Diwali In 2022 : दिवाली कब है, जानिए पांच दिनों के त्योहार के बारे में

दिवाली कब है, धनतेरस कब है, नरक चतुर्दशी कब है, गोवर्धन पूजा कब है, भाई दूज कब है, अन्नकूट कब है, 2022 में दीपावली कब है (Diwali 2022 kab hai, Dhanteras Kab Hai, Govardhan Puja Kab Hai, Bhai Dooj Kab Hai, 2022 Diwali Date, Diwali Puja 2022, , Diwali Festival, chhoti diwali kab hai, deepavali 2022)

Diwali 2022 kab hai – दीपों का महापर्व दीपावली को हर धर्म के लोग बड़ी धूमधाम से मनाते है. यह पर्व सुख-समृद्धि और सौभाग्य लेकर आता है. दीपावली का पर्व हर वर्ष कार्तिक अमावस्या से शुरू होता है और कार्तिक मास के शुक्लपक्ष तक मनाए जाने वाला त्योहार (Diwali In Hindi) है. साल 2022 में दिवाली 24 अक्टूबर सोमवार के दिन है. दीपावली का त्योहार एक नही बल्कि पांच दिनों तक मनाया जाने वाला त्योहार है. इस त्योहार का शुभारम्भ धनतेरस (2022 mein dhanteras kab hai) से होता है और भैया दूज (bhaiya dooj kab hai) पर समापन होता है.पांच दिनों तक मनाए जाने वाले दीपोत्सव महापर्व को अंधकार पर प्रकाश की जीत का प्रतीक माना जाता है.

तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको पांच दिनों के त्योहार के बारे में (what are the 5 days of diwali 2022 in hindi) पूरी जानकारी देने वाले है जिसमे दिवाली, धनतेरस, नरक चतुर्दशी, गोवर्धन पूजा, भाई दूज और अन्नकूट कब है, इसे कैसे मनाया जाना चाहिए और क्या है पूजा का धार्मिक महत्व.

Diwali In 2022
Pic Credit – FreePik

Diwali In 2022 : जानिए पांच दिनों के त्योहार के बारे में

पांच दिनों तक मनाए जाने वाले इस त्योहार का मुख्य कारण यह भी है कि हर इंसान के लिए अपने जीवन में इन पांच बातों को जानना बेहद जरूरी है. इस त्योहार के पांचो दिन जीवन की अहम बातों को दर्शाता है जिसमें प्रेम, धन, प्रकृति, स्वास्थ्य, सद्भाव और मृत्यु का संदेश छिपा है. और यह सभी बाते जीवन को आधार बनाती है. लक्ष्मी को हम लोग पैसे, सोना और चांदी समझते है. लेकिन वास्तविक में ऐसा नही है. लक्ष्मी का शाब्दिक अर्थ है शांति, सुख और समृद्धि से.

1. पहला दिन 22 अक्टूबर धनतेरस
2. दूसरा दिन 23 अक्टूबर छोटी दीपावली
3. तीसरा दिन 24 अक्टूबर बड़ी दीपावली
4. चौथा दिन 26 अक्टूबर गोवर्धन पूजा
5. पांचवा दिन 26 अक्टूबर भाई दूज

 

धनतेरस कब है (Dhanteras Kab Hai 2022)

साल 2022 में दीपावली पर्व की शुरुआत धनतेरस से होती है. इस त्योहार को 22 अक्टूबर शनिवार के दिन मनाया जाएगा. इस दिन धन के देवता कुबेर, माता लक्ष्मी और देवताओं के वैद्य धन्वंतरी की पूजा अर्चना की जाती है. इस दिन सोना, चांदी, बर्तन आदि खरीदते है. ऐसी मान्यता है कि इस दिन बर्तन या फिर सोना, चांदी से बने आभूषण खरीदते है तो परिवार की उन्नति और सुख शांति आती है. इस दिन प्रदोष व्रत भी रखा जाता है. इस साल धनतेरस का पर्व शनि प्रदोष व्रत है और इस बार यम का दिया भी इसी दिन जलाया जाएगा.

नरक चतुर्दशी (छोटी दीपावली) कब है (Chhoti Diwali Kab Hai 2022)

नरक चतुर्दशी का दिन कार्तिक कृष्ण की चतुर्दशी ति​थि को मनाया जाता है. जिसे हम छोटी दिवाली के नाम से जानते है. पश्चिम बंगाल की तरफ नरक चतुर्दशी को काली चौदस के रूप में मानते है. नरक चतुर्दशी के दिन भगवन श्रीकृष्ण ने दैत्य नरकासुर का वध किया था इसलिए इस दिन नरक चतुर्दशी का पर्व मनाते है. साल 2022 में छोटी दिवाली को 23 अक्टूबर रविवार के दिन मनाया जाएगा और रात को काली चौदस की पूजा की जाएगी. इस दिन हनुमान जी का भी जन्म हुआ था तो ऐसे में हनुमान जी के भक्त बजरंगी की विशेष पूजा अर्चना करते हैं.

दीपावली कब है (Diwali Kab Hai 2022)

साल 2022 में दीपावली का पर्व 24 अक्टूबर सोमवार के दिन मनाया जाएगा. यह दिन कार्तिक अमावस्या के दिन आता है. इस पावन पर्व की रात को एक निश्चित समय पर माँ लक्ष्मी, सरस्वती और भगवान गणेश जी की विधि विधान से पूजा की जाती है. और घर और घर के आँगन को दीये की रौशनी से जगमग किया जाता है. पटाके फोड़े जाते है. इस दिन भगवान श्रीराम माता सीता के साथ लंका विजय करके अपने भाई लक्ष्मण के साथ अयोध्या लौटे थे. और इस खुशी में दिवाली मनाई जाती है.

गोवर्धन पूजा कब है (Govardhan Puja Kab Hai 2022)

दीपावली के अगले दिन गोवर्धन पूजा का त्योहार होता हैं. इस दिन अन्नकूट का भोग भी लगाया जाता है. साल 2022 में गोवर्धन पूजा 26 अक्टूबर बुधवार के दिन है. इस साल 25 अक्टूबर के दिन सूर्य ग्रहण है इसलिए गोवर्धन पूजा और अन्नकूट 26 अक्टूबर को होगा. इस दिन लिए भगवान श्रीकृष्ण ने गोकुल के लोगों की रक्षा के लिए और इंद्रदेव के घमंड को चूर करने के लिए अपनी चुटकी अंगुली पर गोवर्धन पर्वत को धारण कर लिया था. जिसके बाद से गोवर्धन की पूजा अर्चना होने लगी और इस दिन भगवान श्रीकृष्ण को प्रसादी के रूप में अन्नकूट का भोग लगाते हैं.

भाई दूज कब है (Bhaiya Dooj Kab Hai 2022)

साल 2022 में भैया दूज 26 अक्टूबर बुधवार के दिन है. यह पर्व कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को आता है. मान्यताओ  के अनुसार इसे यम द्वितीया भी कहा जाता है. इस दिन मृत्यु के देवता यमराज अपनी बहन से मिलने उनके घर आये थे और भोजन किया था. इसके पश्चात यम ने अपनी बहन यमुना को वरदान दिया था कि इस दिन जो भी भाई अपनी बहन के घर पर जायेगा उसे जीवन में कोई भी भय नहीं सताएगा.

निष्कर्ष– आज हमने आपको बताया पांच दिनों के त्योहार के बारे में (what are the 5 days of diwali 2022 in hindi) जिसमे दिवाली, धनतेरस, नरक चतुर्दशी, गोवर्धन पूजा, भाई दूज और अन्नकूट कब है, इसे कैसे मनाया जाना चाहिए और क्या है पूजा का धार्मिक महत्व. उम्मीद करते है आपको यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी.

FAQ

Q : दिवाली कब है 2022
Ans : 24 अक्टूबर 2022 को

Q : दीपावली के 5 दिन कौन से हैं?
Ans : धनतेरस, छोटी दिवाली, बड़ी दिवाली गोवर्धन पूजा और भाई दूज

Q : दिवाली के दूसरे दिन को क्या कहते हैं?
Ans : गोवर्धन पूजा

Q : गोवर्धन पूजा कब है
Ans : 26 अक्टूबर को

Q : धनतेरस कब है
Ans : 22 अक्टूबर को

Q : धनतेरस के दिन क्या खरीदना चाहिए?
Ans : सोने चांदी के आभूषण और बर्तन

Q : भाई दूज कब है
Ans : 26 अक्टूबर को

Founder of Wonder Facts Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here