टाइटैनिक जहाज के बारे में जानकारी | Interesting Facts About Titanic | Wonder Facts

टाइटैनिक जहाज के बारे में जानकारी – अपने ज़माने का मानव द्वारा बनाया गया दुनिया का सबसे बड़ा भाप आधारित यात्री जहाज टाइटैनिक था।  टाइटैनिक जहाज का सफर सिर्फ 5 दिनों का था लेकिन टाइटैनिक के समुन्द्र में डूबने के बाद आज भी लोगो के दिलो में वो यादे ज़िंदा है। टाइटैनिक जहाज ने अपना पहला और अंतिम सफर 10 अप्रैल 1912 को इंग्लैंड के साउथहैंपटन से शुरू किया और सिर्फ 4 दिनों की सुखमय यात्रा के बाद 14 अप्रैल 1912 को इस सफर का अंत हो गया, पांचवे दिन टाइटैनिक जहाज एक हिमशिला से टकरा गया और डूब गया, जिसमें 1,517 लोगों की दर्दनाक मौत हो हुई जो इतिहास की सबसे बड़ी शांतिकालीन दुर्घटनाओं में से एक थी।

तो दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको टाइटैनिक जहाज (Interesting Facts About Titanic) के बारे में  वो सभी बाते बताने जा रहे है जिसे जानना  आपको बहुत ही ज्यादा जरुरी है ।

Interesting-Facts-About-Titanic

टाइटैनिक जहाज के बारे में जानकारी | Interesting Facts About Titanic

#1. जब टाइटैनिक जहाज बनकर तैयार हुआ था तब उस दौर में  दुनिया का सबसे बड़ा जहाज था, इसकी लम्बाई 882 फीट (269 मीटर) यानि क्रिकेट ग्राउंड से भी बड़ा और ऊंचाई 175 फीट (53 मीटर) यानि 16 मंजिल ईमारत जितना ऊँचा था.

#2. टाइटैनिक जहाज का पूरा नाम RMS Titanic था, जिसका मतलब Royal Mail Ship था और इसे बनाने वाली कम्पनी का नाम White Star Line.

#3. टाइटैनिक जहाज की बुनियाद 31 मार्च 1909 को रखी गई थी और इसे 3 हज़ार मज़दूरों ने बनाना शुरू किया था और अंततः 31 मई 1911 को पुरे 26 महीनों में बनकर तैयार हुआ था.

#4. टाइटैनिक जहाज को बनाते समय 246 मजदूरों को चोट लगी थी जिनमे से 28 मज़दूरों को गंभीर चोट लगी थी और और 2 मज़दूरों की मौत हो गई थी.

#5. 31 मई 1911 को जब बारी आई टाइटैनिक जहाज के उद्धघाटन की, तो इसे देखने के लिए 1 लाख से ज्यादा लोग वहां पहुचें थे.

#6. टाइटैनिक जहाज के निर्माण में 75 लाख डॉलर यानी 55 करोड़ रुपयों का खर्चा आया अगर आज के समय इसे        बनाया जाए तो इसकी लागत लगभग 1500 करोड़ रुपयों का खर्चा आये.

#7. टाइटैनिक जहाज 10 अप्रैल 1912 को इंग्लैंड के साउथहैंपटन बंदरगाह से न्यूयॉर्क के लिए अपनी पहली और अंतिम उड़ान भरता है.

#8. 1912 में टाइटैनिक को बनाने के लिए कुशल मजदूरों को 10 डॉलर प्रति हफ्ता और अकुशल मजदूरों को 5 डॉलर प्रति हफ्ता दिया जाता था.

#9. टाइटैनिक 10 अप्रैल 1912 को 2,224 यात्री और क्रू मेंबर के साथ न्यूयॉर्क के लिए रवाना हुआ था.

#10. टाइटैनिक जहाज में  885 लोगों का स्टाफ था जिसमें 23 महिलाये थी.

#11. टाइटैनिक जहाज के अंदर वो सभी सुख सुविधाएं थी, जैसे स्विमिंग पूल, जिम, लाइब्रेरी रेस्टोरेंट आदि.

#12. 14 अप्रैल 1912 को रात 11 बजकर  40 मिनट पर टाइटैनिक जहाज उत्तरी अटलांटिक सागर में आइसबर्ग के एक बड़े टुकड़े के टकराने से डूब गया. और जिसके बाद टाइटैनिक में अलग अलग जगह से पानी भरना शुरू हो गया, जहाज में पानी इतनी जल्दी भर रहा था लगभग 2 घंटे 40 मिनट के अंदर पूरा जहाज समुद्र में डूब गया, और 15 अप्रैल 1912 को  2 बजकर 20 मिनट पर टाइटैनिक जहाज समुद्र की सतह से बिल्कुल साफ हो गया.

#13. जब जहाज हिम पर्वत से टकराया था, वो तकरीबन 100 फीट जितना ऊँचा था और 37 सेकंड के अंदर अंदर हिम पर्वत से जा टकराया.

#14. टाइटैनिक जहाज जब समुद्र में 16 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से समुद्र में डूब रहा था और समुद्र के आंतरिक तल पर पहुंचने में सिर्फ और सिर्फ 15 मिनट का समय लगा.

#15. चौकाने वाली बात ये है कि जहाज के टकराने से पहले कंट्रोल रूम ने टाइटैनिक के ऑफिसर को 6 बार चेतावनी दी थी.

#16. जहाज के डूबने के कई वर्षों तक सभी का ये मानना था कि टाइटैनिक सम्पूर्ण रूप से समुद्र में डूब गया था फिर कई सालो बात टाइटैनिक जहाज का मलबा मिला तो उसे पता चला कि टाइटैनिक के डूबने से पहले बीच में से दो हिस्सों में हो गया था .

#17. टाइटैनिक जहाज में  2,224 यात्री और क्रू मेंबर थे जिनमें से सिर्फ 710 लोगों को ही बचाया जा सका और तकरीबन 1514 लोगों ने अपनी जान गवाई और उनमें से 310 लोगों के शव मिले और आज तक बचे हुए लोगों का शव नहीं ढूंढ़ा जा सका

#18. 15 अप्रैल 1912 को टाइटैनिक जहाज डूब गया था और 14 मई 1912 को टाइटैनिक पर पहली मूवी भी बन गई जिसका नाम था “Saved From The Titanic”, यह एक साइलेंट फिल्म थी.

#19. टाइटैनिक जहाज के साथ सभी लोग डूब गए उस समय पानी का तापमान लगभग -2°C था. जिसमे कोई भी इंसान ज्यादा से ज्यादा 15 मिनट तक जिन्दा रह पाया क्यों कि इतने ठंडे पानी में इंसान की कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई होगी.

भारत के बारे में रोचक जानकारी

टाइटैनिक जहाज के बारे में जानकारी | Interesting Facts About Titanic

#20. टाइटैनिक जहाज दुर्घटना की खबर छापने वाले न्यूज़ पेपर ने पहले गलत खबर छापी थी कि दुर्घटना में किसी की भी मौत नहीं हुई है सभी को बचा लिया गया है फिर 2 दिन बाद सही खबर सामने आना शुरू हुई.

#21. जब टाइटैनिक जहाज के ऑफिसर को हिमपर्वत दिखाई देना शुरू हुआ ततब उनके पास डिसीजन लेने के लिए मात्र 37 सेकंड का वक्त बचा था लेकिन हिमपर्वत को देखते ही सीनियर अफसर Murdoch ने जहाज को लेफ्ट साइड में मोड़ने का और जहाज के इंजन को रिवर्स में ऑपरेट करने का आर्डर दिया था, लेकिन इतना हिम पर्वत से बचने के लिए काफी नहीं था यदि 30 सेकंड पहले ये एक्शन लिया जाता तो शायद टाइटैनिक जहाज को बचाया भी जा सकता था.

#22. टाइटैनिक जहाज में 64 लाइफ बोट को रखने के लिए जगह बनाई गई थी दुर्भाग्य से उस समय जहाज पर सिर्फ 20 लाइफ बोट ही मौजूद थी लेकिन 20 लाइफ बोट में 1100 से ज्यादा लोगो को बचाया जा सकता था लेकिन सिर्फ 710 लोगो को ही बचाया जा सका.

#23. टाइटैनिक जहाज  फर्स्ट क्लास टिकट की कीमत $4,375 थी, जो की आज के टाइम में $100,000 होगी.

#24. टाइटैनिक के अंदर की साज सज्जा को लंदन के The Ritz Hotel को देखकर बनाया गया था, जो आज भी लंदन में मौजूद है.

 

#25. टाइटैनिक पर फर्स्ट क्लास के पैसेंजर्स  के लिए 20,000 बीयर की बोतलें और 1500 शराब की बोतलें और लगभग 3,000 सिगार थे.

#26. टाइटैनिक के डूबने के दौरान वहा पर अफरा तफरी का माहौल बना हुआ था इसके बावजूद म्यूजिशियन बिना रुके आखिरी सांस तक म्यूजिक बजाते रहे वो इसलिए ताकि लोगों में डर का भय थोड़ा काम हो जाये.

#27. टाइटैनिक का एक स्पेशल एडिशन पर न्यूज़ पेपर छपता था वो पेपर सिर्फ फर्स्ट क्लास के पैसेंजर्स को ही दिए जाते थे.

#28. टाइटैनिक जहाज पर जो सिटी लगाई गई थी उसकी आवाज 11 मील दूर तक भी सुनी जा सकती थी.

#29. जहाज पर पैसेंजर्स और क्रू मेंबर के लिए खाने में 39 हज़ार किलो मीट, 40 हज़ार अंडे, लगभग 30 हज़ार सेब, 100 किलो प्याज और 63 हज़ार लीटर पानी की पूर्ति होती थी.

#30. टाइटैनिक जहाज पर सभी पैसेंजर्स को मिला कर रकम, ज्वेलरी सहित 60 लाख डॉलर का सामान मौजूद था.

#31. लाइफबोट के माध्यम से फर्स्ट क्लास के पैसेंजर्स में से 60 फीसदी, सेकंड क्लास के पैसेंजर्स में से 42 फीसदी और बची क्लास में से 25 फीसदी लोगों को जिंदा बचाया जा सका.

#32. फुल लोड होने के बाद टाइटैनिक का कुल वजन तकरीबन 4 करोड़ 63 लाख 26 हजार किलो था. इतना ज्यादा  वजन होने के बाद भी यह 42 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पानी में चलता था.

#33. टाइटैनिक जहाज का 46 हजार हार्स पावर का इंजन 34 हज़ार किलोवाट बिजली पैदा करता है.

#34.टाइटैनिक जहाज पर पैसेंजर्स में 16 नवविवाहित जोड़े थे  जो हनीमून मनाने के लिए जा रहे थे.

#35. टाइटैनिक जहाज पर महिलाओं से ज्यादा पुरुषों की डूबने से मौत हुई है क्यों पहले प्रोटोकॉल को मानते हुए लाइफ बोट में बच्चे और महिलाओं को बचाया गया, जहा पर कुत्ते, बिल्ली और कुछ पक्षी भी थे जिनमे से सिर्फ 2 कुत्तो को ही बचाया जा सका.

#36. टाइटैनिक जहाज पर 2 बड़ी लाइब्रेरी, 4 लिफ्ट, 1 गर्म स्वमिंग पूल और जिम थी.

#37. टाइटैनिक पर धुआं निकलने के लिए 4 बड़ी चिमनियां  बनाई गई थी जिसमे से केवल 3 चिमनियां ही धुँआ निकलती थी बाकी की एक चिमनियां  सिर्फ जहाज की खूबसूरती को बनाए रखने के लिए बनाई गई थी.

#38. 1997 में डायरेक्टर जेम्स कैमरून ने टाइटैनिक जहाज पर एक फिल्म बनाई थी जिसका नाम था “Titanic” , और मज़े कि बात ये है कि इस फिल्म का बजट टाइटैनिक जहाज के निर्माण से भी ज्यादा था, जहाज के निर्माण में 75 लाख डाॅलर (करीब 55 करोड़ रूपए), लगे थे जबकि फिल्म को बनाने में 200 मिलियन डाॅलर यानि 1400 करोड़  रूपए का खर्च आया था. और इस फिल्म ने कमाई के मामले में सारे रिकॉर्ड भी तोड़ दिए थे, “Titanic” ने 2.202 बिलियन डॉलर यानि 1500 करोड़ की कमाई की थी.

#39. “Titanic” मूवी ने अभी तक 11 ऑस्कर अवार्ड जीते.

#40. टाइटैनिक जहाज पर एक शेफ था जिसने दारू पीकर उस जमा देने वाले ठन्डे पानी में 2 घंटे तक रहकर खुद को बचाया.

टाइटैनिक जहाज के बारे में जानकारी | Interesting Facts About Titanic

तो दोस्तों ये थी टाइटैनिक जहाज से जुडी कुछ रोचक बाते मैं आशा करता हूँ कि आपको ये बातें पढ़कर पसंद जरूर आई होगी , बहुत बहुत धन्यवाद्

 

यह भी पढ़े

 

 

 

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here