लाल बहादुर शास्त्री जी का जीवन परिचय (Lal Bahadur Shastri Biography In Hindi)

लाल बहादुर शास्त्री जीवनी और मृत्यु इतिहास हिंदी में, जयंती ,मृत्यु ,निधन, भारत के दूसरे प्रधानमंत्री, परिवार, पत्नी, बच्चे, जाति, धर्म, उम्र, मृत्यु, निधन (Lal Bahadur Shastri Biography and Death History In Hindi, birthday ,Death, age, history ,quotes , essay)

लाल बहादुर शास्त्री जी हमारे देश के द्वितीय (Second) प्रधानमंत्री थे। नेहरू जी का स्वर्गवास  हो जाने के कारण इनको 09 जून 1964 को  भारत का प्रधानमंत्री (prime minister) मनोनीत (appoint) किया गया और वे पुरे 18 महीने तक इस पद पर रहे।  कर्मठ ईमानदार एवं शांत स्वभाव के शास्त्री जी एक महान स्वत्रंता संग्रामी  भी थे और वे नेहरू गाँधी के विचारो से प्रेरित थे. 1965 के भारत पाकिस्तान युद्ध में उन्होंने देश को संभाले रखा और हमारी सेना को समय समय पर सही निर्देश दिए और उन्होने अपना सबसे लोकप्रिय नारा जय जवान जय किसान  इसी समय दिया और शास्त्री जी को भारत का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सन 1966 में सम्मानित किया गया।

लाल बहादुर शास्त्री जी का जीवन परिचय (Lal Bahadur Shastri Biography In Hindi)

पूरा नाम लाल बहादुर शास्त्री
उपनाम मैन ऑफ पीस
जन्म की तारीख 2 अक्टूबर 1904
जन्म स्थान   मुग़लसराय, उत्तर प्रदेश
मृत्यु की तारीख 11 जनवरी 1966
मृत्यु स्थान  ताशकन्द, उज़्बेकिस्तान
माता का नाम राम दुलारी
पिता का नाम मुंशी शारदा प्रसाद श्रीवास्तव
पत्नी का नाम ललिता देवी
बच्चे 4 लड़के, 2 लड़कियां
धर्म हिन्दू
जाति  कायस्थ
शिक्षा महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ
राजनैतिक पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस

 

लाल बहादुर शास्त्री का जन्म, परिवार (Lal Bahadur Shastri Birth, Family)

लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म 02 अक्टूबर 1904 को  उत्तर प्रदेश के शहर वाराणसी से 7 मील दूर  मुगलसराय के एक कायस्थ परिवार में हुआ इनके पिता का नाम मुंशी शारदा प्रसाद श्रीवास्तव था, वे एक प्राथमिक विधालय में शिक्षक थे सभी लोग उन्हें मुंशी जी बुलाते थे बाद में उन्होंने राजस्व विभाग में नौकरी कर ली थी और इनकी माता जी का नाम राम दुलारी था, शास्त्री जी अपने माता-पिता की दूसरी संतान और सबसे बड़े पुत्र थे। उनकी एक बड़ी बहन थी, कैलाशी देवी।

अप्रैल 1906 में, जब शास्त्री जी मुश्किल से एक साल और 6 महीने के थे तब उनके पिता जी डिप्टी तहसीलदार के पद पर पदोन्नत किया गया थे, तभी शास्त्री जी के सर से बुबोनिक प्लेग की महामारी के चलते पिता का साया हट गया।  श्रीमती रामदुलारी देवी, तब मुश्किल से 23 वर्ष की रही होंगी उस समय तीसरा बच्चा उनके गर्भ में था, उनकी अच्छी  देखभाल हो सके इसलिए वे अपने दो बच्चों को लेकर रामनगर से मुगलसराय अपने पिता के घर रहने आ गई और वहीं रहने लगी । इस प्रकार, शास्त्री जी और उनकी बहनें अपने नाना हजारी लालजी के घर में पली-बढ़ीं  हालाँकि, 1908 के मध्य में ह्रदय गति रुकने की वजह से हजारी लालजी की मृत्यु हो गई, जिसके बाद परिवार की देखभाल उनके भाई (शास्त्री जी के परदादा) दरबारी लाल जी ने की, जो गाजीपुर में अफीम विनियमन विभाग में प्रधान लिपिक थे |

लाल बहादुर शास्त्री जी की शिक्षा,आरंभिक जीवन (Lal Bahadur Shastri,Education

शास्त्री जी की प्राथमिक शिक्षा मिर्ज़ापुर से हुई एवं आगे का अध्ययन इन्होने हरिश्चन्द्र हाई स्कूल और काशी-विद्यापीठ से किया. शास्त्री जी ने अपनी स्नातक की शिक्षा सनातन धर्म की सबसे पुरानी भाषा संस्कृत से पूर्ण की और उसके बाद इन्होंने काशी विद्या पीठ से शास्त्री की उपाधि ग्रहण की। जिसके बाद हर जगह उन्हें शास्त्री जी के नाम पुकारा जाने लगा

शास्त्री जी की उपलब्धियां (Shastri’s achievements)

  • भारत की स्वतंत्रता के बाद, शास्त्री जी को उनके गृह राज्य, उत्तर प्रदेश में संसदीय सचिव नियुक्त किया गया। वह 15 अगस्त 1947 को गोविंद बल्लभ पंत के मुख्यमंत्रित्व काल में पुलिस और परिवहन मंत्री बने.
  • 1951 में शास्त्री को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का महासचिव बनाया गया.
  • जवाहरलाल नेहरू का निधन 27 मई 1964 को कार्यालय में हुआ। 9 जून को शास्त्री जी को प्रधानमंत्री बनाने में कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के. कामराज की महत्वपूर्ण भूमिका थी। शास्त्री जी हालांकि मृदुभाषी थे, नेहरूवादी समाजवादी थे और इस प्रकार रूढ़िवादी दक्षिणपंथी मोरारजी देसाई की चढ़ाई को रोकने के इच्छुक लोगों से अपील करते थे.

11 जून 1964 को प्रधान मंत्री के रूप में अपने पहले प्रसारण में, शास्त्री जी ने कहा:

  • प्रत्येक राष्ट्र के सामने कभी न कभी ऐसा समय आता है जब वह इतिहास के चौराहे पर खड़ा होता है और उसे चुनना होता है कि किस रास्ते पर जाना है। लेकिन हमारे लिए कोई कठिनाई या झिझक नहीं, दाएँ या बाएँ देखने की जरूरत नहीं है। हमारा रास्ता सीधा और स्पष्ट है, सभी के लिए स्वतंत्रता और समृद्धि के साथ  घर में एक समाजवादी लोकतंत्र का निर्माण, और विश्व शांति और सभी देशों के साथ मित्रता बनाए रखना।
  • 1965 के भारत-पाक युद्ध के दौरान उनके द्वारा दिए गए उत्कृष्ट नारे (जय जवान जय किसान )के लिए सूचना और प्रसारण मंत्रालय (भारत) ने शास्त्री को उनकी मृत्यु के 47 वर्ष बाद भी उनके 48वें शहीद दिवस पर याद किया।

शास्त्री जी की मृत्यु (Shastri’s death)

ऐसा कहा जाता है कि रूस एवं अमेरिका के दबाव पर शास्त्री जी शान्ति-समझौते पर हस्ताक्षर करने हेतु  पाकिस्तान के राष्ट्रपति अयूब खान से उज़्बेकिस्तान की राजधानी ताशकंद में मिले .विशेषज्ञों द्वारा कहा जाता है, उन पर किसी तरह का दबाब था समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए. हस्ताक्षर करने के बाद उसी रात  तारीख 11 जनवरी 1966 को उनकी  मृत्यु हो गई. और मृत्य का कारण दिल का दौरा पड़ना बताया गया , संदेह करने वाले कहते है कि शास्त्री जी का पोस्टमार्टम नहीं किया गया था, उन्हें जहर दिया गया था, जो शायद किसी कि सोची समझी साज़िश थी, शास्त्री जी की मौत की गुत्थी आज भी जस की तस एक राज़ बनी हुई है. उनकी मौत के बारे में अलग अलग लोगो ने अलग अलग मत रखे है जो हमने आपके सामने पेस किये है, शास्त्री जी की मौत के रहस्य के ऊपर एक फिल्म भी बनाई गयी है जिसका नाम The Taskent Files है.  शास्त्री जी की असमय मृत्यु हो जाने के कारण 18 महीने ही भारत के प्रधान मंत्री के रूप में कमान सम्भाली. इनकी मृत्यु के बाद पुनः गुलजारी लाल नन्दा को कार्यकालीन प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया. इनकी अन्त्येष्टि यमुना नदी के किनारे की गई एवं उस स्थान को ‘विजय-घाट’ का नाम दिया गया .

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने आपको विस्तार से बताया लाल बहादुर शास्त्री जीवनी और मृत्यु इतिहास हिंदी में, जयंती ,मृत्यु ,निधन, भारत के दूसरे प्रधानमंत्री, परिवार, पत्नी, बच्चे, जाति, धर्म, उम्र, मृत्यु, निधन (Lal Bahadur Shastri Biography and Death History In Hindi, birthday ,Death, age, history ,quotes , essay) ये जानकारी आपको किसी लगी जरूर बताएं। ऐसी ही रोचक जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट पर आते रहे।

FAQ

Q : लाल बहादुर शास्त्री का उपनाम क्या है?
Ans : शांति दूत

Q : लाल बहादुर शास्त्री की हत्या कब हुई?
Ans : 11 जनवरी 1966

Q : लाल बहादुर शास्त्री को भारत रत्न कब दिया गया?
Ans : 1966 में 

Q : लाल बहादुर शास्त्री का जन्म कब हुआ ?
Ans :20 अक्टूबर 1904

Q : लाल बहादुर शास्त्री दूसरे प्रधानमंत्री कब बने?
Ans :  9 जून 1964 से 11 जनवरी 1966 तक 

यह भी पढ़े

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here