मोहम्मद ज़ुबैर का जीवन परिचय | Mohammed Zubair Biography In Hindi

मोहम्मद ज़ुबैर का जीवन परिचय, बायोग्राफी, आल्ट न्यूज, सह-संस्थापक, फाउंडर, आरोप, कमेंट, आयु, जन्मदिन, घर, परिवार, पत्नी, बच्चे, बेटा, बेटी, धर्म, करियर, शिक्षा, विवाह, संपत्ति,  नेटवर्थ (Mohammed Zubair Biography In Hindi, Kaun Hai, Biodata, Who Is, Journalist, Kaun Hai, Wiki, Bio,  Alt News , Nobel,  Tweet, Cast,  Arrested, Nobel Prize,  Cases, Comment, News Channel, Controversy, Youtube Channel, Early Life,  House, Age, Birthday, Family, Son,  Cars, Child, Education, Wife, Marriage, Net Worth, Award,Twitter)

मोहम्मद जुबैर भारतीय पत्रकार (Mohammed Zubair Journalist) और डिजिटल वेब पोर्टल ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक है. अक्सर वह अपनी फैक्ट चेक को लेकर विवादों में आते रहते है. इन पर धर्म और हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ विवादित ट्वीट करने के कई आरोप लगे है. इसके बाद इन पर एफआईआर भी हुई है. और दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार भी किया. इनके खिलाफ आईपीसी की कई धारा भी लगी है. मोहम्मद जुबैर को इस साल कथिक तौर पर प्रतिष्ठित पुरस्कार नोबेल प्राइज से भी सम्मानित किया जाना था. तो आज के इस लेख में हम आपको मोहम्मद ज़ुबैर का जीवन परिचय (Mohammed Zubair Biography In Hindi) के बारे में पूरी जानकरी देने वाले है.

Mohammed Zubair Biography In Hindi

मोहम्मद ज़ुबैर का जीवन परिचय (Mohammed Zubair Biography In Hindi)

नाम (Name) मोहम्मद ज़ुबैर (Mohammed Zubair)
जन्म तारीख (Date Of Birth) 29 दिसंबर 1988
जन्म स्थान (Place) बेंगलुरु, कर्नाटक, भारत
उम्र (Age) 34 साल
धर्म (Religion) मुस्लिम
व्यवसाय  (Business) जर्नलिस्ट एंड फैक्ट चेकर
वर्तमान पद (Current position) आल्ट न्यूज के सह-संस्थापक
कॉलेज (College) रमैया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
प्रसिद्धि (fame) विवादित फैक्ट चेकर
नागरिकता (Nationality) भारतीय
भाषा (Languages) हिंदी, इंग्लिश
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) अविवाहित

कौन है मोहम्मद ज़ुबैर (Who is Mohammed Zubair)

मोहम्मद ज़ुबैर एक भारतीय पत्रकार और फैक्ट चेकर पोर्टल आल्ट न्यूज (Alt News Mohammed Zubair) के सह-संस्थापक है. जिसकी शुरुआत साल 2017 में वकील और भौतिकी विज्ञानी प्रतिक सिन्हा के साथ की. जिसका हेडक्वार्टर अहमदाबाद में स्थित है. ज़ुबैर का इस फैक्ट चेकर पोर्टल को लांच करने का मकसद था कि सोशल मीडिया पर फ़ैल रही फैक न्यूज़ के सच का खुलासा कर जनता के सामने लाना. यह पोर्टल प्रावदा मीडिया फाउंडेशन के अंतर्गत कार्य करता है. इन पर आरोप लगे है कि यह अपनी ट्वीट पोस्ट के जरिए धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाते है और कुछ दिनों पहले भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा के बयान के बाद उनके विडियो से भी कुछ छेड़छाड़ कर वायरल कर दिया जिसके बाद अलग अलग राज्य के हिंदू संगठनों ने इनके खिलाफ मामला दर्ज करवाया. दिल्ली पुलिस ने इनको साल 2018 में किये गए एक विवादास्पद ट्वीट के लिए जून, 2022 में गिरफ्तार (Mohammed Zubair Arrested) किया. 22 दिन जेल में रहने के बाद सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत पर रिहा हुए. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मोहम्मद जुबैर को नोबेल प्राइज से सम्मानित किया जाना था.

मोहम्मद ज़ुबैर का प्रारंभिक जीवन (Mohammed Zubair Early Life)

मोहम्मद ज़ुबैर का जन्म कर्नाटक राज्य के बेंगलुरु शहर में 29 दिसंबर 1988 को एक मुस्लिम परिवार में हुआ. इनका शुरूआती जीवन वही गुजरा. इनके माता-पिता और भाई-बहन के बारें में कोई जानकारी उपलब्ध नही है. इन्होंने बेंगलुरु के रमैया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में एडमिशन लिया जहा से सफलतापूर्वक इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की.

जाकिर नाइक का जीवन परिचय

मोहम्मद ज़ुबैर का करियर (Mohammed Zubair Career)

  • इंजीनियरिंग करने के बाद ज़ुबैर की पहली नौकरी टेलीकॉम सेक्टर की दिग्गज कंपनी नोकिया में थी जहां पर इन्होंने एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर तक़रीबन दस साल से ज्यादा समय तक काम किया.
  • नोकिया में काम करने के दौरान ही इनकी मुलाकात सॉफ्टवेयर इंजीनियर प्रतीक सिन्हा से हुई. दोनों ने मिलकर साल 2017 में फैक्ट्स चेक पोर्टल “ऑल्ट न्यूज़” (alt news) की नींव रखी.
  • नोकिया में काम करते हुए ज़ुबैर ने सिर्फ एक साल तक ऑल्ट न्यूज़ में पार्ट टाइम काम किया. वह प्रतीक सिन्हा के साथ वेबसाइट को चलाने का काम देखते थे.
  • सितंबर 2018 में ज़ुबैर ने ऑल्ट न्यूज़ में फुल टाइम काम करने के बारे में सोचा और नोकिया से इस्तीफा दे दिया. 16 दिसंबर, 2019 को, दोनों ने मिलकर प्रावदा मीडिया फाउंडेशन की स्थापना की और ज़ुबैर इसके बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर बनाए गये, जो ऑल्ट न्यूज़ का संचालन करती है.
  • मोहम्मद ज़ुबैर के ट्विटर अकाउंट (Mohammed Zubair Twitter) पर 6 लाख 26 हज़ार और इंस्टाग्राम पर 36 हज़ार से ज्यादा फॉलोअर्स है. इन सोशल मीडिया के माध्यम से ही ज़ुबैर झूठी खबरों का खुलासा करते है. लेकिन कुछ ऐसी पोस्ट के जरिए ज़ुबैर विवादित टिप्पणी कर जाते है जिस वजह से कई लोगो की धार्मिक भावनाएं को ठेस पहुँचता है.

मोहम्मद ज़ुबैर का विवाद (Mohammed Zubair Controversy)

  • मार्च 2018 में ज़ुबैर ने फिल्म डायरेक्टर ऋषिकेश मुखर्जी की साल 1983 में रिलीज़ हुई फिल्म ‘किसी से न कहना’ का एक विडियो क्लिप शेयर कर विवादों में आ गये थे. इस पोस्ट के जरिये उन पर धार्मिक भावनाएं को ठेस पहुँचाने का आरोप लगा. 27 जून 2022 को इन पर 7 FIR दर्ज (Mohammed Zubair Case) हुई. 6 तो सिर्फ उत्तर प्रदेश से ही थी. और 28 जून को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मोहम्मद ज़ुबैर को गिरफ्तार (Mohammed Zubair Arrested) किया. इस मामले में इन पर आईपीसी की धारा 153/295 लगी. करीब 22 दिन जेल में रहने के बाद सुप्रीम कोर्ट से 20 जुलाई को अंतरिम जमानत पर रिहा हुए.
  • महंत बजरंग मुनि, हिन्दी संत यति नरसिंहानंद और आनंद स्वरूप ने ज़ुबैर पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए आईपीसी की धारा 295ए और आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत मामला दर्ज किया. इस मामले को लेकर ज़ुबैर ने तो कुछ नही कहा लेकिन ऑल्ट न्यूज़ के हेड प्रतीक सिन्हा ने यह कहा कि जुबैर को कुछ लोग उनके काम के लिए टारगेट कर रहे है उन्होंने कभी किसी के खिलाफ सोशल मीडिया पर गलत पोस्ट नही शेयर की.
  • अगस्त 2020 में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो ने मोहम्मद ज़ुबैर पर दिल्ली पुलिस में पोक्सो ऐक्ट के तहत शिकायत दर्ज करवाई थी. यह मामला नाबालिग की पहचान को सार्वजनिक का था. हालाँकि इस मामले में दिल्ली पुलिस से ज़ुबैर को क्लीनचिट दे दी.
  • साल 2021 में ज़ुबैर पर उत्तर प्रदेश राज्य के मुज़फ्फरनगर में रहने वाला एक आदमी को जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगा था जिसके बाद उन पर मुकदमा दर्ज हुआ. बल्कि उनकी कंपनी ऑल्ट न्यूज़ ने इस न्यूज़ को झूठी बताते हुए उस आदमी के खिलाफ 15 जून, 2021 को एफआईआर दर्ज करवाई.
  • 27 मई 2022 को टाइम्स नाउ न्यूज़ चैनल की डिबेट के दौरान भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने ज्ञानवापी मस्जिद विवाद पर पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित टिप्पणी दी. जिसके एक दिन बाद ज़ुबैर ने इसका विडियो क्लिप (Mohammed Zubair Nupur Sharma Video) सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया. और यह विडियो काफी ज्यादा वायरल हो गया देश भर में बवाल हो गया. इसके बाद नुपुर ने आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे इस विडियो को एडिट करके दिखाया जा रहा है. और दिल्ली पुलिस को लेटर लिखकर कहा कि मुझे देश भर से जान से मारने की धमकी मिल रही है.

मोहम्मद ज़ुबैर को नही मिला शांति का नोबेल पुरस्कार (Mohammed Zubair Nobel Peace Prize)

साल 2022 में शांति का नोबेल पुरस्कार आलिस बिलिआत्स्के जो कि बेलारूस के ह्यूमन राइट्स एडवोकेट है और रूसी मानवाधिकार संगठन स्मारक और नागरिक स्वतंत्रता के लिए यूक्रेनी मानवाधिकार संगठन केंद्र को मिला है. इस लिस्ट में मोहम्मद ज़ुबैर का नाम भी शामिल था लेकिन इन्हें नही मिला शांति का नोबेल पुरस्कार.

यह पुरस्कार उन लोगो को दिया जाता है जो मानव हित के लिए कार्य करते है. इस साल शांति का नोबेल पुरस्कार की लिस्ट में 343 उम्मीदवार थे जिनमे 251 व्यक्ति एवं 92 संस्थान थी. इनके नाम का चयन नॉर्वेइयन नोबेल कमेटी द्वारा किया जाता है. इस कमेटी में 5 लोग होते है जिनका अपॉइंटमेंट नॉर्वे की संसद करता है.

निष्कर्ष :- तो आज के इस लेख में आपने जाना मोहम्मद ज़ुबैर का जीवन परिचय (Mohammed Zubair Biography In Hindi)  के बारे में. उम्मीद करते है आपको यह जानकरी जरूर पसंद आई होगी। अगर आपका कोई सुझाव है तो मुझे कमेंट करके जरूर बताइये.

FAQ

Q : मोहम्मद ज़ुबैर कौन है?
Ans : फैक्ट चेक पोर्टल आल्ट न्यूज के सह-संस्थापक

Q : मोहम्मद जुबैर का जन्म कब हुआ?
Ans : 29 दिसंबर 1988 को

Q : मोहम्मद जुबैर का जन्म कहाँ हुआ था?
Ans : बेंगलुरु, कर्नाटक, भारत

Q : मोहम्मद ज़ुबैर की उम्र कितनी है?
Ans : 34 साल

Q : मोहम्मद ज़ुबैर कितने साल के है?
Ans : 34 साल के

Q : ऑल्ट न्यूज़ के संस्थापक कौन है?
Ans : मोहम्मद ज़ुबैर

यह भी पढ़े

Founder of Wonder Facts Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here