चीन में तबाही मचा रहा है ओमिक्रॉन का नया वेरिएंट BF.7, क्यों है इतना खरनाक

Rate this post

कोरोना की लहर एक बार फिर दुनिया पर कहर बरपा रही है. चीन में ओमिक्रॉन का नया वैरिएंट BF7 (covid omicron bf7) ने तबाही मचा रखी है. आशंका जताई जा रही है कि अगले कुछ महीनों में 80 करोड़ से ज्यादा लोग वायरस की चपेट में आ सकते है. क्या भारत को भी इससे खतरा हो सकता है?

Omicron New Variant BF 7 In Hindi

चीन में तबाही मचा रहा है ओमिक्रॉन का नया वेरिएंट BF.7, क्यों है इतना खरनाक

Omicron New Variant BF 7 In Hindi : कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन का नया सबसे खतरनाक वैरिएंट BF7 ने चाइना में तबाही मचा रखी है. नया वैरिएंट इतना खरनाक है कि रोजाना हजारों की संख्या में संक्रमित मरीज मिल रहे है. इस वायरस ने जापान, चीन, अमेरिका और ब्राजील समेत कई देशों में संक्रमण की संख्या काफी तेजी से बढ़ रही है. लंदन की ग्लोबल हेल्थ इंटेलिजेंस कंपनी एयरफिनिटी के मुताबिक, अगले 3 से 4 महीनों में अकेले चीन में संक्रमित लोगों की संख्या 80 करोड़ के पार और 20 लाख से ज्यादा मौतों होने का अनुमान है. ग्लोबल हेल्थ इंटेलिजेंस कंपनी एयरफिनिटी ने ऐसा होने का कारण चाइना में जीरो कोविड पॉलिसी को खत्म करना और कम वैक्सीनेशन बताया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ऑमिक्रॉन के सबवैरिएंट BF.7 ने भारत में भी एंट्री (covid cases in india today) कर ली है. गुजरात के वडोदरा शहर में एक महिला में कोविड 19 के BF7 वैरिएंट होने की पुष्टि की गई है. ऐसे में केंद्र सरकार भी सकते में आ गई है. और देश में जल्द रेड अलर्ट जारी हो जाएगा. ओमिक्रॉन का नया वैरिएंट BF7 क्यों है (Omicron New Variant BF 7 In Hindi) इतना खरतनाक और क्या है इसके लक्षण. आज के इस आर्टिकल में हम आपको इन सभी के बारें में विस्तार से बताएँगे.

ओमिक्रॉन का नया वैरिएंट Bf.7 क्या है? (What is The New Variant of Omicron Bf7 In Hindi)

कोई भी नया वायरस जब फैलता है तो उसके कुछ दिनों बाद उत्परिवर्तित होता है यानि म्यूटेट होता हैं तो ओरिजनल वायरस के वेरिएंट बनते है और वेरिएंट के सब-वेरिएंट बनते है. जैसे वायरस की मुख्य जड़ है SARS-CoV-2. और इसके वेरिएंट और सब-वेरिएंट के रूप में अलग अलग वायरस यानि शाखा है. BF.7 ओमीक्रोन का सब-वेरिएंट (omicron bf7) हैं जो BA.5.2.1.7 के समान है. अभी हाल ही में सेल होस्ट एंड माइक्रोब सेल प्रेस द्वारा प्रकाशित एक आर्टिकल में बताया है कि BF.7 सब-वैरिएंट में मूल D614G वैरिएंट की तुलना में 4.4 गुना अधिक न्यूट्रलाइज़ेशन प्रतिरोध है. इसका मतलब यह है कि BF.7 (bf7 variant) इतना ज्यादा खतरनाक है कि एक संक्रमित मरीज़ से 15 से 18 लोग संक्रमित हो सकते है. और जिन लोगों को वैक्सीनेशन लगाया जा चूका है, उनके शरीर में एंटीबॉडी विकसित हो चुकी है लेकिन यह BF.7 वायरस से लड़ने में कम सक्षम है. यह वायरस फुली वैक्सीनेटेड लोग और पहले से संक्रमित होकर सही हो चुके लोग दोनों को ही बीमार कर रहा है. यह वायरस काफी जल्दी एक से दुसरे में ट्रांसफर हो जाता है और लक्षण भी जल्दी दिखने लग जाता है.

ओमिक्रॉन का नया वैरिएंट BF7 के लक्षण क्या हैं? (What are Omicron Bf7 Symptoms In Hindi)

आमतौर पर देखा जाता है कि 2020 के बाद अब तक जितने भी वायरस के वैरिएंट आए हैं उनमें एक जैसे लक्षण (omicron bf7 symptoms) हैं, फर्क सिर्फ इतना है कि कुछ वायरस जल्दी लक्षण दिखाते हैं तो कुछ बाद में. BF.7 से संक्रमित व्यक्ति में सर्दी, बुखार, गले में खराश, खांसी, नाक बहना, डायरिया, उल्टी और दस्त जैसे लक्षण दिखाई देते है. कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगो के लिए यह घातक बन सकता है. दरअसल BF.7 का रिप्रोडक्शन नंबर 10-18.6 है. यानी इससे संक्रमित होने वाला मरीज एक बार में औसतन 10 से 18 लोगों को संक्रमित करने की क्षमता रखता है. और इसी वजह से चीन में कोरोना के नए मामले (China Corona News In Hindi) दिनों में नहीं बल्कि घंटों में बढ़ रहे हैं.

एक बार फिर क्यों बढ़ रहा है कोरोना वायरस

काफी समय से चाइना के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपने देश में जीरो कोविड नीति लागु कर रखी थी.  जिससे वहां के लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है. और लोग कई समय से जीरो कोविड पॉलिसी (China Coronavirus News Latest Update Hindi) को खत्म करने की मांग का रहे थे. काफी समय तक तो सरकार ने लोगों को घरों में कैद रखा और उनके प्रति काफी सख्त रवैया अपनाया लेकिन दिसम्बर 2022 की शुरुआत में बिना किसी तैयारी के जीरो कोविड पॉलिसी को ख़त्म करने के आदेश दिए. ऐसा होने से बड़ी संख्याओं में लोगो का हुजूम उमड़ पड़ा और चीन में कोरोना (Coronavirus In China Hindi) एक बार फिर फ़ैल गया. ऐसा कहा जा रहा है कि इनके ज्यादातर लोगों ने वैक्सीन का बूस्टर डोज नही लगवाया था.

कई मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पहले तो चीन की सरकार ने लोगो को अपने घरों में बंद रखा और फिर एक साथ ढील दे दी गई. लोगो पर वापिस काम पर जाने का दवाब बनाया जा रहा है. रिपोर्ट की माने तो चाइना में रोजाना 10 हज़ार से ज्यादा मामले आ रहे है. चीन ने तो संक्रमितों के सही आंकड़े (China Corona News In Hindi) बताना तक बंद कर दिया है.

अमेरिका के हेल्थ एक्सपर्ट्स (IHMI) के मुताबिक चीन में अप्रैल 2023 के शुरू में कोरोना (Coronavirus In China In Hindi) अपने पीक पर होगा और 3 लाख से ज्यादा मौत होने का अनुमान लगाया जा रहा है. 90 दिनों के अंदर 80 करोड़ से अधिक लोग कोरोना की चपेट में आ जाएंगे.

भारत सरकार उठा सकती है ये बड़ा कदम

जापान, अमेरिका और चीन समेत दुनिया में कोरोना की नई लहर के बढ़ते संक्रमण को देखकर भारत सरकार हरकत में आ गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए एक अहम बैठक की है जिसमें कई अधिकारी शामिल हुए हैं. बहुत जल्द सरकार कोविड को लेकर नई गाइडलाइंस लाएगी. वैसे सरकार इन नियमों को लागू कर सकती है जो निम्न है-

  • सार्वजनिक स्थानों और भीड़ भाड़ वाले जगहों पर एक बार फिर से मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया जाएगा.
  • एक बार फिर से सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा.
  • देश के प्रमुख हवाईअड्डों पर रेंडम कोरोना टेस्टिंग शुरू की जाएगी ताकि विदेश से लौटने वाले लोगों की तुरंत जांच की जा सके.
  • ज्यादा से ज्यादा लोगो को बूस्टर डोज लगाई जा सके.
  • देश में कोरोना की सबसे ज्यादा जांच के चलते टेस्टिंग, ट्रेसिंग और इलाज पर फोकस.

भारत में कोरोना की वर्तमान स्थिति क्या है?

देश में अब तक कोरोना के 44,677,594 मामले पाए गए हैं, जिनमें से 44,142,432 ठीक हो चुके हैं और 530,681 की मौत हो चुकी है. फिलहाल एक्टिव केस 3402 (corona cases in india today) है. जिसका इलाज चल रहा है. हर दिन सबसे ज्यादा मरीज मिलने की सूची में भारत 51वें स्थान पर और एक्टिव केस मामले में दुनिया में 90वें स्थान पर है.

निष्कर्ष :- आज के इस लेख में हमने आपको बताया ओमिक्रॉन का नया वेरिएंट BF7 क्यों है (Omicron New Variant BF 7 In Hindi) इतना खरतनाक और क्या है इसके लक्षण बारे में. उम्मीद करते है आपको यह जानकरी जरुर पसंद आई होगी.

FAQ

Q : ओमिक्रॉन का नया वेरिएंट कौन सा है
Ans : BF.7

Q : ओमिक्रॉन BF7 के लक्षण क्या है?
Ans : सर्दी, बुखार, गले में खराश, खांसी, नाक बहना, डायरिया, उल्टी और दस्त

Q : कोरोना वायरस कब आया था
Ans : 2019

Q : कोरोना वायरस संक्रमण के लिए कौन सा परीक्षण किया जाता है
Ans : आरटी-पीसीआर और एंटीजन टेस्ट

यह भी पढ़े

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here