भारत का पहला लग्जरी रिवर क्रूज गंगा विलास, जानिए क्यों है खास | Ganga Vilas Cruise In Hindi

Rate this post

भारत का पहला लग्जरी रिवर क्रूज गंगा विलास, टिकट प्राइस, रूट, बुकिंग, रूट मैप, का किराया, ओनर, क्या है, (Ganga Vilas Cruise In Hindi, Ticket Price, Booking, Journey Duration, Route Map, World’s Longest River Cruise, Features  

Ganga Vilas Cruise In Hindi – हमारे देश भारत में रहने वाली जनता का सपना होता है कि वह कभी न कभी क्रूज की यात्रा करे. तो इसके सफ़र का लुप्त उठाने विदेश जाते है. कई लोग ऐसे होते है जो इस सफ़र का आनंद लेते है और कुछ सोच कर बैठ जाते है कि अगली बार देखते हैं. क्योंकि एक तो विदेश जाने का खर्च और दूसरा क्रूज पर सफर का खर्च.

लेकिन अगर आप देश में ही क्रूज का लुत्फ उठाना चाहते हैं तो यह सपना भारत सरकार ने पूरा कर दिया है. दरअसल भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया का सबसे लंबा और लग्जरी रिवर क्रूज की शुरुआत की है और 13 जनवरी 2023 को हरी झंडी दिखाकर इसको रवाना किया है.

तो अब आपके मन भी सवाल खटक रहा होगा कि इसमें सफ़र करने के लिए गंगा विलास क्रूज का किराया (Ganga Vilas Cruise In Hindi), गंगा विलास क्रूज रूट मैप और गंगा विलास क्रूज बुकिंग कब, कहां और कैसे होते होती है. तो चिंता न करें, हम आपको गंगा विलास क्रूज के बारे में हर तरह की जानकारी मुहैया कराने जा रहे हैं, जिसमें हम आपको गंगा विलास क्रूज की बुकिंग, किराया और उसमें मिलने वाली तमाम तरह की सुविधाओं के बारे में बताएंगे.

Ganga Vilas Cruise

गंगा विलास क्रूज क्या है (What is Ganga Vilas Cruise In Hindi)

दुनिया की सबसे लंबी लग्जरी रिवर क्रूज (World’s Longest River Cruise) की शुरुआत भारत में हुई है. एमवी गंगा विलास द्वारा लॉन्च किए गए इस लक्ज़री रिवर क्रूज़ में सभी प्रकार की सुविधाओं के साथ 18 सुइट हैं. एक यूनिक डिजाइन के साथ बनाया गया इस क्रूज का पहला सफ़र 51 दिनों का रहेगा. यह क्रूज वाराणसी की गंगा नदी से होकर कोलकाता की हुगली नदी तक विभिन्न प्रमुख स्थलों के साथ 50 जगहों से होकर गुजरेगा. क्रूज के सफ़र की पहली यात्रा में 32 स्विस टूरिस्ट रवाना हुए है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरी झंडी दिखाकर इस क्रूज को रवाना किया है.

Ganga Vilas Cruise

गंगा विलास क्रूज की शुरुआत कब हुई (When Did Ganga Vilas Cruise Start In Hindi)

वैसे इस क्रूज की शुरुआत तो साल 2020 में करने की उम्मीद जताई जा रही थी लेकिन कोरोना के चलते इसमें देरी हुई. 13 जनवरी, 2023 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए इस क्रूज को वाराणसी से डिब्रूगढ़ के लिए हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. पहली यात्रा में स्विट्जरलैंड और जर्मनी के 32 पर्यटक हैं.

गंगा विलास क्रूज में मिलने वाली सुविधाएं (Ganga Vilas Cruise Top Features In Hindi)

गंगा विलास क्रूज में मिलने वाली सुविधाएँ काफी लक्ज़री है. इस क्रूज की लंबाई 62 मीटर, चौड़ाई 12 मीटर और ढांचा 1.4 मीटर है. जानकारी के मुताबिक गंगा विलास क्रूज में विदेशी क्रूज से ज्यादा फाइव स्टार होटल जैसी सुविधाएं हैं. इसमें करीब 18 सुइट्स हैं, साथ में आलीशान और बड़ा रेस्टोरेंट, सनडेक, कॉन्फ्रेंस हॉल, लाइब्रेरी और स्पा भी है. पर्यटक इन रेस्टोरेंट में भारतीय व्यंजनों के अलावा विदेशी शाकाहारी व्यंजनों का भी लुत्फ उठा सकेंगे. इसके अलावा टॉप डेक पर कॉफी टेबल के साथ आउटडोर सीटिंग की भी व्यवस्था की गई है ताकि बाहर के नजारे का मजा लिया जा सके. इसके अलावा क्रूज में आलीशान डीलक्स रूम के साथ बाथरूम और फ्रेंच बालकनी है, इसके अलावा फिटनेस रूम और स्पोर्ट्स रूम भी है. इसमें सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सीसीटीवी कैमरे और हाईटेक सुरक्षा व्यवस्था है। सफर के दौरान क्रूज पर म्यूजिक और कल्चरल प्रोग्राम जैसी सुविधाएं दी गई हैं ताकि सफर बोरिंग न हो.

गंगा विलास क्रूज का रूट मैप क्या है (Ganga Vilas Cruise Route Map In Hindi)

इस क्रूज की यात्रा 51 दिनों तक चलेगी. भारत और बांग्लादेश की 27 नदी प्रणालियों के माध्यम से 3,200 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करेगी. जिसमे क्रूज तीन मुख्य नदी गंगा, मेघना और ब्रह्मपुत्र समेत उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश और असम होते हुए स्विट्जरलैंड के 32 पर्यटक के साथ 1 मार्च, 2023 को डिब्रूगढ़ पहुंचेगी. गंगा विलास क्रूज विश्व धरोहर स्थलों, राष्ट्रीय उद्यानों, नदी घाटों और बिहार में पटना, झारखंड में साहिबगंज, पश्चिम बंगाल में कोलकाता, बांग्लादेश में ढाका और असम में गुवाहाटी जैसे प्रमुख शहरों सहित 50 पर्यटन स्थलों पर रुकेगा. यह क्रूज काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और सुंदरवन डेल्टा सहित जलयान राष्ट्रीय उद्यानों और अभयारण्यों से होकर गुजरेगी.

Ganga Vilas Cruise 

गंगा विलास क्रूज की बुकिंग कैसे करे (Ganga Vilas Cruise Booking In Hindi)

दुनिया के सबसे लंबे रिवर क्रूज का सफर 32 स्विस टूरिस्ट के साथ वाराणसी से रवाना हुआ. अगर आप इस लक्जरी क्रूज का सफ़र करना चाहते है तो आपको मोटी रकम चुकानी होगी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इसकी यात्रा करने का किराया तक़रीबन 50 से 55 लाख रुपये है. यानि आपको एक दिन का किराया 50 हज़ार रूपये चुकाना होगा. इतनी ज्यादा प्राइस होने के बावजूद भी इसकी एक साल की बुकिंग एडवांस में हो गई है. यानि कि गंगा विलास क्रूज की बुकिंग मार्च 2024 तक फुल है. अगर आप इस लग्जरी क्रूज यात्रा का लुत्फ उठाना चाहते हैं और बुकिंग कराना चाहते हैं तो आपको अप्रैल 2024 तक यानी एक साल से ज्यादा का इंतजार करना होगा। नई बुकिंग अगले साल अप्रैल 2024 से ही उपलब्ध है.

निष्कर्ष – आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बताया गंगा विलास क्रूज का किराया (Ganga Vilas Cruise In Hindi), गंगा विलास क्रूज रूट मैप और गंगा विलास क्रूज बुकिंग कब, कहा और कैसे होते होती है के बारें में. आशा करते है आपको यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी.

FAQ

Q : गंगा विलास क्रूज टिकट प्राइस कितना है?
Ans :  पुरे ट्रिप का 50 से 55 लाख रूपये

Q : गंगा विलास क्रूज रूट क्या है?
Ans :  उत्तर प्रदेश में वाराणसी, बिहार में पटना, झारखंड में साहिबगंज, पश्चिम बंगाल में कोलकाता, बांग्लादेश में ढाका और असम में गुवाहाटी होते हुए डिब्रूगढ़ जाएगी.

Q : गंगा विलास क्रूज बुकिंग कब से है.
Ans : अप्रैल 2024 से   

Q : गंगा विलास क्रूज का किराया
Ans :  एक दिन का 50 हज़ार रूपये

Q : गंगा विलास क्रूज का ओनर कौन है?
Ans :  राज सिंह

Q : गंगा विलास क्रूज के फाउंडर कौन है?
Ans :  राज सिंह

Q : क्या गंगा विलास क्रूज में अल्कोहल मिलेगा?
Ans :  नही, सिर्फ शाकाहारी भोजन  

Q : गंगा विलास क्रूज का कैप्टन कौन है?
Ans :  कैप्टन महादेव नाइक

Q : गंगा विलास क्रूज कितने चालक दल मौजूद है?
Ans :  39 सदस्य

Q : गंगा विलास क्रूज को कौनसी कंपनी ने बनाया है?
Ans :  अंतरा लग्जरी रिवर क्रूजेज ने

Q : दुनिया का सबसे लंबा रिवर क्रूज कौनसा है?
Ans :  गंगा विलास क्रूज

Q : कौन हैं गंगा विलास क्रूज के मालिक ?
Ans :  राज सिंह

Q : गंगा विलास क्रूज को बनाने में कितना खर्चा आया?
Ans :  68 करोड़ रूपये

यह भी पढ़े

 

Previous articleDiwali In 2023 : दिवाली कब है, जानिए पांच दिनों के त्योहार के बारे में
Next articleखाशाबा दादासाहेब जाधव का जीवन परिचय | Khashaba Dadasaheb Jadhav Biography In Hindi
Founder of Wonder Facts Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here