्टी के माधव सिंह से 4 हज़ार 426 वोटों के अंतर से हार गए. गहलोत को अपना पहला इलेक्शन लड़ने के लिए अपनी मोटरसाइकिल बेचनी पड़ी थी.
  • साल 1980 में उन्होंने जोधपुर से लोकसभा चुनाव लड़ा और 52 हज़ार वोटों के अंतर से जीत दर्ज की. और साल 1984 में उन्हें सेंट्रल मिनिस्टर के रूप में नियुक्त किया गया.
  • साल 1991 में कांग्रेस पार्टी सत्ता में आई तब तत्कालीन प्रधानमंत्री पी.वी. नरसिम्हा राव थे इन्होने साल 1993 में सेंट्रल की सेवाओं से फ्री कर कांग्रेस के राजनीतिक मामलों का प्रबंधन करने के लिए गहलोत को अपने गृह राज्य राजस्थान भेज दिया.
  • साल 1998 में कांग्रेस पार्टी ने 200 में से 153 सीटें जीतकर जबरदस्त जीत दर्ज की और पहली बार अशोक गहलोत को राजस्थान का मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया.
  • साल 2003 में आम चुनाव में कांग्रेस को सिर्फ 56 सीटें मिली और हार का सामना करना पड़ा. साल 2008 में राजस्थान विधान सभा चुनाव में कांग्रेस 4 सीटों से बहुमत से कम थी लेकिन गहलोत को यूँही जादूगर थोडें न बोलते है. अपनी राजनीति बुद्धि का इस्तेमाल करते हुए एक बार फिर से मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली.
  • साल 2013 में 200 सीटें में से केवल 21 सीटें जीतकर कांग्रेस को  बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा. इसी वर्ष गहलोत को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया. और साल 2018 तक इसी पद पर बने रहे
  • साल 2018 में राजस्थान विधानसभा चुनाव में एक बार फिर कांग्रेस सत्ता में आई. तो इन्होने सचिन पायलट की मजबूत उम्मीदवारी के बावजूद तीसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री के रूप में रूप में शपथ ली. हालाँकि किसी कारणवश सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया.
  • साल 2022 में सोनिया गांधी अगले भारतीय आम चुनाव में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस का समर्थन करती हैं. गहलोत ने कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने का फैसला किया है.

अशोक गहलोत की राजनीतिक उपलब्धियाँ (Ashok Gehlot Political Achievements)

  • साल 1974 में राजस्थान एनएसयूआई के प्रेसिडेंट बने.
  • साल 1979 में नगर जिला कांग्रेस कमेटी, जोधपुर के प्रेसिडेंट चुने गए.
  • साल 1980 में लोक लेखा समिति के सदस्य बने.
  • साल 1982 में राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव बने.
  • साल 1982 में पर्यटन विभाग में केंद्रीय उप मंत्री बने.
  • साल 1983 में पर्यटन और नागरिक उड्डयन विभाग के केंद्रीय मंत्री बने.
  • साल 1984 में खेल विभाग के केंद्रीय उप मंत्री बने.
  • साल 1984 में पर्यटन और नागरिक उड्डयन विभाग के केंद्रीय राज्य मंत्री बने.
  • साल 1985, 1994 और 1997 में राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रेसिडेंट बने.
  • साल 1989 में गृह विभाग और पीएचईडी मंत्री बने.
  • साल 1991 में कपड़ा विभाग के केंद्रीय राज्य मंत्री बने.
  • साल 1991 में लोकसभा में सलाहकार समिति  के लिए चुने गए.
  • साल 1991 में रेलवे की स्थायी समिति के लिए चुने गए.
  • साल 1996 में विदेश मामलों की सलाहकार समिति के लिए चुने गए.
  • साल 1998, 2008 और 2013 में राजस्थान के मुख्यमंत्री बने.
  • साल 2017 में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव बने.
  • दिसंबर 2018 को चौथी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने.

अशोक गहलोत की संपत्ति (Ashok Gehlot Net Worth)

अशोक गहलोत की संपति की बात करे तो साल 2018  में दायर हलफनामा के अनुसार उन्होंने पास 6.5 करोड़ की कुल संपति है. मुख्यमंत्री की सैलरी के तौर पर उनके हर महीने 75,000 रुपये मिलते है. 

निष्कर्ष :- तो आज के इस लेख में आपने जाना अशोक गहलोत का जीवन परिचय (Ashok Gehlot Biography in hindi) के बारे में.

FAQ

Q : अशोक गहलोत कितनी बार सीएम  बने
Ans : तीन बार

Q : अशोक गहलोत की बेटी का नाम क्या है?
Ans : सोनिया गहलोत

Q : अशोक गहलोत के पिता क्या करते थे?
Ans : स्व. श्री बाबू लक्ष्मण सिंह गहलोत एक जादूगर थे.

Q : अशोक गहलोत के कितने भाई हैं?
Ans : दो भाई. एक भाई का निधन हो गया.

Q : अशोक गहलोत का जन्म कब और कहां हुआ था?
Ans : अशोक गहलोत का जन्म कब 3 मई, 1951 को महामंदिर, जोधपुर, राजस्थान में हुआ.

Q : वर्तमान में राजस्थान के मुख्यमंत्री कौन है?
Ans : अशोक गहलोत

Q : अशोक गहलोत का गांव कौन सा है?
Ans : महामंदिर, जोधपुर

यह भी पढ़े

Founder of Wonder Facts Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here