उत्तरी कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन का जीवन परिचय | Kim Jong un biography In Hindi

किम जोंग उन का जीवन परिचय (नियम एवं कानून, धर्म, वाइफ, लेटेस्ट न्यूज़, बहन, पत्नी, कहानी, बेटा, बेटी, तानाशाही, ताजा खबर, के बारे में, रोचक तथ्य ) (Kim jong un biography In Hindi, Birthday, wife, Sister, son, Age, weight, Book, Family, Children, News, net worth, movie )

लेटेस्ट न्यूज़ – हाइपरसोनिक मिसाइल का परीक्षण – मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 2022 की शुरुवात किम जोंग उन ने हाइपरसोनिक मिसाइल का परीक्षण से की है. और ये मिसाइल का परीक्षण काफी हद तक सफल भी हुआ है क्यों कि यह मिसाइल 700 किलोमीटर  (435 मील)  दूर तक सटीक निशाना लगा सकती है. इन सभी वजहों से उत्तर कोरिया और जापान के बीच तनाव फिर से बढ़ सकता है।

दोस्तों आज मैं आपको उत्तरी कोरिया के तानाशाह नेता के बारे में जानकारी प्रदान करने वाला हूं जो आज के समय में लगातार विवादो के घेरे में आते रहे हैं जिसका नाम है किम जोंग उन। जी हां किम जोंग उन अपने तानाशाह रवैये की वजह से ज्यादा चर्चे में हैं। आज हम उत्तरी कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन का जीवन से जुड़ी सभी विशेष तथ्यों के बारे में जानेंगे और समझेंगे कि आखिर किम जोंग उन कैसे व्यक्ति है।

किम जोंग उन का जीवन परिचय | Kim Jong un biography In Hindi

नाम (Name) किम जोंग उन
जन्म तारीख (Date of Birth) 8 जनवरी 1984
जन्म स्थान (Birth Place) फियोंगयांग, उत्तरी कोरिया
नागरिकता (Nationality) उत्तर कोरिया
पत्नी का नाम (Wife’s Name) री सोल जू
बच्चे का नाम (Child’s name) किम जू ए
पिता का नाम (father’s name) किम जोंग इल (उत्तर कोरिया के पूर्व सर्वोच्च नेता)
माता का नाम (mother’s name) को योंग हुई
कॉलेज किम सुन विश्वविद्यालय

किम जोंग उन का शुरुआती जीवन (Kim Jong Un Early Life)

किम जोंग उन एक ऐसे व्यक्ति है जिनका जन्म कब और कहा हुआ था ये आज भी किसी को नहीं पता। कहने का तात्पर्य यह है कि आज भी यह बात रहस्यमय बना हुआ है कि आखिर किम जोंग उन का जन्म कहा और कब हुआ था। लेकिन कहा ये जाता है कि किम जोंग उन का जन्म 8 जनवरी 1984 को फियोंगयांग उत्तरी कोरिया में हुआ था। किम जोंग उन के पिता का नाम किम जोंग इल और माता का नाम को योंग हुई है। इनके पिता के 6 बच्चे है जिनमे से एक है किम जोंग उन। यही नहीं इसके अलावा इसकी किम जोंग इल एक ओपेरा सेंगर भी थी।

जानकारी के मुताबिक किम जोंग के पिता उत्तर कोरिया की मिलिट्री के पूर्व सर्वोच्च नेता थे या यह कह सकते हैं कि ये कम्युनिस्ट पार्टी के लीडर है। साल 1994 में इनका शासन यहां पर शुरू हुआ था।  साल 2004 में किम जोंग इल ने अपना उत्तराधिकारी किम जोंग उन को बनाने की घोषणा कर दिया था।

कहा जाता है कि किम जोंग इल को अपने 6 संतान में से अपना उत्तराधिकारी की खासियत किम जोंग उन में ही दिखाई देती है। जिसकी वजह से अपने 6 संतान में से किम जोंग को ही उत्तराधिकारी बनाने का निर्णय किम जोंग इल ने लिया था। तो चलिए अब हम आगे के पोस्ट में किम जोंग उन ने अपनी शुरुआती शिक्षा कहां से शुरू किया था ये जानकारी साझा करने वाले हैं। इसलिए कही मत जाइए और बने रहे हमारे साथ।

किम जोंग उन की शिक्षा (Kim Jong Un Education) 

किम जोंग उन ने अपनी पढ़ाई की शुरुआत किम इल- सुंग मिलिट्री यूनिवर्सिटी से हुआ था। जिसके पश्चात इनकी मां ने इन्हें स्विट्ज़रलैंड में अपनी शिक्षा को बेहतर करने के लिए भेजा था। इसके अलावा किम जोंग उन के पिता इन्हें पढ़ाई के साथ ही साथ उत्तराधिकारी के क्या मान्य रहते हैं वगैरह वगैरह भी सिखाने लगें।

चौका देने वाली बात तो यह है कि जब किम जोंग उन केवल 20 साल के ही थे तभी इन्होंने अपनी शासन की पूरी भाग दौड़ अपने ऊपर उठा लिया था। एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2011 में किम जोंग उन के पिता का देहांत हो गया था जिसके एक साल पश्चात यानी कि साल 2012 में ही इन्होंने उत्तर कोरिया की राज सिंहासन की कमान प्राप्त कर लिया था।

किम जोंग उन का परिवार (kim jong un family)

एक रिपोर्ट के मुताबिक किम जोंग उन ने शादी भी कर लिया है और किम जोंग उन वाइफ का नाम री सोल जू है। इनकी शादी साल 2009 में हुई थी। किम जोंग उन की वाइफ का जन्म 28 सितंबर को 1989 में हुआ था। किम जोंग उन का संतान भी है जिसका नाम किम जुअए है। यही नहीं कहा जाता है कि किम जोंग उन ने अपनी पत्नी के लिए कई सारे रूल्स भी बनाए है। उन नियमों में से एक यह है कि विवाह के बाद वे अपने परिवार से कभी भी नहीं मिल सकती है।

  • किम जोंग उन ने अपनी पत्नी के लिए यह नियम बनाया है कि वो किसी त्योहार, पार्टी फंक्शन के अलावा कही नहीं जा सकती है।
  • किम जोंग उन के इजाजत के बगैर इनकी पत्नी की कोई फोटो नही खीच सकता है।
  • इन्होंने अपनी पत्नी के लिए यह भी नियम बनाया है कि जब तक इन्हें बेटा न हो जाए तब तक वे अपनी गर्भवती की सूचना किसी को भी नहीं दे सकती है और दो बेटियों के बाद आखिर में इन्हे एक बेटा हो ही गया।

किम जोंग उन का करियर (kim jong un Career)

जब किम जोंग उन के पिता का  देहांत हुआ उसके बाद किम जोंग उन को नेता बना दिया गया। पहली बार सत्ता में कदम रखने के बाद किम जोंग उन ने अपने कई सारे मनमौजी रूल्स बनाए थे। जो भी व्यक्ति किम जोंग उन की बनाई गई नियमों को तोड़ता उन्हे कड़ी से कड़ी सजा दी जाती है।

किम जोंग उन अपने पिता के पोस्ट की वजह से नेता बने। क्योंकि किम जोंग उन के पिता नॉर्थ कोरिया के सुप्रीम नेता थे। एक रिपोर्ट के मुताबिक जब से किम जोंग उन ने अपने पिता के पोस्ट को संभाला है तब से कई सारे नियम को लागू किया गया है और नियमो के पालन न करने पर सबको सजा भी दी जाती है।

किम जोंग उन के अजीबोगरीब नियम एवं कानून

चलिए दोस्तों अब हम आपको किम जोंग उन के माध्यम से बनाए गए कुछ ऐसे रूल्स बताएंगे जिसे सुनकर आप भी चौंक जाएंगे।

  • नॉर्थ कोरिया में केवल सरकारी कर्मचारी को ही कार खरीदने की इजाजत है।
  • नॉर्थ कोरिया के राजधानी में किसी आम व्यक्ति को रहने की इजाजत नहीं है। कहने का तात्पर्य यह है कि यहां पर केवल सरकारी कर्मचारी ही रह सकते हैं।
  • यहां पर किम जोंग उन के नियमो के अनुसार केवल 28 प्रकार के ही हेयर कट की इजाजत है। इन 28 में से 10 हेयर कट पुरुष तथा 18 हेयर कट महिलाओं के है।
  • यदि कोई भी पुरुष या महिला इन सब हेयर कट के अलावा कोई भी हेयर कट करवाने की कोशिश भी करेगा तो उन्हें सजा सुनाई जाती है।
  • हमारे यहाँ अभी वर्ष 2022 चल रहा है लेकिन नॉर्थ कोरिया में वर्ष 111 चल रहा है क्यों कि इसके पीछे की एक अजीब सी वजह यह है कि नॉर्थ कोरिया का जुचे कैलेंडर सभी देशो से बिल्कुल अलग है. इस देश का जुचे कैलेंडर पूर्व तानाशाह और संस्थापक किम इल सुंग के जन्म की तारीख 15 अप्रैल 1912  से शुरू होता है।
  • उत्तर कोरिया में कोई अपराध करके पकड़ा जाता है तो उसकी पुरे परिवार को सजा मिलती है. मतलब कि तीनो पीढ़ी को सजा का प्रावधान होता है।
  •  उत्तर कोरिया में हर साल चुनाव होते है लेकिन यहाँ पर किम जोंग उन का परिवार ही चुनाव में खड़ा होता है और वही जीतता है. फिर चाहे वो मेयर का चुनाव हो, या फिर विधानसभाओं का, हर जिले में केवल एक ही उम्मीदवार होता है वो है किम जोंग उन का परिवार।
  • उत्तर कोरिया में सिर्फ तीन टेलीविजन चैनल होते है वो भी सिर्फ सरकार के नियंत्रण द्वारा प्रोग्राम चलाते है और वहा पर मीडिया का पूरा कण्ट्रोल सरकार के हाथ में होता है।
  • उत्तर कोरिया में सिर्फ एक ही कम्पनी इन्टरनेट प्रोवाइड करवाती है और वो भी सिर्फ कोरियाई भाषा में, और यहाँ सिर्फ 605 लोग ही इन्टरनेट का इस्तमाल करते है।
  • यहाँ का सबसे अजीबोगरीब कानून तो ये है कि कोई भी स्टूडेंट स्कूल जाता है तो उसे खुद की टेबल और कुर्सी भी खुद को ही मुहैया करानी होती है।
  • उत्तर कोरिया में सभी टीचर को हारमोनियम बजाना आना चाहिए, अगर नही आता तो उसे सजा भी दी जा सकती है।
  • नॉर्थ कोरिया में कोई पोर्न नही देख सकता है, अगर पकड़ा गया तो सीधे फांसी की सज़ा दी जाती है।
  • नॉर्थ कोरिया में साक्षरता की दर काफी कम है वजह है गरीबी, लेकिन नॉर्थ कोरिया का दावा ये है कि यहाँ की साक्षरता दर अमेरिका के बराबर है।
  • नॉर्थ कोरिया की सरकार ने नॉर्थ कोरिया और दक्षिण कोरिया के बॉर्डर पर एक गावं बसाया है जिसका नाम है ‘प्रोपेगेंडा गांव’, इस गावं में बड़ी-बड़ी बिल्डिंग और आधुनिक उपकरण जैसी चीज़े लगा रखी है ताकि लोगो को ये लगे कि नॉर्थ कोरिया आर्थिक तरक्की कर रहा है।
  • ऐसे बेमतलब के कई सारे रूल्स है जिन्हें किम जोंग उन के द्वारा बनाया गया है और इसका पालन करना भी जरूरी है नही तो सजा सुनाई जाती है।

दिमाग को सुन्न कर देने वाली यातनाएं

अब हम आपके लिए आगे के पोस्ट में एक ऐसी रिपोर्ट लेकर आए हैं जिसके बारे में जानकर आप चौक जायेंगे और आपका दिमाग भी सुन्न हो जाएगा या हो सकता है कि आपका भी इंसानियत के ऊपर से भरोसा उठ जाएगा। तानाशाह किम जोंग उन ने इंसानियत को ऐसे तार तार कर दिया है जिसे सुनकर न केवल गुस्सा बल्कि इस तानाशाह के लिए बद्दुआ भी निकल जाएगी।

नॉर्थ कोरिया में इस तानाशाह ने सबका जीना दुश्वार कर दिया है। यहां के जेलों और यातना कैंपों में केवल कैदियों के शरीर को ही जख्म नहीं बल्कि कैदियों के रूह को भी जख्मी किया जाता है। यहां के कैदियों को ऐसे जेल में बंद किया जाता है जहां पर कैदी न खड़ा रह सकते हैं ना लेट सकते हैं और ना ही बैठ सकते हैं। उनको जेल नही बल्कि कुत्तों के पिंजरे जैसे स्थान पर रखा जाता है।

120 शिकारी कुत्तों के बीच अपने फूफा को ही छोड़ दिया

किम जोंग उन नाम का यह तानाशाह नेता न सिर्फ अपनी जनता पर जुर्म करता है बल्कि इसने तो अपने परिवार के लोगों को भी नहीं छोड़ा। जी हां दोस्तों कहा जाता है कि इसने वर्ष 2013 में खुद के सगे फूफा को ही दर्दनाक मौत दे दिया था। किम जोंग उन ने अपने ही सगे फूफा को 120 शिकारी कुत्तों के हवाले कर दिया था और इस तानाशाह के सामने ही इसके शिकारी कुत्तों ने इसके फूफा को नोच नोच कर खा गया। हुआ यूं कि किम जोंग उन को सियासत की सभी चीज इनके फूफा ने ही इन्हें सिखाया था। लेकिन इस बद्दिमाग को ऐसा लगने लगा की फूफा का कद मेरे से भी ऊंचा है इसलिए इसने अपने फूफा को इतनी खौफनाक मौत दे डाली।

अपनी ही बुआ को दिया जहर

फूफा के मौत के बाद किम जोंग उन की बुआ ने कई सवाल उठाए और साथ ही वे इस तानाशाह के खिलाफ हो गई। जिसकी वजह से इस तानाशाह को गुस्सा आया और उसने अपनी ही बुआ को जगह देकर मार डाला और घोषणा कर दिया कि उनकी बुआ का मौत हार्ट अटैक से हुआ। इस बात का खुलासा 2015 में उत्तर कोरिया से भागे एक अधिकारी ने किया था।

तानाशाह ने झपकी की सजा सुनाई मौत

संकी किम जोंग उन की कई सारे किस्सों में से एक यह भी है कि इसने झपकी की सजा मौत दी है। जी हां दोस्तों आपको ये सुनकर थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन यह सच है हुआ यूं कि एक मीटिंग के दौरान एक महिला अधिकारी ने किम जोंग उन के सामने झपकी मार रही थी और तभी किम जोंग की नजर उस पर पड़ी। तो गुस्से में आकर किम जोंग उन ने उसे फांसी की सजा सुना दिया।

निष्कर्ष : दोस्तों तो यह था उत्तरी कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन का जीवन परिचय । आज के पोस्ट में मैंने आपको किम जोंग उन जैसे क्रूर व्यक्ति की पूरी जानकारी प्रदान कर दिया है। यदि आपको हमारा यह किम जोंग उन की कहानी का पोस्ट पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें।

FAQ

Q : दक्षिण कोरिया का राजा कौन है?
Ans : किम जोंग उन

Q : किम जोंग उन की उम्र कितनी है?
Ans : 37 वर्ष (8 जनवरी 1984)

Q : किम जोंग उन वाइफ का नाम क्या है?
Ans : री सोल जू

Q : साउथ कोरिया का तानाशाह कौन है?
Ans : किम जोंग उन

Q : किम जोंग उन कौन है?
Ans : साउथ कोरिया का तानाशाह

 

यह भी पढ़े

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here