निर्मल चौधरी का जीवन परिचय | Nirmal Choudhary Biography In Hindi

निर्मल चौधरी का जीवन परिचय, बायोग्राफी, विकिपीडिया, छात्रसंघ अध्यक्ष, राजस्थान यूनिवर्सिटी, आयु, जन्मदिन,  जाति, परिवार, शिक्षा, जन्म तिथि (Nirmal Choudhary Biography In Hindi, Kon Hai, History,  Background,  Wikipedia, Student Union President,  Rajasthan University,  Details, Birthday, Age, Family, Cast, Education Qualification, Height, Date Of Birth, Contact Number, Net Worth)

राजस्थान में दो साल बाद छात्रसंघ चुनाव का आयोजन हुआ. इस चुनाव में बढ़ चढ़कर छात्रों ने हिस्सा लिया. साल 2022 के राजस्थान यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट यूनियन इलेक्शन में अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार निर्दलीय प्रत्याक्षी निर्मल चौधरी, NSUI से बागी उम्मीदवार और राज्य मंत्री मुरारीलाल मीना की बेटी निहारिका जोरवाल, NSUI की रितु बराला और ABVP के नरेंद्र यादव थे. निर्दलीय प्रत्याक्षी निर्मल चौधरी ने तीनों उम्मीदवारों को मात देते हुए जीत दर्ज की. 27 अगस्त 2022 को हुए छात्रसंघ चुनाव में निर्मल चौधरी को 4 हज़ार 43 वोट, निहारिका जोरवाल को 2 हज़ार 578 वोट, रितु बराला को 2 हज़ार 10 वोट और नरेन्द्र यादव को 988 वोट मिले. इस लिहाजे से निर्मल चौधरी ने 1265 वोट  जीत दर्ज की.

तो आज के इस लेख में हम आपको निर्मल चौधरी का जीवन परिचय (Nirmal Choudhary Biography In Hindi) के बारें में विस्तृत जानकारी देने वाले है.

nirmal choudhary rajasthan university biography

निर्मल चौधरी का जीवन परिचय | Nirmal Choudhary Biography In Hindi

नाम (Name) निर्मल चौधरी (Nirmal Choudhary)
जन्म तारीख (Date of birth) 2 जुलाई 1998
जन्म स्थान (Place) रावों का वास, धामणिया गांव,  नागौर, राजस्थान
उम्र (Age) 24 साल
धर्म (Religion) हिंदू धर्म
जाति (Cast) जाट
पेशा  (Profession) छात्र नेता
प्रसिद्दी (Famous) छात्र कार्यकर्ता
वर्तमान पद (Current Position) अध्यक्ष (राजस्थान यूनिवर्सिटी)
राजनीतिक पार्टी (Political Party) निर्दलीय
शिक्षा (Educational Qualification) दर्शनशास्त्र में मास्टर डिग्री
स्कूल (School) शेखावाटी सीनियर सेकेंडरी स्कूल, सीकर
कॉलेज(College) राजस्थान यूनिवर्सिटी
नागरिकता (Nationality) भारतीय
राशि (Zodiac Sign) वृश्चिक राशि
भाषा (Languages) मारवाड़ी, हिंदी, इंग्लिश
वर्तमान पता (Address) जयपुर
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) अवैवाहिक
मोबाइल नंबर (Nirmal Choudhary Mobile Number)
कार (Car) टोयोटा फॉर्च्यूनर

कौन है निर्मल चौधरी (Who is Nirmal Choudhary)

निर्मल चौधरी एक किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले मूल रूप से धामणिया गांव, नागौर, राजस्थान के निवासी है. पिताजी सरकारी टीचर है. माँ के साथ खेतीबाड़ी का काम देखते है. राजस्थान विश्वविद्यालय से पढाई पूरी की और साल 2022 के छात्रसंघ चुनाव में निर्दलीय चुनाव लड़कर 1265 वोट से जीत दर्ज की और राजस्थान यूनिवर्सिटी को एक युवा नेता के रूप में अध्यक्ष मिला. निर्मल चौधरी की जीत की असल वजह थी छात्र छात्राओं को अपने साथ लेकर चलना और उनका सपोर्ट करना. लाडनूं विधायक मुकेश भाकर के करीबी बताये जाते है इसके वाबजूद इन्हें एनएसयूआई से टिकट नहीं मिला. फिर भी कोई विरोध नही करते हुए तत्परता से अपना चुनाव कैंपेन में बिजी रहे. निर्मल की युवाओं में मजबूत पकड़ थी. ग्राउंड लेवल से काम किया और सर्वसमाज को अपने साथ लेकर चले.

निर्मल चौधरी का जन्म, परिवार (Nirmal Choudhary Birth, Family)

निर्मल चौधरी का जन्म किसान परिवार में राजस्थान के नागौर जिले के एक छोटे से गांव धामणिया, रावों का वास में 2 जुलाई 1998 को हुआ. पिता का नाम दयालराम चौधरी जो कि पेशे से एक सरकारी अध्यापक हैं. और उनकी माताजी का नाम रूपादेवी जो गृहणी हैं इसके साथ ही खेती का काम भी देखती है. निर्मल को जब वक्त मिलता तो अपनी माँ के साथ खेतीबाड़ी में उनका हाथ बंटाते है. निर्मल की बहन का नाम सारा चौधरी है जो महारानी कॉलेज में पढ़ती है.

निर्मल चौधरी के परिवार की जानकारी (Nirmal Choudhary Family Information)

पिता का नाम (Nirmal Choudhary Father Name) दयालराम चौधरी
माता का नाम (Nirmal Choudhary Mother) रूपा देवी
बहन का नाम (Nirmal Choudhary Siblings) सारा चौधरी

निर्मल चौधरी की शिक्षा (Nirmal Choudhary Educational Qualification)

निर्मल चौधरी की शुरूआती पढाई गाँव से हुई इसके बाद सीकर के शेखावाटी सीनियर सेकेंडरी स्कूल से 12वीं तक की पढाई की. इसके बाद जयपुर आ गये यहाँ पर राजस्थान यूनिवर्सिटी में दाखिला ले लिया. यहाँ से इन्होने आर्ट्स में ग्रेजुएट किया इसके बाद दर्शनशास्त्र में मास्टर डिग्री हासिल की.

निर्मल चौधरी का छात्र राजनीति सफ़र (Nirmal Choudhary Student Politics)

निर्मल चौधरी का इलेक्शन लड़ने का मानस तो साल 2020 में हो गया था. हालाँकि निर्मल के बैकग्राउंड को देखे तो उनका राजनीती से दूर दूर तक कोई लेना देना नही है. अपने बलबूते पर छात्र राजनीति में प्रवेश किया.

कोरोना के दौरान स्टूडेंट को काफी समस्या हो रही थी उनके बीच रहकर उनकी मदद की. इसके अलावा राजथान यूनिवर्सिटी में एडमिशन प्रोसेस के दौरान स्टूडेंट की काफी मदद की जिसके चलते उनकी पोपुलारिटी दिन पर दिन बढ़ती जा रही थी. निर्मल को लगा कि उन्हें एनएसयूआई से टिकट मिल जाएगा लेकिन ऐसा नही हुआ. उन्हें टिकट देने की बजाय रितु बराला को दिया गया. निर्मल चौधरी को टिकट नही मिलने के बाद निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनावी जंग में उतरे.

अक्सर देखा गया है कि यूनिवर्सिटी में छात्रों की समस्याओं को सुलझाने के लिए निर्मल चौधरी का मुखर रवैया होता है. जिसके चलते कैंपस में लोकप्रियता बढती जा रही थी. निर्मल की सबसे अच्छी बात ये रही कि इन्होंने स्टूडेंट से सीधा सम्पर्क साधा.

निर्मल चौधरी ने यूनिवर्सिटी चुनाव के नामांकन के दिन शक्ति-प्रदर्शन किया था. जिसके चलते पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किये गए. लाठीचार्ज के दौरान निर्मल और उनकी बहन सारा भी घायल हुई. और निर्मल की गिरफ्तार हुई. इस का फायदा निर्मल को काफी हुआ छात्रों की सहानुभूति मिली और कहा कि पुलिस छात्रशक्ति को दबाने की कोशिश कर रही है.

निर्मल सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहते है. जिसका भी उन्हें फायदा मिला. अपने पक्ष में सदेश देकर चुनावी कैंपेनिंग चलाया. जिसके चलते डिजिटल छात्रों को जोड़ने में सफल रहे. जैसे जैसे चुनाव पास आते गए उनकी टीम द्वारा चलाये गए डिजिटल कैंपेनिंग से युवाओं के बीच निर्मल का चेहरा लोकप्रिय होता गया.

बताया जाता है कि निर्मल लाडनूं विधायक मुकेश भाकर और परबतसर विधायक रामनिवास गवरिया के करीबी है. अक्सर इन दोनों विधायक को निर्मल चौधरी के साथ देखा गया है और इनके सपोर्ट में खड़े भी रहते है. वैसे निर्मल को छात्र राजनीति में उतारने का क्रेडिट विधायक मुकेश भाकर को जाता है. क्यों कि निर्मल इन्हें अपना राजनीतिक गुरु मानते है. मुकेश भाकर का राजस्थान यूनिवर्सिटी में काफी दबदबा भी है.

निर्मल चौधरी राजस्थान यूनिवर्सिटी अध्यक्ष के रूप में (Nirmal Choudhary Rajasthan University President)

निर्मल चौधरी को NSUI से टिकट नही मिलने के बाद निर्दलीय प्रत्याशी नामांकन किया. माना जा रहा था कि NSUI टिकट सचिन पायलट खेमे के मंत्री मुरारी मीणा की बेटी निहारिका जोरवाल को दे सकता है. लेकिन NSUI ने महारानी कॉलेज की पूर्व अध्यक्ष रितु बराला को टिकट दिया. निहारिका जोरवाल इस बात से नाराज़ होकर निर्दलीय चुनाव लड़ी. और यह टर्निंग पॉइंट निर्मल चौधरी के लिए वरदान साबित हुआ.

निर्मल चौधरी ने निहारिका जोरवाल को 1 हजार 265 मतों से मात दी. निर्मल चौधरी को 4 हजार 43 वोट, निहारिका को 2 हजार 578 वोट और रितु को 2 हजार 10 वोट मिले.

निर्मल चौधरी का सोशल मीडिया (Nirmal Choudhary Social Media)

Nirmal Choudhary Facebook यहाँ क्लिक करे
Nirmal Choudhary Instagram यहाँ क्लिक करे
Nirmal Choudhary Twitter यहाँ क्लिक करे

 

निष्कर्ष– आज के इस लेख में हमने आपको बताया निर्मल चौधरी का जीवन परिचय (Nirmal Choudhary Biography In Hindi) के बारें में. उम्मीद करते है आपको यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी.

FAQ

Q : राजस्थान यूनिवर्सिटी का अध्यक्ष कौन है?
Ans : निर्मल चौधरी

Q : राजस्थान विश्वविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष कौन है?
Ans : निर्मल चौधरी

Q : राजस्थान विश्वविद्यालय में कौन जीता
Ans : निर्मल चौधरी

Q : निर्मल चौधरी कौनसी पार्टी से है?
Ans : निर्दलीय

Q : निर्मल चौधरी की उम्र कितनी है?
Ans : 24 साल

Q : निर्मल चौधरी के पास कौनसी कार है?  
Ans : 3 अगस्त 2022 को टोयोटा फॉर्च्यूनर खरीदी है.

यह भी पढ़े

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here