इजरायल-फिलिस्तीन विवाद क्या है ? | Israel Palestine War in Hindi

4/5 - (2 votes)

इजरायल-फिलिस्तीन विवाद क्या है, इतिहास, निबंध, लड़ाई, हमास क्या है, गाजा पट्टी, इजरायल और हमास के बीच जंग (Israel Palestine Conflict in Hindi, war, Latest News, Issue, Gaza Strip, Hamas leader)

Israel Palestine War in Hindi – इजराइल ने हमास के खिलाफ युद्ध की घोषणा कर दी है. इजरायली रक्षा बल अब हमास की इजरायल में घुसपैठ और इजरायली (Israel News) नागरिकों पर हमले का जवाब दे रहे हैं. हमास ने इजराइल पर 7 अक्टूबर 2023 की सुबह हमला कर दिया है. इसके जवाब में इजराइल ने अपनी सेना और लड़ाकों को जंग में उतार दिया है. इस हमले में दोनों और से कई लोगो की मौत हुई है.

इस आर्टिकल में जानते है कि इजरायल-फिलिस्तीन विवाद क्या है (Israel Palestine War in Hindi) क्यों फिलिस्तीन का चरमपंथी संगठन हमास इजरायल पर हमला किया है.

Israel Palestine Conflict in Hindi

इजरायल-फलस्तीन विवाद (Israel Vs Palestine in Hindi)

इजरायल और फिलिस्तीन एक दूसरे के पड़ोसी देश हैं. दोनों की सीमाएं एक दूसरे से मिलती हैं, लेकिन इन दोनों पड़ोसी देशो की गिनती विश्व के उन पड़ोसियों में होती हैं, जिनका उदय ही एक दूसरे के साथ दुश्मनी की नींव पर हुआ हो. इन दोनों के बीच सैकड़ो वर्षो से विवाद चल रहा हैं. विवाद का मुख्य कारण हैं, दोनों की धार्मिक पहचान एक दूसरे से बिलकुल अलग हैं. जहाँ फिलिस्तीन कट्टरपंथी इस्लामिक क्षेत्र हैं तो वही इजरायल यहूदियों का देश हैं. इन दोनों के बीच विवाद इतना पेचीदा हैं कि कभी इन पर शासन करने वाले ब्रिटेन भी इसका समाधान निकालने में असमर्थ हो गए और साल 1948 में उन्हें उनके हाल पर ही छोड़कर वहां से चले गए. उसी समय यहूदी नेताओ ने मिलकर अपने लिए इजरायल की नींव रख दी, जिसका इस्लामिक क्षेत्र फिलिस्तीन ने विरोध किया, जबकि पड़ोसी अरब देशो ने तो इजरायल पर आक्रमण भी कर दिया.

इजरायल और फिलिस्तीन के बीच दुश्मनी का इतिहास (Israel Hamas And Palestine Story In Hindi)

फिलिस्तीन एक मुस्लिम देश हैं जबकि इजरायल एक यहूदी देश हैं. साल 1947 से पहले ये दोनों ही देश एक थे और इन क्षेत्रो पर ब्रिटेन का कब्ज़ा था. उसी वर्ष संयुक्त राष्ट्र संघ ने एक प्रस्ताव पास करके पुरे क्षेत्र को दो अलग-अलग देशो में बांट दिया. उस बंटवारे के बाद से अरबी मुस्लिम वाले क्षेत्र फिलिस्तीन (Palestine) और यहूदी देश इजरायल विश्व के नक्से पर आयें. उसी के बाद 14 मई 1948 को इजरायल एक देश के रूप में दुनिया के अस्तिव में आया. लेकिन इसी दिन से इजरायल (Israel War) और फिलिस्तीन में लड़ाई शुरू हुई जो लगभग एक वर्ष तक चली. इस लड़ाई में इजरायल की जीत हुई, जबकि युद्ध में फिलिस्तीन की हार के बाद करीब सात लाख फिलिस्तीनियों को अपना क्षेत्र छोड़कर वहां से भागना पड़ा. बाद में इन पुरे क्षेत्रो को तीन भागो – इजरायल, वेस्ट बैंक और गाजा पट्टी (Gaza) में विभाजित कर दिया गया. उसी के बाद से आज तक फिलिस्तीन और इजरायल के बीच संघर्ष जारी हैं, जो प्रायः बीच बीच में युद्ध में बदल जाया करते हैं.   

यदि इन दोनों की भौगोलिक स्थिति की बात करें तो ये दोनों ही मिडिल ईस्ट के देश हैं. इजरायल के पूर्वी और दक्षिणी पश्चिम भागो में दो अलग अलग खंड हैं पूर्वी भाग में वेस्ट बैंक जबकि दक्षिणी पश्चिमी भाग में एक पट्टी हैं. इसी पट्टी को गाजा पट्टी के नाम से जाना जाता हैं और वेस्ट बैंक एवं गाजा पट्टी के संयुक्त रूप को ही फिलिस्तीन माना जाता हैं. लेकिन राजनैतिक दृष्टि स्थिति अलग हैं. वेस्ट बैंक में फिलिस्तीन नेशनल अथॉरिटी की सरकार हैं जबकि गाजा पट्टी पर हमास का शासन हैं. यही हमास इजरायल के लिए संबसे बड़ी समस्या बनी हुई हैं क्योकि यह संघठन कट्टरपंथियों का संघठन हैं. इसकी गिनती विश्व के हिंसक संगठनो में होती हैं.

हमास क्या है? (What Is Hamas In Hindi)

हमास (Hamas) इजरायल का पड़ोसी देश फिलिस्तीन का आतंकवादी संघठन हैं. इस संघठन की स्थापना 1987 में शेख अहम यासीन (Hamas Leader) ने की थी थी इसका मुख्य उद्देश्य फिलिस्तीन क्षेत्रो से इजरायलियों को बेदखल करना हैं. यह संघठन इजरायल को एक देश के रूप में नहीं मानता हैं. इसका मुख्य उद्देश्य फिलिस्तीन की तरह इजरायल (Israel Vs Palestine) को भी एक इस्लामिक देश बनाना चाहता हैं जबकि इजरायल यहूदियों का देश हैं. हमास को मुख्य रूप से गाजा पट्टी से चलाया जाता हैं. लेकिन पुरे फिलिस्तीन पर हमास का ही शासन चलता हैं.

 हमास में बड़ी संख्या में कट्टरपंथी शामिल हैं. बताया जाता हैं इसमें पचास हजार से भी अधिक युवा शामिल हैं. हमास दो भागों में बटा हुआ हैं. हमास के दूसरे समूह की नींव 2000 में रखी गई थी. इसके बाद तो यह संघठन इजरायल के विरुद्ध पहले से अधिक शक्तिशाली तरीके से लड़ने लगे. आत्मघाती हमलों में वृद्धि हो गई.

हमास के शक्तिशाली होने के कारण

हमास के इतने शक्तिशाली होने के पीछे के एक कारण यह भी हैं कि इसमें बड़ी संख्या में वहां के युवा शामिल हैं. हमास को कई मुस्लिम देशो से आर्थिक व अन्य प्रकार के सहयोग मिलते रहें हैं. इसी के दम पर हमास इजरायल जैसे देश से सीधी टक्कर लेता रहा हैं.    

इजरायल और हमास का युद्ध (Israel-Hamas War)

इजरायल विश्व में यहूदियों का एक मात्र देश हैं और यह शुरू से ही इस्लामिक कट्टरपंथियों का सामना कर रहा हैं. इजरायल का कई बार उनके साथ युद्ध हो चुके हैं. साल 1948 के बाद साल 1967 में भी इजरायल युद्ध का सामना कर चुका हैं. उस समय इजरायल के पांच इस्लामिक पड़ोसी देश मिलकर उसपर आक्रमण कर दिया था. लेकिन उस युद्ध में इजरायल की जीत हुई थी. इजरायल के इतिहास में इन्हे “सिक्स डे वॉर” के नाम से भी जाना जाता हैं. इस जीत के साथ ही इजरायल ने अपने दुश्मनो को यह संदेश दिया कि इजरायल अपने दुश्मनो को छेड़ता नहीं हैं और जब उन्हें कोई छेड़ता हैं तो वह उन्हें छोड़ता भी नहीं हैं. इस युद्ध के बाद इजरायल का सिनाई प्रायद्वीप, गाजा, पूर्वी यरुशलम, पश्चिमी तट और गोलाना की पहाड़ी जैसे क्षेत्रो पर अधिकार हो गया. 

इजरायल और हमास के बीच जंग का कारण

यह विवाद तब से चला आ रहा हैं जब इजरायल बना भी नहीं था. प्रथम विश्व युद्ध में ओटोमन साम्राज्य को हराने के बाद पश्चिम एशिया के उस क्षेत्र पर ब्रिटेन का अधिकार हो गया. उस समय वेस्ट लैंड से लेकर गाजा पट्टी एक हुआ करता था और अरब के मुस्लिम व यहूदी एक साथ रहा करते थे लेकिन धीरे धीरे दोनों को ही लगा कि फिलिस्तीन की पहचान उनके नाम पर हो. इन्ही विवाद के कारण बाद में यहूदियों ने अपने लिए एक अलग देश इजरायल की नींव रखी लेकिन विवाद फिर भी बना रहा क्योंकि फिलिस्तीन ने कभी भी इजरायल को एक देश के रूप में स्वीकार नहीं किया.

इजरायल फिलिस्तीन ताजा न्यूज़ (Israel Vs Hamas Latest News In Hindi)

7 अक्टूबर की सुबह बड़ी संख्या में हमास में शामिल आतंकवादी इजरायल घुस आये थे. वे लोग इजरायल में सड़क मार्ग से, हवाई मार्ग से तो कुछ इजरायल की बॉर्डर की दीवारे तोड़कर घुस आये थे और शहर में पांच हजार के करीब रॉकेट से हमला किया. इसी के बाद इजरायल ने कसम खाया कि इस बार वे इस आतंकवादी संघठन हमास का नामोनिशान मिटाकर (Israel Palestine War) ही मानेगे और फिर इसी के बाद इजरायल ने हमास पर हमला कर दिया. बाद में इजरायल के करवाई से हमास में हाहाकार मच गया. फिलिस्तीन के कई शहर जल उठे. इजरायल हमास का नेटवर्क बर्बाद करने लगा. इस तरह इजरायल और हमास दोनों के बीच युद्ध छिड़ गया. 

निष्कर्ष – तो आज के इस लेख में हमने आपको बताया इजरायल-फिलिस्तीन विवाद क्या है (Israel Palestine War in Hindi) के बारे में. उम्मीद करते है आपको यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी. अगर आपका कोई सुझाव है तो कमेंट करके जरूर बताइए. अगर आपको लेख अच्छा लगा हो तो रेटिंग देकर हमें प्रोत्साहित करें.

यह भी पढ़े

Previous articleAachar Sanhita Kya Hoti Hai | आचार संहिता क्या होती है | Code of Conduct in Hindi
Next articleइशिता किशोर का जीवन परिचय | Ishita Kishore Biography In Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here