बिपिन रावत का जीवन परिचय, निधन, हेलीकॉप्टर दुर्घटना (Bipin Rawat Biography in Hindi)

बिपिन रावत का जीवन परिचय, निधन, हेलीकॉप्टर दुर्घटना, मौत (Bipin Rawat Biography in Hindi, Family, Age, Wife, Son, Daughter, bipin rawat news, Latest News, CDS bipin rawat, cds, bipin rawat salary, bipin rawat dead, Family, Education, Military Career)

बिपिन रावत देश के पहले  चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ(CDS)थे, इससे पहले CDS अधिकारी भारतीय थलसेना के 27वें प्रमुख थे. CDS अधिकारी ने 1 जनवरी 2020 को रक्षा प्रमुख का पद भार संभाला। CDS बिपिन रावत मुख्य काम था तीनों सेनाओं थलसेना, वायुसेना और नौसेना का आपसी तालमेल सेट रखना. 8 दिसंबर 2021 को CDS अधिकारी यानी चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ बिपिन रावत का निधन हो गया, तमिलनाडु में कुन्नूर IAF Mi-17V5 हेलीकॉप्टर दुर्घटना में CDS जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत की मृत्यु हो गई। मौत के समय CDS 63 वर्ष के थे।  हेलीकॉप्टर दुर्घटना में उनकी पत्नी मधुलिका रावत के साथ 11 अन्य लोग भी मौजूद थे जो इस दुर्घटना में मरे गए.

बिपिन रावत का जीवन परिचय (Bipin Rawat Biography in Hindi)

नाम
बिपिन रावत
जन्म
16 मार्च 1958  (पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड)
मृत्यु
8 दिसंबर 2021
उम्र
63 साल
शिक्षा
डॉक्टरेट की उपाधि
एम फिल की डिग्री
स्नातक
स्कूल
कैंबरीन हॉल स्कूल,, देहरादून
सेंट एडवर्ड स्कूल,  भारतीय सैन्य अकादमी, शिमला
कॉलेज
राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला
भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून
रक्षा सेवा स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन
फोर्ट लीवेनवर्थ, कंसास में संयुक्त राज्य सेना कमान और जनरल स्टाफ कॉलेज
मद्रास विश्वविद्यालय, चेन्नई
चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ
राष्ट्रीयता
भारतीय
धर्म
क्षेत्रीय राजपूत (हिन्दू धर्म)
राशि
वृषभ
जाति
हिंदू गढ़वाली
कद
5 फीट 8 इंच
पेशा
आर्मी ऑफिसर
वैवाहिक स्थिति
विवाहित
पत्नी का नाम
मधुलिका रावत
बच्चे
2 बेटियां

 

बिपिन रावत कौन थे (Who is Bipin Rawat)

बिपिन रावत आर्मी परिवार से आते थे, भारतीय थलसेना के चीफ रह चुके थे और  1 जनवरी, 2020 को जनरल बिपिन रावत को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS)  बनाया गया. CDS अधिकारी के रूप में पहचान बनाने वाले बिपिन रावत का काम थे तीनों सेनाओं यानी थलसेना, जलसेना एवं वायुसेना का कार्य देखना.

बिपिन रावत का जन्म, शिक्षा और जीवन (Bipin Rawat Birth, Education, Early Life)

CDS General Bipin Rawat  का जन्म 16 मार्च 1958 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल मे हुआ। बिपिन रावत  का परिवार गढ़वाल के उत्तराखंड के राजपूत परिवार से तौल्लुक रखता था । बिपिन रावत के पिताजी का नाम लेफ्टिनेंट लक्ष्मण सिंह रावत सेना से लेफ्टिनेंट जनरल के पद से सेवानिवृत्त हुए. General Bipin Rawat  ने 1978 में ग्यारहवीं गोरखा राइफल की पांचवी बटालियन से अपने करियर की शुरुआत की । बिपिन रावत  ने प्रारम्भिक शिक्षा देहरादून के कैंबरीन हॉल स्कूल, शिमला के सेंट एडवर्ड स्कूल और भारतीय सैन्य अकादमी पूरी की फिर जहां बिपिन रावत को ‘SWORD OF HONOUR’  से सम्मानित किया गया। इसके बाद पढाई करने अमेरिका चले गए वह से इन्होने डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज स्नातक किया और इसके साथ साथ हायर कमांड का कोर्स भी पूरा किया. स्वदेश लौटने के बाद उन्होंने मद्रास यूनिवर्सिटी से डिफेंस स्टडीज में एमफिल की उपाधि ली और  प्रबंधन में डिप्लोमा और कम्प्यूटर स्टडीज में भी डिप्लोमा किया है। 2011 में उन्हें सैन्य-मीडिया सामरिक अध्ययनों पर अनुसंधान के लिए चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय , मेरठ द्वारा डॉक्टरेट ऑफ़ फिलॉसफी से सम्मानित किया गया।  

बिपिन रावत  सैन्य सेवाएँ (Bipin Rawat Military Services)

  • बिपिन रावत  को 16 दिसंबर 1978 को 11 गोरखा राइफल्स की 5वीं बटालियन में नियुक्त किया गया, जो उनके पिता की ही यूनिट थी. उन्होंने आतंकवाद विरोधी अभियानों का संचालन करते हुए दस साल बिताए.
  • बिपिन रावत  एक मेजर के रूप में उरी, जम्मू और कश्मीर में एक कंपनी की कमान संभाली। कर्नल के रूप में उन्होंने किबिथू में एल ओ सी (LOC) के साथ पूर्वी सेक्टर में अपनी बटालियन 11 गोरखा राइफल्स की कमान संभाली.
  • ब्रिगेडियर के पद पर चुने जाने के बाद , उन्होंने सोपोर में राष्ट्रीय राइफल्स के 5 सेक्टर का मोर्चा संभाला.
  • इसके बाद उन्होंने कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में एक अध्याय VII मिशन में एक बहुराष्ट्रीय ब्रिगेड की कमान संभाली, जहाँ उन्हें दो बार फ़ोर्स कमांडर्स कमेंडेशन से सम्मानित किया गया.
  • मेजर जनरल के पद मिलने के बाद बिपिन रावत  ने 19वीं इन्फैंट्री डिवीजन (उरी) के जनरल ऑफिसर कमांडिंग के रूप में पदभार संभाला। एक लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में, उन्होंने पुणे में दक्षिणी सेना को संभालने से पहले, दीमापुर में मुख्यालय वाली कोर की कमान संभाली.
  • मेजर जनरल ने इंडियन मिलिट्री अकादमी (देहरादून) में एक अनुदेशात्मक कार्यकाल, सैन्य संचालन निदेशालय में जनरल स्टाफ ऑफिसर ग्रेड 2, मध्य भारत में एक पुनर्गठित आर्मी प्लेन्स इन्फैंट्री डिवीजन के लॉजिस्टिक्स स्टाफ ऑफिसर, कर्नल सहित स्टाफ असाइनमेंट भी संभाला। सैन्य सचिव की शाखा में सैन्य सचिव और उप सैन्य सचिव और जूनियर कमांड विंग में वरिष्ठ प्रशिक्षक। उन्होंने पूर्वी कमान के मेजर जनरल जनरल स्टाफ (एमजीजीएस) के रूप में भी काम किया.
  • सेना कमांडर ग्रेड में पद मिलने के बाद, बिपिन रावत  ने 1 जनवरी 2016 को दक्षिणी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ का पद संभाला । इसके बाद  उन्होंने थल सेना के उप प्रमुख का पद ग्रहण किया.
  • 17 दिसंबर 2016 को भारत सरकार ने उन्हें 27 वें थल सेना प्रमुख के रूप में नियुक्त किया.
  • बिपिन रावत  गोरखा ब्रिगेड के थल सेनाध्यक्ष बनने वाले तीसरे अधिकारी थे, 2019 में संयुक्त राज्य अमेरिका की अपनी यात्रा पर, जनरल रावत को यूनाइटेड स्टेट्स आर्मी कमांड और जनरल स्टाफ कॉलेज इंटरनेशनल हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल किया गया था। वह नेपाली सेना के मानद जनरल भी थे। भारतीय और नेपाली सेनाओं के बीच एक-दूसरे के प्रमुखों को उनके करीबी और विशेष सैन्य संबंधों को दर्शाने के लिए जनरल की मानद रैंक प्रदान करने की परंपरा रही है
  • बिपिन रावत आर्मी चीफ से 31 दिसंबर 2019 को रिटायर होने के बाद भारत के सबसे पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ नियुक्य किये गए.

बिपिन रावत पुरस्कार (Bipin Rawat Award)

Param Vishisht Seva Medal
परम विशिष्ट सेवा मेडल
Uttam Yudh Seva Medal
उत्तम युद्ध सेवा मेडल
Ati Vishisht Seva Medal
अति विशिष्ट सेना मेडल
Yudh Seva Medal
युद्ध सेवा पदक
Sena Medal
सेना मेडल
Vishisht Seva Medal
विशिष्ट सेवा पदक
Samanya Seva Medal
सामान्य सेवा मेडल
Operation Parakram Medal
ऑपरेशन पराक्रम मेडल
Sainya Seva Medal
सैन्य सेवा मेडल
High Altitude Service Medal
उच्च ऊंचाई सेवा पदक
Videsh Seva Medal
विदेश सेवा मेडल

 

बिपिन रावत सेना आर्मी चीफ (Bipin Rawat Army Chief)

सेना प्रमुख पद संभाला
31 दिसंबर 2016
सेना प्रमुख पद से इस्तीफा
31 दिसंबर 2019
सेना प्रमुख पद पर सेवायें
3 वर्ष

 

बिपिन रावत देश के पहले CDS अधिकारी (Bipin Rawat CDS)

सेना प्रमुख से इस्तीफा
31 दिसंबर 2019
CDS अधिकारी 
1 जनवरी 2020 को कार्य संभाला

 

बिपिन रावत को मिले रैंक की झलक ( Bipin Rawat Career Ranks Summery )

पद का नाम
अपॉइंटमेंट की तारीख
सेकंड लेफ्टिनेंट
16 दिसंबर 1978
लेफ्टिनेंट
16 दिसंबर 1980
कप्तान
31 जुलाई 1984
प्रमुख
16 दिसंबर 1989
लेफ्टिनेंट कर्नल
1 जून 1998
कर्नल
1 अगस्त 2003
ब्रिगेडियर
1 अक्टूबर 2007
मेजर जनरल
20 अक्टूबर 2011
लेफ्टिनेंट जनरल
1 जून 2014 
सामान्य (सीओएएस)
1 जनवरी 2017
सामान्य (सीडीएस)
30 दिसंबर 2019

 

सीडीएस बिपिन रावत का निधन 

सीडीएस बिपिन रावत 08 दिसंबर 2021 की  सुबह स्पेशन विमान MI-17 से दिल्ली से वेलिंगटन (तमिलनाडु) के लिए निकले, उनके साथ उनकी धर्मपत्नी मधुलिका और अन्य 11 लोग भी थे। अपनी ताम के साथ बिपिन रावत 11.34 बजे सुलूर पहुंचे। सुलूर से वह 11.48 बजे mi-17 v5  से वेलिंगटन के लिए रवाना हुए। वहां उन्हें स्टाफ कॉलेज में लेक्चर देना था। सुलूर और वेलिंगटन के बीच कन्नूर के पास उनका विमान क्रैश हो गया। कन्नूर स्थित नीलगिरी की पहाड़ियों मे उनका विमान क्रैश हो गया। हेलीकॉप्टर में बिपिन रावत, उनकी पत्न सहित 14 लोग सवार थे। इस दुर्घटनग्रस्त में 13 लोगों की जान चली गई। 

 

FAQ

Q.1  बिपिन रावत कौन थे ?
Ans. बिपिन रावत भारत के पहले सीडीएस थे।

Q.2 बिपिन रावत का जन्म कब हुआ?
Ans. बिपिन रावत का जन्म 16 मार्च 1958 को हुआ।

Q.3 बिपिन रावत का निधन कब हुआ ?
Ans. बिपिन रावत का निधन 08 दिसंबर 2021 को एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना हो गया।

Q.4 बिपिन रावत की सैलरी कितनी थी ?
Ans. 2,50,000 रूपये प्रतिमाह साथ ही अन्य भत्ता

Q.5 बिपिन रावत के कितने बच्चे है ?
Ans. 2 बेटियां

Q.6 बिपिन रावत की पत्नी का नाम क्या था ?
Ans. मधुलिका रावत

यह भी पढ़े

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here