PM Modi Yojana 2022 | भारत सरकार की योजनाओं के बारे में | Bharat Sarkar Ki Yojana in Hindi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 से लेकर अब तक बहुत सी सरकारी योजनाओं (Government Schemes) की शुरुआत की है जिसका लाभ भारत की आम जनता को वर्तमान समय में मिल रहा है। भारत सरकार प्रत्येक वर्ष जनता के हित में नई योजनाओं की शुरुआत करती है जिससे कि देश के गरीब और मध्यमवर्गीय लोगों को इसका फायदा मिल सके।

आज की इस पोस्ट में हम आपको भारत सरकार की योजनाएं (Bharat Sarkar Ki Yojana in Hindi) की जानकारी देने वाले हैं योजनाओं के माध्यम से सरकार का उद्देश्य था कि लोगों के जीवन में परिवर्तन लाया जाए कोरोनावायरस के संकट को देखते हुए भारत सरकार ने लोगों के हित में बहुत सी योजनाओं का शुभारंभ किया था उनके बारे में भी जानने को मिलेगा।

Table of Contents

भारत सरकार की योजनाएं | List of PM Modi Yojana 2022

Sarkari Yojana

 

प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि योजना (PM KISAN)

प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana Scheme) की शुरुआत 2019-20 के बजट में की गई थी इसकी शुरुआत केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल ने की थी। इस योजना की शुरुआत भारत सरकार ने देश के छोटे और सीमांत किसानों को ध्यान में रखते हुए की थी इसके तहत किसानों को प्रत्येक वर्ष 6000 रूपये  की सहायता राशि प्रदान की जाती है जिन किसानों के पास 2 हेक्टेयर तक भूमि है उन्हें ही इस योजना का लाभ मिलता है।

6000 रूपये की रकम किसानों के खातों में 2000 रूपये की तीन किस्तों मे दी जाती है यह पैसा भारत सरकार किसानों के खाते में डीबीटी (Direct Benefit Transfer)के माध्यम से ट्रांसफर करती है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से अब तक 12 करोड़ से अधिक किसान जुड़ चुके हैं और इस योजना का लाभ उठा रहे हैं।

प्रधानमंत्री जनधन योजना (PMJDY)

प्रधानमंत्री जनधन योजना (Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana) माननीय प्रधानमंत्री द्वारा अपने कार्यकाल की शुरू की गई प्रथम योजना थी, इस योजना की शुरुआत करने की घोषणा 15 अगस्त 2014 को की गई थी। योजना को लेकर केंद्र सरकार काफी सशक्त थे जिसके चलते देश के दूरस्थ क्षेत्रों तक बैंकिंग सेवाओं को पहुंचाने का काम संभव हो पाया।

भारत में जन धन योजना के तहत अब तक करोड़ों खाते खुल चुके हैं इस योजना का मुख्य उद्देश्य था कि समाज के ऐसे वर्ग तक बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराई जाए जो अभी इन सेवाओं से अधूरे है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस योजना में बैंक वालों ने में बहुत सहायता कि उन्होंने गांव गांव जाकर कैंप लगाकर  खाते खुलवाए।

पीएम श्रमयोगी मानधन योजना (PMSYMY)

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना (P M Shram Yogi Mandhan Yojana) के तहत 18 वर्ष की आयु में आवेदन करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को 55 रुपए जमा करवाने होंगे 60 वर्ष की उम्र के बाद हर महीने 3000 रूपये  की किस्त पेंशन के तौर पर दी जाएगी। इस योजना के लिए वही स्त्री या पुरुष योग्य होगा जिसकी उम्र 18 से 40 साल के बीच होगी।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है की असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को बुढ़ापे का सहारा मिल सके असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर 60 वर्ष की उम्र के बाद अपना जीवन यापन अच्छी तरीके से कर सकें उन्हें दूसरों पर निर्भर ना होना पड़े और वह मिलने वाली पैंशन से खाने पीने की चीजें और कपड़े, दवाई आदि का प्रबंध कर सके इसलिए केंद्र सरकार ने इस योजना की शुरुआत की।

ई-श्रम कार्ड योजना

ई श्रम कार्ड योजना (e-Shram Card Yojana) के तहत केंद्र सरकार भारत में 38 करोड़  असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों का डेटाबेस तैयार करेगी इस योजना में फेरीवाले, मजदूर, सब्जी वाले, छोटे दुकानदार सभी को शामिल किया जाएगा।

इस योजना में केंद्र सरकार श्रमिकों को 3000 रूपये की सहायता राशि भी प्रदान करेगी हालांकि इसका सर्वप्रथम लाभ उत्तर प्रदेश मे देखने को मिला है वहां पर श्रमिकों के खाते में पहली किस्त दी जा चुकी है दूसरे राज्यों में इसका लाभ मिलना अभी बाकि है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY)

प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Awas Yojana) को शुरू करने के पीछे का उद्देश्य समाज में कमजोर वर्ग के लोगों को झुग्गी झोपड़ियों से पक्के मकान मे स्थानांतरित करना है। इस योजना की शुरुआत 2015 में की गई थी  अब तक इस योजना में 2 करोड से अधिक घरों का निर्माण करवा दिया गया है।

इस योजना का लाभ केवल वही लोग उठा सकते हैं जो गरीबी रेखा से नीचे आते हैं और उनकी सालाना आय 1 लाख से कम है।

प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना (PMSSY)

केंद्र सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना (Pradhan Mantri Swasthya Suraksha Yojana) की शुरुआत की गई थी यह एक बचत योजना है इसका सीधा लाभ बेटियों को होता है इस योजना का लाभ लेने के लिए बेटी को 10 साल की उम्र से पहले बैंक अकाउंट डाकघर मे या फिर कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खुलवाना होगा। इस योजना के तहत बेटी के अकाउंट में न्यूनतम राशि ढाई सौ से लेकर अधिकतम डेढ़ लाख रुपए तक जमा की जाती है जिस पर सरकार टैक्स छूट के साथ 7.6 % की दर से ब्याज प्रदान करती है।

यह राशि बेटी की शादी मे ही मिलती है 18 वर्ष के बाद आधी रकम को निकलवा सकते हैं और पूरी रकम 21 वर्ष की आयु होने पर प्राप्त कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY)

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana) की शुरुआत साल 2015 में लोगों को पॉलिसी का लाभ पहुंचाने के लिए की गई थी। इस योजना की पेशकश भारत में लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन इसके साथ निजी बीमा कंपनियां, सहकारी और निजी बैंकों के द्वारा की जा रही है।

इस योजना के तहत यदि किसी व्यक्ति की मृत्यु 55 साल से कम उम्र में किसी कारणवश हो जाती है तो PM Jeevan Jyoti Bima Yojana के तहत उनके परिवार वालों को 200000 की सरकार द्वारा बीमा राशि प्रदान की जाती है।

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना (PMUY)

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (Pradhan Mantri Ujjwala Yojana) के तहत गैस कनेक्शन लेने के लिए लाभार्थी को 1600 रूपये  की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है साथ ही इस योजना के माध्यम से  चूल्हा खरीदने पर पहली बार एलपीजी सिलेंडर भरवाने के लिए जो खर्च आता है उसके लिए EMI की सुविधा प्रदान की है।

ऐसा इसलिए कि यह योजना मुख्य रूप से गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों के लिए शुरू की गई है उन्हें किसी भी तरह की आर्थिक तंगी ना झूझना पड़े इसके लिए सरकार ने इतना बड़ा कदम उठाया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY)

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana) की शुरुआत 26 मार्च 2020 को 21 दिनों के लॉक डाउन को ध्यान में रखते हुए की गई थी इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह था कि गरीब तबके के 80 करोड़ लोगों को लॉक डाउन में किसी भी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

इस योजना के तहत प्रत्येक महिलाओं के जनधन खाते में हर महीने 500 की सहायता राशि प्रदान की गई उसी के साथ प्रति व्यक्ति 5 किलो मुफ्त अनाज की सहायता गरीब और मध्यवर्गीय परिवार के लोगो के लिए की गई।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY)

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Pradhan Mantri MUDRA Yojana) की शुरुआत देश में छोटे व्यापारियों को नया बिजनेस शुरू करने और पुराने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए की गई थी। इस योजना के तहत 10 लाख  तक का ऋण कोई भी व्यक्ति बिना किसी गारंटर के बैंक से आसान शर्तों के साथ ले सकता है।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY)

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana) एक तरह से दुर्घटना बीमा पॉलिसी है जिसके तहत किसी भी तरह की दुर्घटना में मृत्यु या अपंग होने की स्थिति में बीमा की राशि प्रदान की जाती है। इस योजना के तहत दुर्घटना में किसी व्यक्ति की मृत्यु पर उसे 2 लाख का बीमा दिया जाता है वही अपंग की स्थिति में 1 लाख की सहायता राशि प्रदान की जाती है।

इस योजना में 18 से लेकर 70 वर्ष की आयु तक के लोग जुड़ सकते हैं उन्हें हर साल 12 रुपए प्रीमियम के तौर पर धारक को देने होते है।

प्रधानमंत्री संपन्न योजना (PMSY)

प्रधानमंत्री संपन्न योजना (Pradhan Mantri Sampann Yojana) पोर्टल की शुरूआत 29 दिसंबर 2018 को माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा की गई थी इस योजना के तहत dotpension.gov.in वेबसाइट की शुरुआत की गई थी जिसकी मदद से आप घर बैठे वेबसाइट की मदद से पेंशन की स्थिति जान सकते हैं।

खादी ग्रामोद्योग विकास योजना (KGVY)

खादी ग्रामोद्योग विकास योजना (Khadi Gramodyog Vikas Yojana) के तहत 2023 -24 में नए कारीगरों को रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे इस योजना के तहत प्रत्येक गांव के 250 कारीगरों को रोजगार के विकल्प उपलब्ध कराए जाएंगे। खादी ग्रामोद्योग विकास योजना में खादी कारीगरों को 10 हज़ार चरखे, 2 हज़ार से अधिक करघे, 1 हज़ार से ज्यादा युद्धक इकाइयां प्रदान करके 50 से ज्यादा गांव में इस योजना की शुरुआत की जाएगी।

इसके साथ ही गांव और शहर में प्रत्येक खादी संस्थानों को 30% अनुदान देने का प्रावधान भी है जिससे खादी कारीगरों को प्रोत्साहन मिलेगा।

श्रेयस योजना

श्रेयस योजना (SHREYAS Scheme) की शुरुआत देश में छात्रों और युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से की गई है। केंद्र सरकार ने छात्रों को बेहतर प्लेसमेंट और रोजगार के लिए इस योजना का शुभारम्भ किया. जिससे नए ग्रेजुएट छात्रों को विशेष उद्योग में शिक्षा के विकल्प उपलब्ध कराए जाएंगे।

वरुण मित्र योजना (PMVMY)

मोदी सरकार ने वरुण मित्र योजना (PM Varun Mitra Yojana) की शुरुआत देश में बेरोजगार लोगों को ध्यान में रखते हुए की है इस योजना के तहत युवाओं को फ्री ट्रेंनिंग देकर उन्हें आगे नौकरी के लिए तैयार करना है। बेरोजगारों को मुफ्त ट्रेनिंग मिलने से उनके सामने नौकरी के विकल्प खुल जाएंगे और उन्हें आगे बढ़ने में प्रोत्साहन मिलेगा।

मातृत्व अवकाश प्रोत्साहन योजना (MLIS)

मातृत्व अवकाश प्रोत्साहन योजना (Maternity Leave Incentive Scheme) मुख्य रूप से काम करने वाली महिलाओं के लिए है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य गर्भावस्था मे महिला कुछ समय अवधि के लिए प्रतिष्ठानों के रोजगार को विनियमित करना और मातृत्व लाभ प्रदान करना है।

इस योजना के तहत महिलाओं को 26 हफ्ते की मैटरनिटी लीव दी जाती है साथ ही उन्हें 7 हफ्तों का पारिश्रमिक वेतन भी वापस कर दिया जाता है। इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2017 में की थी।

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड  (NCMC)

केंद्र सरकार ने नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (National Common Mobility Card) को 28 दिसंबर 2020 को लांच किया था इस कार्ड को केंद्र सरकार द्वारा लांच करने का उद्देश्य है कि इसके माध्यम से कई सारी सुविधाओं का लाभ लिया जा सके।

वर्तमान समय में इस कार्ड के माध्यम से लोग पार्किंग, मेट्रो, ट्रैन की टिकटों का भुगतान कर रहे है। यह कार्ड बिल्कुल डेबिट कार्ड की तरह काम करता हैं वर्तमान समय में 25 से अधिक बैंकों मे उपलब्ध करवाया गया है।

पीएम यूनिवर्सल बेसिक इनकम स्कीम (UBIS)

यूनिवर्सल बेसिक इनकम स्कीम (Universal Basic Income Scheme) के तहत देश के बेरोजगार युवक-युवतियों को बेरोजगारी भत्ता या सैलरी दी जाएगी हालांकि अभी तक इस योजना की शुरुआत नहीं की गई है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल्द ही इस योजना को शुरू करने की घोषणा की है। इस योजना के तहत उन सभी लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।

वित्तीय सहायता की राशि लाभार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी बेरोजगार युवक-युवतियों के साथ-साथ इस योजना का लाभ किसानों को भी मिल सकता है।

अटल पेंशन योजना (APY)

अटल पेंशन योजना (Atal Pension Scheme) की शुरुआत माननीय प्रधानमंत्री ने 1 जून 2015 को की थी इस योजना में मुख्य रूप से 18 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक के लोग शामिल हो सकते हैं। इस योजना के तहत आपको 60 वर्ष की आयु तक प्रीमियम की राशि भरनी होती है और 60 वर्ष के बाद हर महीने पेंशन के तौर पर आपको राशि प्रदान की जाती है।

इसमें मिलने वाली राशि हर महीने 5 हज़ार रूपये तक होती है लेकिन यह आपके प्लान पर निर्भर करेगा कि आप को हर महीने कितनी राशि दी जाएगी आपने छोटे प्लान का प्रीमियम भरा है तो आपको कम पेंशन मिलेगी यदि बड़ा प्रीमियम प्लान लिया है तो आपको अधिक पेंशन मिलेगी।

आयुष्मान भारत योजना (AB PM-JAY)

आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Scheme) के तहत केंद्र सरकार देश के गरीब और पिछड़े वर्ग के लोगों को स्वास्थ्य संबंधित परेशानियों से निजात पाने के लिए स्वास्थ्य बीमा प्रदान कर रही है। इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल 2018 को डॉ भीमराव अंबेडकर जयंती के दिन की थी।

इस योजना के तहत केंद्र सरकार गरीब लोगों के परिवार वालों को सालाना 5 लाख  तक स्वास्थ्य बीमा प्रदान करेगी जिसकी मदद से गरीब परिवार के लोग 5 लाख  तक का फ्री इलाज करवा सकेंगे।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY)

केंद्र सरकार ने किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) की शुरुआत की इस योजना के तहत किसानों को किसी भी प्रकार की आपदा के चलते फसल के नुकसान होने पर बीमा प्रदान किया जाएगा।

इस योजना के लिए केंद्र सरकार ने 88000 करोड रुपए का बजट निर्धारित कर रखा है। इसके तहत बीमा कंपनी को खरीफ की फसल पर 2% और रवि की फसल पर 1.5% भुगतान किसानों को करना होगा

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY)

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana) की शुरुआत साल 2015 में की गई थी. यह योजना विश्व युवा कौशल दिवस को लॉन्च की गई थी. इस योजना के तहत भारत देश में जितने भी पढ़े लिखे बेरोजगार युवा युक्तियां है उन्हें नौकरी देना और उसके साथ ही पढ़े-लिखे बेरोजगार युवकों को मुफ्त में औद्योगिक प्रशिक्षण देना शामिल था।

केंद्र सरकार देश के प्रत्येक राज्य में प्रशिक्षण केंद्र खोलेगी और युवाओं को मुफ्त में प्रशिक्षण देने के साथ-साथ सर्टिफिकेट भी देगी, जिससे उन्हें रोजगार तलाशने में कोई परेशानी ना आए।

मेक इन इंडिया (Make in India)

भारत में मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने और देश की इकोनॉमी को और आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 सितंबर 2014 को मेक इन इंडिया योजना की शुरुआत की। इस योजना का मुख्य उद्देश्य था कि भारत को वैश्विक स्तर पर ऊंचा उठाया जाए और सवा सौ करोड़ आबादी वाले देश को मजबूत निर्माण केंद्र में परिवर्तित किया जाए और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएं।

मेक इन इंडिया का मुख्य उद्देश्य देश में उद्यमशीलता को बढ़ावा देना साथ ही देश के प्रत्येक गांव में ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं पहुंचाई जा सके इस बात को भी ध्यान में रखा गया था।

ग्राम उजाला योजना

उजाला योजना (Gram UJALA Yojana) की शुरुआत बचत लैंप योजना के स्थान पर 1 मई 2015 को माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा शुरू की गई थी। इस योजना के तहत बेहद ही कम मूल्य पर लोगों को एलईडी बल्ब दिए जाते हैं जिससे कि ज्यादा से ज्यादा बिजली की बचत की जा सके।

इस योजना के तहत प्रत्येक परिवार को 10 -10 रूपये में एलईडी बल्ब दिए जाएंगे और एक परिवार में तीन से चार एलईडी बल्ब देने का प्रावधान है। वर्तमान समय में इस योजना को 7 वर्ष से अधिक का समय हो चुका है अभी तक इस योजना से बहुत अधिक बिजली की बचत की जा चुकी है।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY)

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) की शुरुआत 2017 में देश के वरिष्ठ नागरिकों को ध्यान में रखते हुए की गई है यह मुख्य रूप से एक पेंशन स्कीम है।

जिसमें 60 वर्ष या फिर उससे अधिक के सीनियर सिटीजंस (senior citizens) अपनी पेंशन मे मासिक विकल्प चुनते है तो 10 वर्षों के लिए 8% का ब्याज मिलता है और वार्षिक पेंशन का विकल्प चुनते हैं तो 10 वर्षों के लिए  8.3% का ब्याज मिलता है।

इस योजना में निवेश करने की अधिकतम सीमा 15 लाख  तक की है और केवल वरिष्ठ लोग ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना (SGSY)

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना (Swarnajayanti Gram Swarozgar Yojana) की शुरुआत केंद्र सरकार ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में गुजारा बसेरा करने वाले गरीबों के लिए शुरू की है जिससे उन्हें एक टिकाऊ आय प्राप्त होती रहे। इस योजना के तहत स्वयं सहायता समूहों की स्थापना की जाएगी जिसके चलते स्वरोजगार के अवसर प्रदान किये जायेंगे।

इस योजना का उद्देश्य भारत के 67 लाख लोगों को स्वरोजगार उपलब्ध कराना है जिसके लिए 22 लाख से अधिक स्वयं सहायता समूह स्थापित किये गए हैं।

राष्ट्रीय युवा सशक्तिकरण कार्यक्रम योजना (NYESS)

रोजगार के लिए चिंतित युवाओं में आत्मविश्वास भरने और उन्हें सशक्तिकरण करने के लिए केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय युवा सशक्तिकरण कार्यक्रम योजना (Rastriya Yuva Sashaktikaran Karyakram Scheme) की शुरुआत की है इस योजना के तहत 10वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ रहे युवक और युवतियों 1 साल के लिए सैन्य प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जाता है।

इस योजना को शुरू करने के पीछे केंद्र सरकार का यही उद्देश्य है कि इससे देश का युवा सशक्त,अनुशासित और राष्ट्रवाद की भावना अपने अंदर उजागर करें।

सौर सुजला योजना (SSY)

सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) को शुरू करने के पीछे केंद्र सरकार एक ही उद्देश्य है कि कृषि और छत्तीसगढ़ में ग्रामीण विकास को मजबूत करना है इसके लिए सरकार 3 एचपी मोटर से लेकर 5 एचपी मोटर तक के सिंचाई पंप किसानों को वितरित कर रही है।

इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ राज्य की 51 हजार से अधिक किसान लाभान्वित होंगे उन्हें किफायती दरों पर सिंचाई पंप उपलब्ध कराए जाएंगे जिससे खेती में उन्हें प्रोत्साहन मिलेगा।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना (PMKY)

देश में अलग-अलग राज्यों के किसानों को अच्छी सिंचाई व्यवस्था प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री कुसुम योजना (Pradhan Mantri Kusum Yojana) की शुरुआत की गई थी इस योजना के तहत केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल से चलने वाले पंपों को सोलर पंप में परिवर्तित करने के उद्देश्य से काम कर रही है।

इसके साथ ही जो भी किसान भाई सोलर पैनल अपने खेतों में स्थापित करवाते हैं सरकार उसे 90% तक सब्सिडी देती है और केवल 10% ही किसान को भुगतान करना होता है। 90% में 60% केंद्र सरकार देगी और 30% धनराशि बैंक से लोन के तौर पर मिलेगी जिसको किसान अपनी खेती के आधार पर किस्तों में इस पैसे को चुका सकता है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना (BBBPS)

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Scheme) की शुरुआत माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी इस योजना की शुरुआत 22 जनवरी 2015 को की गई थी इस योजना के तहत समाज में बेटियों के प्रति नकारात्मक रवैया के खिलाफ जागरूकता फैलाना और उनके भविष्य को अच्छा बनाना है।

इस योजना को शुरू करने के पीछे का मुख्य कारण लिंगानुपात है क्योंकि हमारे देश में तेजी से लिंगानुपात बढ़ता जा रहा है इसके पीछे का कारण है कि लोग गर्भ में ही बच्चियों को मार डालते है।

डिजीलॉकर योजना

डिजीलॉकर (DigiLocker) भारत सरकार द्वारा चलाया गया क्लाउड स्टोरेज प्लेटफार्म है जिसकी शुरुआत 2015 में की गई थी इस योजना के तहत भारत का कोई भी नागरिक डिजिलॉकर में फ्री में अपना अकाउंट बना सकता है अपने सभी जरूरी दस्तावेजों को सहेज कर रख सकता है।

इस योजना का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपका जो भी डॉक्यूमेंट एक बार डिजिलॉकर में अपलोड हो जाता है तो सरकार की विभिन्न योजनाओं में बिना वेरिफिकेशन के वह डॉक्यूमेंट सही माना जाता है।

स्वदेश दर्शन योजना

स्वदेश दर्शन योजना (Swadesh Darshan Scheme) की शुरुआत 2014 -15 मे की गई थी इस योजना की नोडल एजेंसी पर्यटन मंत्रालय है देश में थीम आधारित एकीकृत पर्यटक सर्किटो के विकास के लिए यह योजना है। यह सेंट्रल स्कीम है जिसमें 100% वित्त पोषण केंद्र सरकार द्वारा किया जाएगा।

स्वदेश दर्शन योजना का मुख्य उद्देश्य देश की सांस्कृतिक धार्मिक, ऐतिहासिक एवं प्राकृतिक विरासत मे व्याप्त क्षमताओं का पूरा उपयोग करना है इसके साथ ही रोजगार सृजन और पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देना भी है।

डिजिटल इंडिया

भारत को डिजिटल तौर पर सशक्त बनाने के लिए केंद्र सरकार ने डिजिटल इंडिया प्रोग्राम (Digital India Mission) को लॉन्च किया है।इस कार्यक्रम के तहत शिक्षा,अस्पताल समेत सभी सरकारी दफ्तरों को देश की राजधानी से जोड़ा जा रहा है।

डिजिटल इंडिया भारत सरकार की एक अंब्रेला योजना (Umbrella Scheme) है जिसमें बहुत सारे सरकारी मंत्रालय और विभाग शामिल है डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत mygov app बनाया गया है जिसमें प्रत्येक नागरिक अपनी राय रख सकता है।

उड़ान योजना

उड़ान योजना (UDAN Yojana) भारत की केंद्र सरकार के द्वारा शुरू की गई योजना है इस योजना के तहत देश के आम नागरिकों को हवाई जहाज की यात्रा कम पैसे में मुहैया करवाई जाती है।UD AN का मतलब होता है कि “उड़े देश का आम नागरिक “। योजना में आम नागरिक मात्र ढाई 2500 रूपये में 1 घंटे की हवाई यात्रा बड़ी आसानी से कर सकता है।

स्टैंड-अप इंडिया योजना

स्टैंड-अप इंडिया योजना (Stand-up India Scheme) की शुरुआत 2016 में की गई थी यह योजना मुख्य रूप से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, और सभी वर्ग की महिलाओं के लिए बनाई गई है। स्टैंड-अप इंडिया योजना का मुख्य उद्देश्य इन महिलाओं को एंटरप्रेन्योर बनाने के साथ साथ उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित करना है।

इस योजना के तहत भारत की कोई भी महिला जो अपना नया कारोबार स्थापित करना चाहती है तो उसे बैंक से 10 लाख रूपये से लेकर 1 करोड़ तक की सहायता राशि प्रदान की जाती है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (PMGAY)

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana) के तहत झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले आम लोगों को अपने घर का निर्माण करवाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। 29 मार्च 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5.21 लाख घरों का गृह प्रवेश वर्चुअल माध्यम से किया यह कार्यक्रम मध्यप्रदेश में आयोजित किया गया था।

इस योजना की शुरुआत 1 अप्रैल 2019 को ग्रामीण विकास मंत्रालय के द्वारा की गई थी इस योजना के तहत लाभार्थी को 1 लाख 20 हज़ार तक की रकम आसान किस्तों में दी जाती है।

युवा प्रधानमंत्री योजना (YPY)

29 मई 2021 को शिक्षा विभाग के उच्च शिक्षा मंत्रालय ने युवा लेखकों को प्रोत्साहित करने के लिए युवा प्रधानमंत्री योजना (Yuva Pradhanmantri Yojana) की शुरुआत की। इस योजना के तहत लेखक और युवाओं को एक ऐसा मंच मिलता है जहां पर वह अपने कौशल को निकाल सकते हैं इस मंच पर युवा लेखक अपने द्वारा लिखे गए लेखों को प्रकाशित कर सकते हैं।

युवाओं को किसी भी देश का भविष्य माना जाता है और जब लेखक अपने लेखन को विदेशों तक प्रकाशित करेंगे इससे उन्हें भी प्रोत्साहन मिलेगा साथ ही देश का भी नाम रोशन होगा।

प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना

प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना (PM Saubhagya Scheme) के तहत सभी के घर में बिजली की व्यवस्था उपलब्ध करवाना है। इस योजना का मुख्य रुप से लाभ देश के आर्थिक रूप से कमजोर पक्ष के लोगों के लिए है। इस योजना की शुरुआत 25 सितंबर 2017 को की गई थी इसके अनुसार जिन लोगों के नाम 2011 की आर्थिक जनगणना में शामिल है उन्हें मुफ्त में बिजली कनेक्शन दिए जायेंगे।

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना (PMRPYS)

देश में बढ़ती बेरोजगारी के चलते केंद्र सरकार ने प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना (Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana) की शुरुआत की इस योजना का क्रियान्वयन श्रम एवं रोजगार मंत्रालय कर रहा है। इस योजना के लिए केंद्र सरकार ने 1000 करोड रुपए का बजट आवंटित किया है।

इस योजना का उद्देश्य संगठित क्षेत्र में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए नियोक्ताओं को प्रोत्साहन करना है इस योजना में नए नियुक्त कर्मचारियों के लिए EPS एवं EPF मे नियोक्ताओ योगदान का पूरा अंश पहले 3 सालों तक सरकार स्वयं देगी।

प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (PMSSY)

प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (Pradhan Mantri Swasthya Suraksha Yojana) मुख्य रूप से गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों के लिए शुरू की गई है इस योजना का क्रियान्वयन केंद्र सरकार के द्वारा किया जा रहा है इसके तहत असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर लोगों के लिए 30 हज़ार का बीमा नियोजित किया गया है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना की लिस्ट में शामिल अस्पतालों में यह लोग मुफ्त में अपना इलाज करवा सकते हैं योजना का लाभ एक परिवार में अधिकतम पांच सदस्य उठा सकते हैं।

किसान विकास पत्र योजना (KVP)

किसान विकास पत्र योजना (Kisan Vikas Patra Yojana) एक बचत योजना है इसके अंतर्गत आप जो भी राशि निवेश करते हैं वह दुगनी आपको वापिस की जाती है। इस योजना के लिए आप डाकघर या फिर बैंक में आवेदन कर सकते हैं इसके लिए आपको 10 साल के 4 महीने के लिए निवेश करना होता है इसके बाद आप की रकम दोगुनी आपको मिल जाती है।

जैसे मान लो आपने 5 लाख रूपये इस योजना में 10 साल के 4 महीने के लिए निवेश किया तो आपको इसकी समय अवधि पूरी हो जाने के बाद 10 लाख रूपये आपको मिलेंगे.

इस योजना के लिए न्यूनतम राशि 1000 रूपये की है और अधिकतम की कोई सीमा नहीं है।

प्रधानमंत्री जन-औषधि योजना (PMJAY)

प्रधानमंत्री जन-औषधि योजना (Pradhan Mantri Jan-Aushadhi Yojana) की शुरुआत माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 अप्रैल 2015 को की थी इस योजना के तहत सरकार द्वारा उच्च गुणवत्ता वाली जेनेरिक दवाइयां बाजार मूल्य से कम कीमत पर उपलब्ध कराई जाती है। इसके लिए केंद्र सरकार ने देश के अलग अलग राज्य में जन औषधि स्टोर बनाए हैं जहां से लोग बड़ी आसानी से जेनेरिक दवाइयां खरीद सकते हैं।

आत्मनिर्भर भारत योजना (ANY)

आत्मनिर्भर भारत योजना (Aatm Nirbhar Yojana) की शुरुआत 12 मई 2020 को माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा की गई थी. इस योजना के तहत देश का प्रत्येक नागरिक आत्मनिर्भर बने और कोरोनावायरस से लड़ने में सक्षम हो।

आत्मनिर्भर भारत योजना के लिए केंद्र सरकार ने 20 लाख करोड़ का पैकेज निर्धारित किया है जो कि भारत देश की जीडीपी का लगभग 10% है। इस योजना की मदद से असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले मजदूरों को भी आर्थिक सहायता मिलेगी।

पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना (PKCCY)

पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना (Pashu Kisan Credit Card Yojana) मुख्य रूप से पशुपालक किसानों के लिए है जो किसान भाई गाय का पालन करते हैं उन्हें 40 हज़ार  तक लोन मिल सकता है वही जो लोग भैंस का पालन करते हैं उन्हें 60 हज़ार से अधिक की रकम मिल सकती है। उन सभी किसानों के लिए है जिनके पास जमीन की कमी है या फिर उनके पास जमीन नहीं है लेकिन वह पशुपालन करते हैं तो उनको इस योजना में शामिल किया गया है।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना (KKC)

किसानों के हित में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसान क्रेडिट कार्ड योजना (Kisan Credit Card Yojana) की शुरुआत की है इस योजना के तहत किसानों को उनकी जमीन पर बेहद ही सस्ते ब्याज दर पर लोन उपलब्ध करवाया जाता है। किसान क्रेडिट कार्ड में मिलने वाले लोन की ब्याज की दर महज 4% रहती है जोकि साहूकार और अन्य माध्यम से लिए गए पैसों के ब्याज की तुलना में बहुत कम है।

मनरेगा योजना (MNREGA)

मनरेगा योजना को महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के नाम से जाना जाता है इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में श्रमिक परिवार मे एक व्यक्ति को पूरे साल में 100 दिनों का रोजगार दिया जाता है। इस योजना में प्रतिदिन मजदूरी की मिलने वाली रकम 220 रूपये  होती है जो श्रमिक के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाती है। मनरेगा योजना में पुरुष और महिला दोनों को काम करने का अधिकार प्राप्त है।

प्रधानमंत्री शौचालय निर्माण योजना

प्रधानमंत्री शौचालय निर्माण योजना (PM Sauchalay Yojana) के तहत केंद्र सरकार ग्रामीण इलाकों में प्रत्येक घर में शौचालय बनवाने के उद्देश्य से काम कर रही है इस योजना का उद्देश्य है कि कोई भी व्यक्ति खुले में शौच ना करें। इसके लिए केंद्र सरकार ने लोगों के लिए एक बजट पेश किया है जिसमें उन्हें शौचालय बनवाने के लिए आर्थिक सहायता की जाएगी। इस योजना के तहत प्रत्येक लाभार्थी को 12 हज़ार की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना (PM Kisan Tractor Yojana) की शुरुआत किसानों के हित में की गई है इस योजना के तहत किसान भाई सब्सिडी के आधार पर ट्रैक्टर खरीद सकता है इसके साथ ही किसान को बेहद ही कम ब्याज इसमें चुकाना होता है। वैसे इस योजना की शुरुआत तो केंद्र सरकार के द्वारा की गई थी लेकिन इस योजना का लाभ राज्य सरकार के अधीन मिलेगा।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी (National Education Policy) की शुरुआत 2021 में केंद्र सरकार ने की इसके तहत पुरानी शिक्षा नीति को बदलते हुए नई शिक्षा नीति को लागू किया गया है। पुरानी शिक्षा नीति में जो भी कमियां थी उन सभी मे बदलाव किए हैं। पहले जो 10+2 के हिसाब से पढ़ाई की जाती थी उसे बदलकर 5+3+3+4 के पैटर्न मे बदल दिया गया है।

प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना (PMSS)

प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना (Pradhanmantri Scholarship Scheme) की शुरुआत केंद्र सरकार के द्वारा की गई थी इस योजना का लाभ विशेष तौर पर उन पुलिसकर्मियों के बच्चे और विधवा महिलाओ के लिए है जो असम राइफल, आरपीएफ मे नौकरी करते समय किसी नक्सली हमले के चलते शहीद हो गए हैं। इस योजना के तहत जो भी बच्चा 12वीं कक्षा में 60% से अधिक अंक लेकर आता है केंद्र सरकार उसे 2000 से लेकर 3000 तक की छात्रवृत्ति प्रदान करती है।

निष्कर्ष – उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको हमारे द्वारा बताई गई जानकारी भारत सरकार की योजनाएं (Bharat Sarkar Ki Yojana in Hindi) अच्छे से समझ में आ गई होगी। यदि आप केंद्र सरकार की अन्य किसी भी योजना के बारे में जानकारी लेना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकते हैं आप उसके बारे में आपको जल्द से जल्द जानकारी प्रदान करेंगे।

FAQ

Q : गरीबों के लिए कौन कौन सी योजनाएं हैं?
Ans : प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, प्रधानमंत्री मनरेगा योजना, प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना.

Q : लड़कियों के लिए क्या योजना है?
Ans : सुकन्या समृद्धि योजना

Q : 2022 की नई योजना क्या है?
Ans  : गरीब कल्याण योजना

Q : सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारंभ कब हुआ?
Ans  : 4 दिसंबर, 2014

Q : अभी कौन कौन सी योजनाएं चल रही है?
Ans  : प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री कुसुम योजना, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना, किसान विकास पत्र योजना

यह भी पढ़े

 

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here