जानें कब है श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, क्या है सही तारीख और शुभ मुहूर्त (Krishna Janmashtami 2022)

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब है, तारीख, शुभ मुहूर्त, किस दिन है, कब आती है, डेट, स्टेटस, कृष्ण जन्माष्टमी कब है 2022 (Krishna Janmashtami 2022, Kab Hai, Date, Time, Puja Muhurat)

हर साल की तरह इस साल भी भगवान श्रीकृष्ण जन्माष्टमी को देश भर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. हिन्दू धर्म में जन्माष्टमी को त्योहार के रूप में मनाते है. हर वर्ष जन्माष्टमी का त्योहार रक्षा बंधन के बाद आता है. कई लोगो के मन में इस बात को लेकर असमंजस बना हुआ है कि साल 2022 में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब है और किस दिन जन्माष्टमी का पर्व मनाया जायेगा.

आज के इस लेख में हम आपको बताएँगे कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब और किस दिन है, पूजा करने का शुभ मुहूर्त कब है Krishna Janmashtami 2022 Puja Muhurat, Date, Time.

Krishna Janmashtami Date When Is Krishna Janmashtami
Photo Credit – Govind Jangid

2022 में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब है और शुभ मुहूर्त (Krishna Janmashtami 2022 Shubh Muhurat)

कब है जन्माष्टमी 19 अगस्त को
किस दिन है जन्माष्टमी शुक्रवार को
अभिजीत मुहूर्त 18 अगस्त को 12:05 से 12:56 तक
अभिजीत मुहूर्त बुधवार 17 अगस्त  दोपहर 08:56 से लेकर गुरुवार 18 अगस्त रात 08:41 तक
राहुकाल गुरुवार 18 अगस्त दोपहर 02:06 से लेकर 03:42 तक

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी क्या है (Krishna Janmashtami 2022 Kya Hai)

जन्माष्टमी हर साल भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को आता है. इस दिन भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था. और इस दिन सभी भक्तगण व्रत रखते है. भगवान कृष्ण अष्टमी तिथि के रोहिणी नक्षत्र में जन्म लिए थे. इस दिवस पर वृंदावन और मथुरा के साथ पुरे देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का उत्सव मनाया जाता है.

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब है (Krishna Janmashtami 2022 Kab Hai)

हर साल की भाति इस साल भी जन्माष्टमी का व्रत कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को होगा. लेकिन इस बार जन्माष्टमी 18 अगस्त और 19 अगस्त को है. लेकिन मैं आपको स्पष्ट कर दू जो भक्त जन्माष्टमी का उपवास रखते है उनके लिए उपवास 19 अगस्त को होगा लेकिन जन्माष्टमी का उत्सव 18 अगस्त को मनाया जायेगा. दरअसल इस साल दो तिथियों का संयोग बना हुआ है.

इस वर्ष भाद्र मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 18 अगस्त गुरुवार को रात 9 बजकर 20 मिनट से लेकर 19 अगस्त शुक्रवार को रात 10 बजकर 59 मिनट तक जारी रहेगी. ऐसे में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 18 अगस्त गुरुवार के दिन मनाया जाएगा लेकिन उदय तिथि 19 अगस्त को होने की वजह से इसकी तिथि 19 अगस्त शुक्रवार भी मानी जा सकती है. 18 अगस्त को ही वृद्धि और ध्रुव का योग भी बन रहा है. लेकिन वृंदावन और मथुरा के मंदिरों में 19 अगस्त को जन्माष्टमी मनाई जाएगी.

जन्माष्टमी पर शुभ मुहूर्त (Janmashtami 2022 Puja Muhurat)

साल 2022 में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का अभिजीत मुहूर्त 18 अगस्त गुरुवार रात 12 बजकर 05 मिनट से लेकर 12 बजकर 56 मिनट तक रहेगा. वृद्धि योग मुहूर्त 17 अगस्त बुधवार (Krishnashtami 2022 Date) को दोपहर 08 बजकर 56 मिनट से लेकर 18 अगस्त गुरुवार  रात 08 बजकर 41 मिनट तक रहेगा. इस बार राहुकाल 18 अगस्त गुरुवार दोपहर 02 बजकर 06 मिनट से 03 बजकर 42 मिनट तक होगा.

जन्माष्टमी की पूजन विधि (Janmashtami 2022 Pujan Vidhi)

जन्माष्टमी के दिन सभी भक्त सुबह से लेकर रात तक व्रत रखते है. भगवान श्रीकृष्ण और लड्डू गोपाल जी की प्रतिमा का श्रृंगार करते है. नए वस्त्र के साथ मुकुट, मोर, बांसुरी, कुंडली, वैजयंती माला, कुंडल, तुलसी दल, आदि धारण करते है. उन्हें चन्दन, अक्षत, रोली और अष्टगंध का तिलक लगाते है. और रात 12 बजे के बाद भगवान श्रीकृष्ण और लड्डू गोपाल जी को माखन और अन्य सामग्री का भोग लगाते है. पूजा के बाद आरती होती और व्रत खोला जाता है.

निष्कर्ष – तो आज हमनेआपको आपको बताया कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब और किस दिन है, पूजा करने का शुभ मुहूर्त कब है Krishna Janmashtami 2022 Puja Muhurat, Date, Time. उम्मीद करते है आपको यह जानकरी जरूर पसंद आई होगी.

FAQ

Q : जन्माष्टमी कब है 2022 में कृष्ण?
Ans : 19 अगस्त 2022 को

Q : जन्माष्टमी का पर्व क्यों मनाया जाता है?
Ans : भगवान कृष्ण माता देवकी और पिता वासुदेव की संतान थे. और भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव को जन्माष्टमी का पर्व के रूप में मनाया जाता है.

यह भी पढ़े

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here