स्वतंत्रता दिवस पर निबंध | 15 August Essay In Hindi

स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) पर निबंध, 100 शब्द, 200 शब्द, 250 शब्द, 300 शब्द, 500 शब्द, 800 शब्द, 10 लाइन, 20 लाइन (15 August Essay In Hindi, Independence Day, Class 2, Class 5class 3, Class 5, Class 7, Nibandh, Short Essay, Vrutant Lekhan, Writing )

15 अगस्त हमारे देश भारत में हर साल धूम-धाम एवं हर्ष और उल्लास के साथ मनाये जाना वाला एक राष्ट्रीय पर्व है. 15 अगस्त 1947 के दिन हमारा देश ब्रिटिश हुकूमत की गुलामी से आज़ाद हुआ था. यह एक ऐतिहासिक दिन था जब 75 साल पहले भारत को आज़ादी मिली. देश की आजादी के पीछे कई स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना बलिदान दिया. अपने प्राणों की परवाह न करते हुए अपना जीवन देश पर न्योछावर कर दिया. इन्हों कारणों से 15 अगस्त को सभी देशवासियों हर साल देश की आज़ादी को याद करते हुए उनके सम्मान में स्कूल, कॉलेज और सरकारी ऑफिस में राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है.

आज के इस लेख में हम आपको स्वतंत्रता दिवस पर निबंध  (15 August Essay In Hindi) बताने जा रहे है जिसे समझाना आपके लिए बेहद जरुरी है. यह जानकरी आपको स्कूल में आयोजित प्रतियोगिता में भाग लेकर उसे सुसज्जित करने में सहायता प्रदान करेगा.

15 August Essay In Hindi

 

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध  (15 August Essay In Hindi)

अंग्रेजो की गुलामी के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत एक आज़ाद देश बना. तब से और हर वर्ष इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है.

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 100 शब्द (Independence Day Essay 100 Words)

भारत के इतिहास में साल 1947, 15 अगस्त का दिन काफी महत्वपूर्ण है. यह दिन भारत के लिए काफी भाग्यशाली था जब कई स्वतंत्रता सेनानियों की कड़ी मेहनत और उनके खून और बलिदान की आहुति से देश आज़ाद हुआ. देश की आज़ादी में कई सेनानियों का अपना अहम योगदान रहा है. हम इनके इस योगदान को नही भूल सकते है.

भारत की आज़ादी के बाद जनता द्वारा पहले प्रधानमंत्री के रूप में पंडित जवाहरलाल नेहरू को चुना गया. जिनके द्वारा भारत की राजधानी दिल्ली के लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया था. यह पल भारतीयों के लिए बड़े गर्व का था. और इस दिन को हर साल भाषण, डांस और नाटक जैसे कार्यक्रम के साथ आयोजित किया जाता है.

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 200 शब्द (Independence Day Essay 200 Words)

15 अगस्त 1947 के दिन हमारा देश भारत ब्रिटिश हुकूमत की जंजीरों से पूर्ण रूप से मुक्त होकर एक स्वतंत्र राष्ट्र बना. इस दिन कई स्वतंत्रता सेनानियों की कड़े संघर्ष के बाद भारत को आज़ादी प्राप्त हुई. तक़रीबन 200 साल तक भारत में अंग्रेजो का राज था. इन 200 सालो में कई क्रांतिकारियों ने ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ कई बार क्रांति का बिगुल बजाया.

भले ही अंग्रेजो ने भारत पर 200 सालो तक शासन किया लेकिन कुछ समय के बाद शांति से अपना शासन नही कर सके. उन्हें कभी न कभी स्वतंत्रता सेनानियों का विद्रोह का सामना करना पड़ा. लेकिन अंग्रेजी सरकार ने भी हमारे देश के कई क्रांतिकारियों को गिरफ्त में लेकर उन्हें कड़ी यातनाए दी और दण्डित किया. लेकिन इनके योगदान और लंबे संघर्ष की वजह से 15 अगस्त 1947 के दिन अंतत हमारा देश आज़ाद हुआ.

इस दिन सम्पूर्ण देश में सभी देशवासी हर्ष और उल्लास के साथ यह पर्व मानते है. इसे राष्ट्रीय त्यौहार के रूप में भी मनाया जाता है. इस दिन सभी स्कूल, कॉलेज और सरकारी संस्थानों में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाता है. इस दिन सभी बच्चे स्कूल और कॉलेज के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का हिस्सा बनते है और नाटक, नृत्य और भाषण जैसे कार्यक्रम रखते जाते है.

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 300 शब्द (Independence Day Essay 300 Words)

15 अगस्त के दिन भारत के प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किला पर झंडा फहराते है. इसके बाद राष्ट्रगान गाया जाता है. और 21 तोपों के साथ सलामी दी जाती है. इसके पश्चात प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले से पूरे देशवासियों को सम्बोधित करते है. इस दिन के अवसर पर वहा पर गणमान्य लोग और बच्चें उपस्थित रहते है. 15 अगस्त के दिन भारतीय सेना और एनसीसी कैडेट परेड करते है और अलग-अगल राज्यों की झांकिया निकलती है. बड़े और बच्चों द्वारा रंगारंग कार्यक्रम की प्रस्तुती होती है. हेलीकाप्टर से फूल बरसाए जाते है. देश के प्रधानमंत्री के द्वारा दिए जाने वाला भाषण और लाल किले पर आयोजित प्रोग्राम का लाइव प्रसारण दूरदर्शन और ऑनलाइन प्लेटफार्म पर किया जाता है. और हम सभी लोग इन प्रोग्राम को घर बैठकर आनंद से देखते है.

15 अगस्त का दिन बड़ा खास दिन है. इस दिन हमें आज़ादी मिली थी और इसके बाद हमें अभिमान होना चाहिए कि हमने स्वतंत्र भारत में जन्म लिया है. लेकिन स्वतंत्र भारत की आज़ादी हम यूँ ही नही प्राप्त हुई है. इसके पीछे कई क्रांतिकारियों का बलिदान है. जिनमे भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, रानी लक्ष्मी बाई, मोहनदास करमचंद गांधी, सुभाष चंद्र बोस, वीर सावरकर, राजगुरु, मंगल पांडे और सुखदेव जैसे स्वतंत्रता सेनानी थे. इनके अलावा भी कई और क्रांतिकारियों का देश की आज़ादी में योगदान रहा था. इस दिन के अवसर पर हम सभी क्रांतिकारियों याद करते है. इन्ही की वजह से आज हम लोग चैन की साँस ले रहे है. ऐसे में सभी भारतीयों को पता है कि अंग्रजो ने किस तरह से भारत में रहकर लोगो का खून बहाए है और कितने अत्याचार किये है. उनके यह अत्याचार देशवासी कभी नही भूल सकेंगे. ऐसे में हम लोग राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान करते हुए उनको सभी क्रांतिकारियों को याद करते है.

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 500 शब्द (Independence Day Essay 500 Words)

भारत में हर साल स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 1947 को मनाया जाता है. यह आज़ादी हमें आधी रात में मिली थी. पहले स्वतंत्रता दिवस साल 1930 से लेकर साल 1947 तक मनाया जाता था. इसका फैसला वर्ष 1929 में इंडियन नेशनल कांग्रेस अधिवेशन में हुआ था. और इस अधिवेशन में पूर्ण स्वराज की घोषणा की थी. उस वक्त भारत में लॉर्ड माउंटबेटन का शासन हुआ करता था. और इन्होने भारत की आजादी के लिए 15 अगस्त का दिन चुना हुआ था. इस तारीख को चुनने का कारण यह भी है कि वर्ल्ड वॉर 2 यानि 15 अगस्त 1947 के दिन जापान की सेना ने अंग्रेजी हुकुमत के सामने आत्‍मसमर्पण कर दिया था. उस वक्त लॉर्ड माउंटबेटन सभी देशों की आर्मी की कमांडर थे. 3 जून की की बैठक में यह तय किया गया कि स्‍वतंत्रता का दिन 15 अगस्त होगा. और देश में सार्वजनिक रूप से इसकी घोषणा करने के बाद कई लोग इस तारीख से खासा नाराज़ हो गए. क्यों कि कुछ ज्‍योतिषीय का मानना था कि यह दिन अशुभ और अमंगलकारी था. इसलिए हम कोई और तारीख रख सकते है. लेकिन लॉर्ड माउंटबेटन 15 अगस्त की तारीख को लेकर ही अड़े रहे. और भारत की आजादी का सबसे अच्छा दिन 15 अगस्त माना गया. इस दिन को खास मनाते हुए पुरे देश ने एक यादगार दिन बना दिया.

देश के सभी स्कूल और कॉलेज में प्रतियोगिता एवं निबंध स्पर्धा का प्रोग्राम आयोजित किया जाता है. विद्यार्थियों से स्वतंत्रता आंदोलन से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है. इसके अलावा स्वतंत्रता पर भाषण भी दिए जाते है. इस वर्ष भारत अपना 75वां आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. और हर घर तिरंगा का अभियान भी शुरू किया गया है. ताकि देशवासी भारतीय ध्वज को अपने घर लगाए और लोगो को प्रोत्साहित करे. इस साल आजादी के 75 साल पुरे होने पर सरकार द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव शुरू किया गया है. इस महोत्सव का रंगारंग कार्यक्रम दिल्ली में आयोजित किया जायेगा. इस प्रोग्राम में देश के बच्चे, युवा साथी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे. कई दिनों तक यह कार्यक्रम चलेगा. लाल किले पर सेना की टुकड़ियों को देश की प्रधानमंत्री सलामी देंगे. सेना का बैंड द्वारा म्यूजिक कार्यक्रम होगा. इस दिन सभी सरकारी संस्था में ध्वजा रोहण किया जाता है और मिठाइयाँ बाटी जाती है. इस तरह का प्रोग्राम स्कूल और कॉलेज में भी किया जाता है. पुरे दिन देश में आजादी का पर्व मनाया जाता है. और राष्ट्रीय अवकाश भी होता है.

देश की आजादी के 75 साल पुरे हो गये है. यह दिन देश भक्ति की भावना पैदा करता है. लोग एक साथ होकर यह दिन मनाते है. अलग अगल भाषाएं, सांस्कृतिक, और धर्म के लोग एकजुट होते है. भारत एक अनेकता में एकता और सारतत्व शक्ति देश है. यह विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश का भाग है और इस बात से हम गर्व महसूस करते है. जहा पर सरकार जनता द्वारा चुनी जाती है. और जनता के हित में रहकर कार्य करती है. भारत एक ऐसा देश है जहा पर जनता के मुद्दे पर बात रखी जाती है और उसका निवारण भी जल्द से जल्द किया जाता है.

स्वतंत्रता दिवस पर 10 लाइन (Independence Day Essay 10 Line)

  • 15 अगस्त का दिन भारत में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है.
  • इस दिन स्वतंत्रता सेनानियों के द्वारा दिए गए अपने बलिदानों को याद किया जाता है.
  • स्वतंत्रता सेनानियों की गाथा को सुनकर इस दिन हमारे दिल में देश भक्ति की भावनाओ के साथ कुछ करने का दिल करता है.
  • महात्मा गाँधी, सुभाष चंद्र बोस, चंद्र शेखर आजाद जैसे स्वतंत्रता सेनानियों ने एकजुट होकर देश की आजादी के लिए संघर्ष किया.
  • इस दिन के अवसर पर विभिन्न स्थानों पर भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाता है.
  • इस दिन अधिकतर लोग राष्ट्रीय ध्वज के तीनों रंगों के मेल के वस्त्र पहनते है.
  • इस दिन पुरे देश का माहौल देशभक्ति की भावना में मनमोहित रहता है. देश भक्ति गीत के साथ स्वतंत्रता दिवस मानते है.
  • इस दिन सभी स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय और सरकारी दफ्तरों में स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाया जाता है.
  • सभी स्कूल, कॉलेज, और सरकारी ऑफिस में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर झंडा फ़हराया जाता है और स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया जाता है.
  • इस दिन के शुभ अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित किये जाते है. जैसे भाषण देना, नाटक, नृत्य और प्रश्नोत्तरी इत्यादि.

तो आज के इस लेख में हम आपको बताया स्वतंत्रता दिवस पर निबंध  (15 August Essay In Hindi) के बारे में पूरी जानकरी. उम्मीद करते है आपको यह जरुर पसंद आई होगी.

यह भी पढ़े

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here