शहबाज शरीफ का जीवन परिचय | Shehbaz Sharif Biography in hindi

शहबाज शरीफ का जीवन परिचय, बायोग्राफी, पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री, आयु, जन्मदिन, घर, परिवार, धर्म, राजनैतिक करियर, शिक्षा, विवाह, तलाक, कुल संपत्ति, परिवार, विवाद, नेटवर्थ, (Shehbaz Sharif Biography in hindi, Pakistan Political , Religion, new prime minister of Pakistan,  Cast,  House, Age, Birthday, Family, Cars, Child, Education, wife, Marriage, Net Worth)

पाकिस्तान की राजनीती के एक बार फिर से उथल पुथल देखने को मिल रही है. नेशनल असेंबली पाकिस्तान में विपक्षी पार्टियों ने वर्तमान प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव (No-Confidence Motion) पेश किया है. पाकिस्तान संसद में कुल 342  सांसद है. तो वही इमरान खान को फ्लोर टेस्टिंग के लिए 172 सांसदों का वोट चाहिए लेकिन इमरान के समर्थन में कोई भी सांसद आगे नही आये. और इमरान खान ने अपनी सत्ता से हाथ धो बेठे. इमरान सरकार गिरने के बाद अब पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के छोटे भाई शहबाज शरीफ के नेतृत्व में नई सरकार बनने जा रही है.

तो आज के इस लेख में हम आपको पाकिस्तान के नए प्धानमंत्री शहबाज शरीफ का जीवन परिचय (Shehbaz Sharif Biography in hindi) के बारे में पूरी जानकरी देने वाले है.

Shehbaz Sharif

शहबाज शरीफ का जीवन परिचय (Shehbaz Sharif Biography in hindi)

नाम (Name) शहबाज शरीफ (Shehbaz Sharif)
असली नाम (Real Name) मियां मोहम्मद शाहबाज शरीफ
जन्म तारीख (Date Of Birth) 23 सितंबर 1951
जन्म स्थान (Place) लाहौर, पंजाब, पाकिस्तान
उम्र (Age) 71 साल
धर्म (Religion) सुन्नी इस्लाम
व्यवसाय  (Business) राजनेता और व्यापारी  
राजनीतिक दल (Political Party) पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज़)
शिक्षा (Educational Qualification) ग्रेजुएशन
स्कूल (School)
कॉलेज (College) सरकारी कॉलेज, लाहौर
नागरिकता (Nationality) पाकिस्तानी
राशि (Zodiac Sign) तुला
भाषा (Languages) पंजाबी, हिंदी, इंग्लिश     
वैवाहिक स्थिति विवाहित
पहली बार पंजाब (पाकिस्तान) के मुख्यमंत्री 1997-1999
दूसरी बार पंजाब (पाकिस्तान) के मुख्यमंत्री 2008-2013
तीसरी बार पंजाब (पाकिस्तान) के मुख्यमंत्री 2013-2018
नेटवर्थ  7000 करोड़ 

कौन है शहबाज शरीफ (Who Is Shehbaz Sharif)

शहबाज शरीफ का नाम पाकिस्तान में एक जाना माना नाम है. और पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के छोटे भाई भी है। शहबाज पंजाब प्रांत, पाकिस्तान के तीन बार मुख्यमंत्री भी रह चुके है. और 2018 में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद के दावेदार भी थे. उनका स्टील का बहुत बड़ा कारोबार भी है. साल 2020 में उन पर करोड़ो रूपये की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार भी हुए थे लेकिन जल्द ही जमानत भी मिल गई थी.

शहबाज शरीफ का जन्म और परिवार (Shehbaz Sharif Birth and Family )

शहबाज शरीफ का जन्म 23 सितंबर 1951 को लाहौर, पाकिस्तान के एक रहीस बिजनेसमैन परिवार में हुआ. उनके पिता का नाम मुहम्मद शरीफ जो कि एक बिजनेसमैन थे. जो अपने बिजनेस के काम के सिलसिले में अनंतनाग, कश्मीर आते रहते थे. फिर बाद में उनका परिवार अमृतसर में जाकर बस गया था. शहबाज की माताजी पुलवामा की रहने वाली थी. लेकिन 1947 के बंटवारे के बाद शहबाज शरीफ के पिता अपने परिवार के साथ लाहौर, पाकिस्तान में आकर बस गये थे. शहबाज शरीफ के दो बड़े भाई भी है जिनका नाम नवाज शरीफ और अब्बास शरीफ है. शहबाज का लालन पोषण लाहौर में हुआ.

परिवार की जानकारी (family Information)

पिता का नाम मुहम्मद शरीफ
माता का नाम शमीम अख्तर
भाई नवाज शरीफ
अब्बास शरीफ
पत्नी का नाम नुसरत शाहबाज
सदा हनी
तहमीना दुर्रानी
बच्चे  हम्ज़ा शाहबाज़ शरीफ,
सलमान शाहबाज़ शरीफ,
राबिया इमरान

शहबाज शरीफ  का लुक (Shehbaz Sharif’s Look)

रंग काला
लम्बाई 5 फ़ीट 6 इंच
वजन 80 किलो
आँखों का रंग भूरा
बालो का रंग काला

शहबाज शरीफ  की शिक्षा (Shehbaz Sharif Education)

शहबाज ने गवर्नमेंट कॉलेज यूनिवर्सिटी, लाहौर से कला में स्नातक की डिग्री प्राप्त की. पढाई पूरी हो जाने के बाद वह अपने परिवार के इत्तेफाक ग्रुप में शामिल हो गए और साल 1985 में उन्हें लाहौर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री का अध्यक्ष चुना गया।

शहबाज शरीफ की शादी (Shehbaz Sharif Marriage)

शहबाज शरीफ ने पहली शादी साल 1973 में अपनी चचेरी बहन नुसरत शाहबाज से की थी जिनसे दोनों के 4 बच्चे है. सलमान, राबिया, हमजा और जवेरिया. दूसरी शादी 1993 में सदा हनी से की जिनसे एक बेटी हैं। लेकिन बाद में तलाक हो गया. शहबाज शरीफ  ने तीसरी शादी साल 2003 में तहमीना दुर्रानी से की थी.

करुणा नंदी का जीवन परिचय

शहबाज शरीफ  का राजनीतिक सफ़र (Shehbaz Sharif Political Career)

शहबाज शरीफ  ने राजनीतिक में कदम साल 1980 में रखा था. लेकिन 1988 के आम चुनाव में इस्लामिक जम्हूरी इत्तेहाद के उम्मीदवार के रूप में पंजाब प्रांतीय विधानसभा के लिए चुने गए. शहबाज ने 22 हज़ार से ज्यादा वोट जीतकर पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार को पछाड़ा. लेकिन उनका कार्यकाल साल 1990 में ही ख़त्म हो गया था जब विधानसभाओं को भंग कर दिया गया। फिर साल 1990 में आम चुनाव में पंजाब की प्रांतीय विधानसभा के लिए फिर से चुना गया। फिर से उनका कार्यकाल समय से पहले खत्म हो गया. साल 1993 में फिर से तीसरी बार आम चुनाव में पंजाब की प्रांतीय विधानसभा के लिए से चुने गए. और विपक्ष के नेता के रूप में चुने गए. अपने कार्यकाल के दौरान यूनाइटेड किंगडम में अपना इलाज करवाने गए हुए थे तब उनकी गैर हाजरी में चौधरी परवेज इलाही को विपक्ष का अभिनय नेता बनाया गया. उनका कार्यकाल समय से पहले ही साल 1996 में समाप्त हो गया. जब विधानसभाएं भंग कर दी गईं.

पहली बार मुख्यमंत्री के रूप में

साल 1997 के आम चुनाव में पंजाब प्रांतीय विधानसभा के लिए फिर से चुने गए। लेकिन इस बार उन्होंने पहली बार पंजाब प्रान्त के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और औद्योगिक क्षेत्रों बेहतरीन कामों के लिए उनकी प्रशंसा की गई। उन्होंने लाहौर में कई विकास परियोजनाएं शुरू करवाई और प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए और समस्त प्रांत में अपराधियों पर कड़ी कार्यवाही भी करवाई. साल 1999 में जनरल परवेज मुशर्रफ की अगुआई में शहबाज शरीफ  की सरकार का तख्तापलट कर दिया और न्यायिक हत्याओं के आरोप में शहबाज और नवाज को जेल में डाल दिया. साल 2000 में सऊदी अरब में इनके परिवार के सदस्यों के साथ जबरन निर्वासित कर दिया. 8 साल पूरा शरीफ परिवार सऊदी अरब में ही रहा.

दूसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में

साल 2007 में शहबाज अपने बड़े भाई नवाज़ शरीफ से साथ वापिस पाकिस्तान आये. हत्या के आरोपों के चलते शहबाज को 2008 के चुनाव में हिस्सा नही लेने दिया. इसी साल इन पर लगे आरोपों से बरी हो गए. जून 2008 में हुए उपचुनावों में पंजाब प्रांतीय विधानसभा से जीते और दूसरी बार फिर मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. दुर्भाग्यपूर्ण उनका मुख्यमंत्री के रूप में दूसरा कार्यकाल फरवरी 2009 में समाप्त हो गया. पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने उन्हें अपात्र घोषित कर दिया, और उन्हें एक बार फिर से मुख्यमंत्री के पद से हटा दिया गया। लेकिन सुप्रीम कोर्ट की बड़ी बेंच ने शीर्ष अदालत ने इस फैसले को बदल दिया और शहबाज दोबारा मुख्यमंत्री के के पद पर आ गए.

तीसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में

साल 2013 में एक बार फिर से हुए उपचुनावों में पंजाब प्रांतीय विधानसभा से जीते और तीसरी बार फिर से मुख्यमंत्री की गद्दी पर विराजमान हुए. साल 2016 में इन्हें इंट्रा-पार्टी चुनावों में पाकिस्तान के मुस्लिम लीग के पंजाब चैप्टर के अध्यक्ष के रूप में चुना गया.

शाहबाज़ शरीफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री (Shehbaz Sharif Prime Minister)

साल 2018 में सुप्रीम कोर्ट के द्वारा पनामा पेपर्स में नाम आने पर नवाज शरीफ को आम चुनाव में बैन लगा दिया जिसे पश्चात् उनके छोटे भाई शाहबाज़ शरीफ ने पाकिस्तान के मुस्लिम लीग-नवाज़ पार्टी से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बने. हालांकि उनकी पार्टी को हार का सामना करना पड़ा.

शहबाज शरीफ  का विवाद  (Shehbaz Sharif Controversy)

साल 2019 में इन पर भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के चलते केस दर्ज था. साल  2020 में नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्यूरो ने उन्हें और उनके परिवार को गिरफ्तार इस मामले में गिरफ्तार भी किया था. 14 अप्रैल 2021 को सभी जमानत पर बाहर आ गए. और उनकी 23 संपत्तियां को जब्त कर दी गई थीं।

शहबाज शरीफ  की कुल संपत्ति (Shehbaz Sharif Net Worth)

शहबाज शरीफ  एक व्यवसायी हैं और ‘इत्तेफाक ग्रुप’ के मालिक हैं. जिसमे स्टील का कारोबार होता है और ये 1 हज़ार करोड़ डॉलर का बिजनेस है. उनकी नेटवर्थ 7000 करोड़ रूपये है. उनका नाम पाकिस्तान के सबसे अमीर लोगो की सूची आता हैं. 

निष्कर्ष :- तो आज के इस लेख में आपने जाना शहबाज शरीफ का जीवन परिचय (Shehbaz Sharif Biography in hindi) के बारे में.

FAQ

Q : पाकिस्तान के वर्तमान पीएम कौन हैं?
Ans : शहबाज शरीफ वर्तमान में पाकिस्तान के पीएम है.

Q : शहबाज शरीफ का जन्म कब हुआ था?
Ans : उनका जन्म 23 सितंबर 1951 में हुआ था

Q : शहबाज शरीफ की उम्र क्या है?
Ans : 71 वर्ष (23 सितंबर 1951)

Q : शहबाज शरीफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कब बने.
Ans : 10 अप्रैल 2022 को

Q : शहबाज शरीफ का भाई कौन है?
Ans : पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ

यह भी पढ़े

 

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here