नए साल पर निबंध 2023 | Happy New Year Essay In Hindi

2.6/5 - (54 votes)

नए साल पर निबंध, संकल्प, लेख, भाषण, सुविचार, शुभकामनाएं, कविता  (Happy New Year Essay In Hindi, Wishes, Shayari, Whatsapp, Quotes 2023)

सबसे पहले नए वर्ष की मंगलमय शुभकामनाएं। यह वर्ष देश के लिए, देशवासियों के लिए खुशियों से भरा हो। अब इस लेख में आगे बढ़ते हुए हम यहाँ बात करेंगे – “हैप्पी न्यू ईयर” की।

“Happy New Year” – अंग्रेजी का यह एक ऐसा वाक्य है, जिससे प्रायः सभी लोग अवगत है। यदि इसके अर्थ की बात करें तो इसका मूल हिंदी अर्थ होता है – “नववर्ष मंगलमय हो !” नए वर्ष के आगमन पर लोग एक दूसरे को “हैप्पी न्यू ईयर” कहकर शुभकामनाएँ देते है। इस तरह से यह नए वर्ष के आगमन पर खुशी व्यक्ति करने का सबसे प्रचलित वाक्य माना जाता है। लेकिन जनवरी में आने वाला नव बर्ष भारत का अपना नव वर्ष नहीं है। भारत में विक्रम संवत का प्रचलन था और अब भी धार्मिक व अन्य कार्य उसी के अनुसार होते है। तो प्रश्न है भारत में अंग्रेजी कैलेंडर का प्रचलन कब से हुआ और इसको क्यों हम पर थोपा गया।

आज लगभग पूरी दुनिया में अंग्रेजी कैलेंडर (Gregorian Calendar) प्रचलन में है। लेकिन अब प्रश्न है कि यह कब प्रचलन में आया। तो वर्तमान में हम जिस अंग्रेजी कैलेंडर का प्रयोग करते है उसकी शुरुआत 15 अक्टूबर, 1582 में हुई थी। हालांकि इससे पहले इसमें अनेक बार संसोधन हो चुका था। अंतिम बार पोप ग्रिगरी ने इसमें संसोधन किया था। इस संसोधन में यह तय हो गया कि 31 दिसम्बर वर्ष का अंतिम दिन होगा और उसके अगले दिन को अगला वर्ष माना जाएगा। इस तरह से 1 जनवरी को वर्ष का पहला दिन घोषित किया गया।

Happy New Year Essay In Hindi

नए साल पर निबंध 2023 (Happy New Year Essay In Hindi)

भारत ईसाइयो का देश नहीं है। भारत की अपनी धर्म संस्कृति है। भारत में सनातन धर्म है। भारत में सदियों से अपने स्वयं में कई कैलेंडर निर्मित है। जैसे- विक्रम संवत, शक संवत आदि। मगर इसके बाद भी भारत जैसे देश में अंग्रेजी कैलेण्डर को क्यों स्वीकारा गया। वैसे तो इसके कई कारण है, मगर जो मूल कारण है, वो यह है कि भारत में जिस समय ग्रेगोरियन कैलेण्डर को लागू किया गया था उस समय भारत अंग्रेजो के हाथो परतंत्र था। भारत में सन 1752 ई में ग्रेगोरियन कैलेण्डर को सरकारी कार्य के लिए स्वीकार कर लिया गया था। उस समय भारत ब्रिटेन के अधीन था, इसलिए अंग्रेजी कैलेंडर को भारत का राष्ट्रीय कैलेंडर घोषित कर दिया गया। तभी से भारत में ग्रेगोरियन कैलेण्डर प्रचलन में है और भारत के सभी सरकारी कार्य इसी अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार निर्धारित होते है। 

आरम्भ में ग्रेगोरियन कैलेण्डर को जिन देशो ने स्वीकारा, उनमे फ़्रांस, इटली, पुर्तगाल, स्पेन और पोलैंड प्रमुख है – 1582, आस्ट्रिया व अन्य कैथोलिक देश – 1582, अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन व उनके अधीन के उपनिवेश देश (भारत/पाकिस्तान/बांग्लादेश आदि भी शामिल) – 1752, जापान – 1873, चीन – 1912, रूस – 1918, तुर्की – 1927.

कैलेंडर, सूर्य या चद्रमा की गणना पर आधारित

कोई भी कैलेंडर सूर्य या चद्रमा की गणना पर आधारित होता है। यह सूर्य चक्र या चंद्र चक्र के अनुसार बनाया गया होता है। सूर्य की गणना पर आधारित कैलेंडर में 365 दिन होते है जबकि चन्द्रमा की गति पर आधारित कैलेंडर में 354 दिन होते है। अंग्रेजी कैलेंडर जिसको ग्रिगोरियन कैलेंडर के नाम से भी जाना है, वो सूर्य चक्र पर आधारित है। इसलिए अंग्रेजी कैलेंडर में साल में 365 दिन होते है।

दुनिया में कैसे मनाया जाता है नववर्ष

साल के पहले दिन के आरम्भ होने से ठीक एक दिन यानि की 31 दिसम्बर की संध्या से ही जश्न आरम्भ हो जाता है। ये सभी उत्सव भरे कार्यक्रम लगातार 1 जनवरी मध्य रात्रि तक जारी रहते है। विभिन्न देशो में उत्सव का अपना अलग-अलग तरीका है। लोग आतिशबाजी करते है। दुनियाभर में पटाखे फोड़े जाते है। कई स्थानों पर गिफ्ट का आदान-प्रदान भी होता है। प्रमुख स्थानों को लाइटों से सजाया जाता है। रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किये जाते है। समूचा विश्व जश्न के डूब जाता है।

भारत में कैसे मनाया जाता है नववर्ष

यहाँ भारत में लोग एक दूसरे को नए बर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं देते है। व्हाट्सप्प मेसेजेज का सिलसिला चलता है। लोग कॉल करके एक दूसरे को शुभकामनाएं देते है। सभी एक दूसरे के सुख – शांति की कामना करते है। पूरा माहौल आनंद भरा होता है। नए बर्ष के समय दिल्ली समेत पुरे उत्तर भारत में कही कड़ाके की ठण्ड तो कही शीतलहर चल रही होती है। समूचा क्षेत्र ठण्ड में डूबा होता है। इसके बावजूद नए साल की उत्सव की गर्माहट देखते ही बनती है। इस दिन लोग अपने रिश्तेदारों, दोस्तों के साथ साथ जान-पहचान वालो व सम्पर्क में रहने वाले लोगो के पास भी मेसेजेज भेजकर या फिर कॉल करके शुभकामनाएं देना नहीं भूलते है। लोग एक दूसरे को विश करते है। बधाईयां देते है। उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते है। घरो में विशेष पकवान बनाये जाते है। भांति भांति के व्यंजन बनाये जाते है। सचमुच भारत में यह एक अघोषित त्यौहार जैसा होता है।

दुनियाभर में नए साल की धूम

आज समूचे विश्व में अंग्रेजी कैलेंडर ही मान्य है और सभी देशो के सरकारी कार्य इसी के अनुसार होते है। इसलिए नए वर्ष की धूम समूचे विश्व में होती है। समूचे विश्व में नए वर्ष के आगमन पर उत्सव का माहौल होता है। भारत में भी इस दिन को उत्सव के रूप में मनाया जाता है। बावजूद इसके भारत में 1 जनवरी को सरकारी अवकाश के रूप में घोषित नहीं किया गया है और न ही इस दिन कोई प्राइवेट संस्थान बंद रहता है।

नए साल पर 10 लाइन (10 Lines on New Year in Hindi)

  • “Happy New Year” – से नए साल की शुभकामना दी जाती है।
  • पुरे विश्व में ग्रेगोरियन कैलेण्डर (Gregorian Calendar) मान्य है।
  • पूरी दुनिया में 1 जनवरी को नया साल का उत्सव मनाया जाता है। 
  • यहाँ भारत में नव वर्ष की धूम होती है। एक दूसरे को विश करके “Happy New Year” करते है।
  • भारत में अंग्रेजी कैलेंडर को 1752ई में लागू किया गया।
  • इस दिन लोग अपने रिश्तेदारों, दोस्तों के साथ साथ जान-पहचान वालो व सम्पर्क में रहने वाले लोगो के पास भी मेसेजेज भेजकर या फिर कॉल करके शुभकामनाएं देना नहीं भूलते है।
  • लोग एक दूसरे को विश करके उज्जवल भविष्य की कामना करते है।
  • घरो में विशेष पकवान व भांति भांति के व्यंजन बनाये जाते है।
  • भारत में नया साल एक अघोषित त्यौहार जैसा होता है।
  • सभी के लिए –  “Happy New Year”

निष्कर्ष :- इस आर्टिकल में आपने जाना नए साल पर निबंध 2023 (Happy New Year Essay In Hindi) के बारे में कुछ रोचक तथ्य। हर इंसान के लिए नया साल बहुत विशेष होता है। कई लोग नए साल पर पर कुछ संकल्प लेते है, जिससे उनके जीवन मे बदलाव आ सकें। तो आप सभी को हमारी तरफ से नए वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं। आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा जरुर बताएं।

FAQ

Q :  नया साल कितने तारीख के है?
Ans : 1 जनवरी, रविवार

Q : किस देश में पहला नया साल है
Ans : किरिबाती

Q :  हैप्पी न्यू ईयर का मतलब क्या होता है?
Ans : नववर्ष शुभ हो

यह भी पढ़े

 

 

Previous articleहैप्पी न्यू ईयर शायरी हिंदी | Happy New Year 2023 Shayari in Hindi
Next articleनए साल के बारे में रोचक तथ्य | Amazing New Year Facts in Hindi
Founder of Wonder Facts Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here