बी फार्मा क्या होता है ? पूरी जानकारी | B.Pharma Course In Hindi

बी फार्मा एक कोर्स है जिसका सीधा संबंध मेडिकल से है यदि आप मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर आजमाना चाहते हैं तो आप बी फार्मा कर सकते है। अब कुछ लोगों के मन में सवाल आ रहे होंगे कि बी फार्मा कोर्स करके क्या डॉक्टर बना जा सकता है तो इन सभी सवालों के जवाब हम आज इस पोस्ट में देने वाले हैं।

आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि बी फार्मा क्या होता है (B.Pharma Course In Hindi) और कितने साल का होता है साथ ही कौन-कौन लोग बी फार्मा कर सकते हैं इसमें करियर के क्या-क्या विकल्प मौजूद हैं? सबसे बड़ा प्रश्न बी फार्मा और डी. फार्मा में क्या अंतर होता है?यदि आप बी फार्मा के बारे में कंप्लीट जानकारी जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़ें।

बी फार्मा क्या होता है ?

B.Pharma Course

बी फार्मा का फुल फॉर्म (B.Pharma full form)

बी फार्मा का फुल फॉर्म होता है Bachelor of Pharmacy है। और हिंदी भाषा में ‘फार्मेसी स्नातक’ भी कहते है.

बी फार्मा क्या होता है (What Is B.Pharma In Hindi)

बी फार्मा एक अंडर ग्रेजुएट फार्मेसी कोर्स है। इस कोर्स की अवधि 4 साल की होती है जिसमें अलग-अलग यूनिवर्सिटीज के हिसाब से सिलेबस को 6 से 8 सेमेस्टर में विभाजित किया जाता है। फार्मेसी ऐसी साइंस है जिसके तहत मेडिसिन से जुड़ी रिसर्च की जाती है जब कभी भी किसी बीमारी के लिए इलाज खोजा जाता है तो फार्मेसी ही ऐसी क्षेत्र है जो बनाई गई दवाइयों का टेस्ट करता है और उन पर रिसर्च करता है ताकि उन मेडिसिंस के इफेक्ट को और साइड इफेक्ट को जाना जा सके और उसे ट्रीटमेंट के लिए उपलब्ध करवाया जा सके। फार्मेसी हेल्थ केयर इंडस्ट्री का सबसे अहम भाग होता है जो न केवल दवाइयो की टेस्टिंग करता है बल्कि दवाइयों को बनाने और मार्किट में सप्लाई का काम भी करता है।

बी फार्मा के लिए जरुरी योग्यता (Qualification for B. Pharma)

  • बी फार्मा में प्रवेश लेने के लिए आपको 12 वीं  क्लास में पास होना जरुरी है साथ ही 12 वीं क्लास में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स \बायोलॉजी में से कोई एक सब्जेक्ट होना चाहिए।
  • आप जिस भी कॉलेज से बी फार्मा की पढ़ाई करना चाहते हैं तो उनके प्रवेश के लिए एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है जिसे उत्त्तीर्ण करना अनिवार्य होता है।
  • 12 वीं  कक्षा में कम से कम 50% से 55%  अंक  होना अनिवार्य है।

बी फार्मा के लिए प्रवेश प्रक्रिया (Admission Process For B.pharma)

बहुत सी यूनिवर्सिटी बी फार्मा में प्रवेश के लिए एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करती है जिसके बाद ग्रुप डिस्कशन, पर्सनल इंटरव्यू और काउंसलिंग की प्रोसेस से भी गुजरना पड़ता है। कुछ यूनिवर्सिटीज के एंट्रेंस एग्जाम है जैसे BHU B Pharma Entrance Test,MHT CET Entrance Test, GPAT Entrance Test, WBJEE Entrance Test, BITSAT Entrance Test.

आपको एंट्रेंस एग्जाम को पास करना अनिवार्य होता है. यदि आप अच्छी गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो लेकिन यदि आप प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेकर बी फार्मा की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप कर सकते हैं। बी फार्मा कोर्स अन्य कोर्स से अलग होता है क्योंकि सामान्य तौर पर हम ग्रेजुएट होने के लिए नियमित तौर पर कॉलेज नहीं जाते हैं लेकिन बी फार्मा में ऐसा नहीं है यदि आप नियमित तौर पर इसको नहीं करेंगे तो आपको दवाइयों के बारे में कोई भी जानकारी नहीं मिलेगी जिससे इस कोर्स को करने का कोई फायदा नहीं रहेगा।

बी फार्मा कोर्स के विषय (Subjects For B. Pharma)

  • Biochemistry
  • Human Anatomy and Physiology
  • Pharmaceutical Biotechnology
  • Pharmaceutical Math’s Biostatistics
  • Pharmaceutical Chemistry
  • Pharmaceutical Technology
  • Clinical Pharmacy
  • Ayurved
  • Pharmaceutics
  • Pharmacy Practice
  • Pharmacognosy
  • Pharmacology
  • Pharmaceutical Analysis and Quality Assurance

बी फार्मा के लिए टॉप कॉलेज (Top Colleges for B Pharma)

  • यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट आफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, चंडीगढ़.
  • मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई
  • पूना कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, पुणे
  • गोवा कॉलेज ऑफ फार्मेसी
  • मनिपाल कॉलेज ऑफ़ फार्मेसीटिकल साइंस,मनिपाल
  • इंस्टीट्यूट आफ केमिकल टेक्नोलॉजी, मुंबई
  • अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, तमिलनाडु
  • महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी, रोहतक
  • जादवपुर यूनिवर्सिटी, वेस्ट बंगाल
  • नेशनल इंस्टीट्यूट आफ फार्मास्यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च मोहाली, पंजाब

बी फार्मा कोर्स फीस (Fees For B. Pharma Course)

यदि आप एंट्रेंस एग्जाम पास कर लेते हैं और आपका चयन सरकारी कॉलेज में हो जाता है तो आपको बहुत ही कम पैसे में बी फार्मा की डिग्री मिल जाएगी लेकिन यदि आप किसी प्राइवेट कॉलेज से बी फार्मा की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप मान की चलेगी कम से कम 30000 से लेकर 2 लाख रूपये तक की फीस 1 साल की चुकानी होती है। यदि आप भारत की टॉप प्राइवेट कॉलेज से बी फार्मा की पढ़ाई करते हैं तो आपको इससे भी अधिक फीस चुकानी पड़ सकती है।

बी फार्मा करने के फायदे (Benefits Of B. Pharma Course In Hindi)

  • बी फार्मा की डिग्री लेने के बाद राज्य फार्मेसी परिषद में रजिस्ट्रेशन करना होता है इसके बाद अपनी खुद की मेडिकल स्टोर खोल सकते है।
  • बी फार्मा करने के बाद आप मास्टर डिग्री भी कर सकते है.
  • जो विद्यार्थी बी फार्मा करने के बाद टीचिंग के क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो उनके लिए लेक्चरर की जॉब के ऑप्शन भी है।
  • बी फार्मा करने के बाद आप कोई भी फार्मेसी कंपनी में जॉब कर सकते है लेकिन यदि आप किसी प्राइवेट कंपनी में जॉब नहीं करना चाहते हैं तो सरकारी अनुसंधान में भी जॉब के काफी अधिक अवसर मिलते हैं।
  • इस कोर्स को करने के बाद आप ग्रेजुएट तो होंगे ही साथ ही यह जॉब ओरिएंटेड कोर्स भी है इसको करने के बाद जॉब के काफी सारे विकल्प मौजूद रहते हैं।

बी फार्मा करने के बाद के विकल्प (Option After Doing B. Pharma)

बहुत सारे ऐसे स्टूडेंट होते हैं जो इस बात को लेकर चिंतित रहते हैं कि बी फार्मा के बाद क्या कर सकते हैं और उससे उनके करियर में क्या बदलाव हो सकता है? जब आप बी फार्मा कर लेते हैं तो उसके बाद आप निम्न कोर्स भी कर सकते है –

  • Pharma (Master Of Pharmacy)
  • Course In Clinical Research
  • Drug Store Management Course
  • MSC Pharmaceutical Chemistry
  • Management Programme In Pharmacy

बताये गए सभी पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करके आप किसी भी मेडिसिन कंपनी में हाई प्रोफाइल की जॉब प्राप्त कर सकते है इसके साथ ही सरकारी अनुसंधान में भी कार्य कर सकते है.

बी फार्मा के बाद जॉब के विकल्प (Job options after B.Pharma)

बी फार्मा करने के बाद जॉब के बहुत सारे विकल्प हैं आप अपनी पसंद से कोई भी विकल्प चुन सकते हो-

  • हॉस्पिटल फार्मेसी
  • टेक्निकल फार्मेसी
  • क्लिनिकल फार्मेसी
  • मेडिकल डिस्पेंसिंग स्टोर
  • रिसर्च एजेंसी
  • एजुकेशनल इंस्टीट्यूट
  • फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन
  • सेल्स एंड मार्केटिंग डिपार्टमेंट
  • हेल्थ सेंटर

इन सभी क्षेत्र में आप जो प्राप्त कर सकते हैं अब हम जानेंगे कि बी फार्मा करने के बाद आप कौन कोनसी सी जॉब प्राप्त कर सकते है बी फार्मा करने के बाद आप बन सकते हैं एनालिटिकल केमिस्ट, हेल्थ इंस्पेक्टर, कस्टम ऑफिसर, डाटा मैनेजर, रेगुलेटरी मैनेजर, टीचर,  हॉस्पिटल कॉर्डिनेटर, मेडिकल टेक्नीशियन, और क्वालिटी कंट्रोल एसोसिएट ।

बी फार्मा करने के बाद मिलने वाली सैलरी (B. Pharma Salary)

बी फार्मा करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है इसका कोई सही डाटा नहीं है यह निर्भर करता है की आप कौनसे  क्षेत्र में काम कर रहे है। यदि आप किसी फार्मेसी कंपनी में काम करते हैं तो आपकी सैलरी थोड़ी ज्यादा हो सकती है बजाय किसी हॉस्पिटल में काम करने के। लेकिन यदि आप शुरुआती दौर में हैं तो आपको 10,000 से लेकर 20000 के बीच सैलरी दी जाती है।  जैसे-जैसे आप का अनुभव बढ़ता जाता है वैसे वैसे आपकी सैलरी में भी बढ़ोतरी कर दी जाती है लेकिन वही अगर हम दूसरी तरफ सरकारी क्षेत्र में सैलरी की बात करें तो वह प्राइवेट सेक्टर की तुलना में काफी ज्यादा होती है।

बी फार्मा और डी फार्मा में क्या अंतर है (Difference Between B. Pharma or D. Pharma)

बी फार्मा ग्रेजुएशन लेवल पर एक प्रोग्राम होता है जिसे आप दो तरीके से कर सकते हैं पहला तो नियमित आधार पर दूसरा लेटरल एंट्री के आधार पर जो डी फार्मा के बाद किया जा सकता है यानी डी फार्मा करने के बाद आप सीधे ही बी फार्मा के दूसरे वर्ष में प्रवेश कर जाते हैं। वही बात करें डी फार्मा की तो यह डिप्लोमा स्तर का एक फुल टाइम कोर्स है। बी फार्मा का कोर्स 4 साल का होता है वही डी फार्मा का कोर्स 2 साल का होता है जिसमें 4 सेमेस्टर होते हैं।

निष्कर्ष – तो उम्मीद करते है दोस्तों आपको बी फार्मा से जुडी कम्पलीट जानकरी पसंद आई होंगी यदि आप 12 वीं के बाद बी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं तो यह जानकारी आपके लिए बेहद ही महत्वपूर्ण रहने वाली है क्योंकि इसमें बी फार्मा से जुड़ी सभी चीजों के बारे में जानकारी शेयर की गई है। फिर भी यदि आपका बी फार्मा से संबंधित कोई भी प्रश्न है तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं।

यह भी पढ़े

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here