धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का जीवन परिचय, बागेश्वर धाम | Dhirendra Krishna Shastri Biography in Hindi

4/5 - (9 votes)

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का जीवन परिचय, बायोग्राफी, जीवनी, ताज़ा न्यूज़, भागवत कथा, महाराज, बागेश्वर धाम, विवाद, आयु, जन्मदिन, घर, परिवार, फॅमिली, भजन, धर्म, करियर, शिक्षा, विवाह, संपत्ति,  नेटवर्थ (Dhirendra Krishna Shastri Biography In Hindi, Wiki, Bageshwar Dham, Maharaj, Kahan hai, Cast, Latest News, House, Age, Religion, Family, Father, Katha, Child, Education, Marriage, Net Worth)

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक पंडित और सन्यासी सुर्खियों में छाए हुए है. मध्य प्रदेश के बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री कई दिनों से विवादों में फंसे हुए नज़र आ रहे है. अपने वहा दरबार लगाने वाले धीरेंद्र शास्त्री अपने दिव्य दृष्टि ज्ञान की वजह से उनके विडियो देश दुनिया में तहलका मचाया हुए है. लाखों करोड़ो की तादाद में उनके भक्तगण उन्हें विडियो को देखते है. दरअसल धीरेंद्र शास्त्री पर आरोप है कि वह अंधविश्वास फैला रहे है. उनका कहना और लोगो का मानना है कि उनके पास एक ऐसा ज्ञान और दिव्य दृष्टि है जिसके चलते वहा लोगो के मन के बारें में सब कुछ पता कर लेते है. कई लोग उन्हें पर्ची वाले बाबा और हनुमान जी के अवतार के रूप में जानते है. लेकिन इन दिनों पर्ची पर लिखनेवाला सिस्टम सुर्खियों में छाया हुआ है. आज हम आपको देश के इस चहेते महाराज के जीवन के बारे में बताएंगे कि महाराज धीरेंद्र कृष्ण कैसे चमत्कारी बाबा बन गए.

आज हम आपको धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का जीवन परिचय (Dhirendra Krishna Shastri Biography In Hindi) के बारे में पूरी जानकरी देने वाले है.

Dhirendra Krishna Shastri Biography in Hindi

Table of Contents

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का जीवन परिचय (Dhirendra Krishna Shastri Biography in Hindi)

नाम (Name) श्री धीरेन्द्र कृष्ण जी (Dhirendra Shastri)
असली नाम (Real Name) धीरेंद्र गर्ग
पूरा नाम (dhirendra krishna shastri full name) धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री
उपनाम (Nik Name) बागेश्वर धाम महाराज
प्रसिद्ध नाम (Famous Name) बालाजी महाराज और बागेश्वर महाराज
जन्म तारीख (Date of Birth) 4 जुलाई 1996
जन्मदिन (Birthday) 4 जुलाई
जन्म स्थान (Place) गड़ा, छतरपुर, मध्य प्रदेश
उम्र (Dhirendra Krishna Shastri Age) 26 साल (2023)
धर्म (Religion) हिन्दू
जाति (Cast) ब्राह्मण
व्यवसाय  (Business) कथावाचक, दिव्य दरबार, सनातन धर्म प्रचारक
गुरू (Guru) श्री दादा जी महाराज सन्यासी बाबा
शिक्षा (Educational Qualification) कला स्नातक
स्कूल (School) हाई स्कूल गंज
नागरिकता (Nationality) भारतीय
राशि (Zodiac Sign) तुला राशि
भाषा (Languages) हिंदी, बुंदेली, संस्कृत, इंग्लिश
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) अविवाहित
संपत्ति (Net Worth) 19.5 करोड़

कौन है धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री (Who is Dhirendra Krishna Shastri)

26 वर्षीय धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित बागेश्वर धाम मंदिर के महंत है और इस मंदिर को बागेश्वर धाम सरकार के रूप में जाना जाता है. यह मंदिर बालाजी महाराज को समर्पित है. धीरेंद्र शास्त्री अपने दादा गुरुजी महाराज के उत्तराधिकारी हैं, जो एक संत थे. कुछ ही समय में धीरेंद्र शास्त्री ने सोशल मीडिया और देश की जनता के बीच काफी लोकप्रियता हासिल की. दरअसल हर मंगलवार और शनिवार को बागेश्वर धाम में एक दरबार का आयोजन होता है जिसमे पर्ची के माध्यम से भक्तो की समस्या का समाधान किया जाता है. धीरेंद्र शास्त्री के अनुसार उनके पास भगवान हनुमान जी की शक्ति और चमत्कार है, जिसके कारण वह लोगों के मन की बात जानते हैं और उनका कहना है कि हम भक्तों को आशीर्वाद देते हैं और वे केवल एक माध्यम हैं और उनके पास कोई अलौकिक दिव्य शक्ति नहीं है.  

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का जन्म और परिवार (Dhirendra Krishna Shastri Birth and Family)

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का जन्म मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के गढ़ा गांव में 4 जुलाई 1996 को एक ब्राह्मण परिवार में हुआ. इनके पिता का नाम राम कृपाल गर्ग और माँ सरोज गर्ग है. इनके परिवार में दादाजी भगवान दास गर्ग, एक भाई शालिग्राम गर्ग और एक बहन सरोज गर्ग है. धीरेंद्र शास्त्री को बचपन में घरवाले प्यार से धीरू और गाँव वाले धीरेंद्र गर्ग बुलाते बुलाते थे.

महाराज धीरेंद्र कृष्ण के जीवन के प्रारंभिक वर्ष गांव में ही बीते थे. उनका परिवार बहुत ही कम आमदनी वाली स्थिति में रहता था. इसके परिणामस्वरूप उन्हें सामान्य सुख-सुविधाओं के बिना रहने को मजबूर होना पड़ा. महाराज धीरेंद्र कृष्ण बचपन से ही धार्मिक और दार्शनिक विषयों में गहरी रुचि रखते थे. जिसकी शिक्षा उन्होंने अपने दादा से प्राप्त की, जो उनके गुरु भी थे.

उनका बचपन कठिन आर्थिक स्थिति में बीता. उनकी मां दूध बेचा करती थीं. उनके पिताजी सत्यनारायण भगवान के बारे में कथा सुनाते थे. इसके अतिरिक्त, धीरेंद्र शास्त्री भी कथा सुनाने लग गए.

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का परिवार (Dhirendra Krishna Shastri family)

दादाजी का नाम (Dhirendra Krishna Shastri Grandfather’s Name) भगवान दास गर्ग
पिता का नाम (Dhirendra Krishna Shastri Father) राम कृपाल गर्ग
माता का नाम (Dhirendra Krishna Shastri Mother) सरोज गर्ग
बहन का नाम (Dhirendra Krishna Shastri Sister) रीता गर्ग
भाई का नाम (Dhirendra Krishna Shastri Brother) शालिग्राम गर्ग

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की शिक्षा (Dhirendra Krishna Shastri Education)

महाराज धीरेन्द्र कृष्ण ने अपने शुरूआती पढाई अपने गाँव से पूरी की. इसके बाद हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी की पढ़ाई गाँव से दूर गंज से पूरी की. अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद, उन्होंने कॉलेज में प्रवेश लिया जहाँ से उन्होंने बीए की डिग्री के साथ सफलतापूर्वक स्नातक की पढ़ाई पूरी की. लेकिन पढाई में अधिक रुचि न होने की वजह से अपने दादा से रामायण, महाभारत, पुराण महाकाव्य और भागवत कथा का ज्ञान लिया. जिसके पश्चात् दरबार लगाने की शुरुआत की. इसके प्रत्यक्ष परिणाम के रूप में, उन्होंने छोटी उम्र से ही हनुमान जी की पूजा करना शुरू कर दिया और अंततः सिद्धि के स्तर को प्राप्त किया.

महाराज धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के गुरू (Dhirendra Krishna Shastri Guru Name)

जिस परिवार में महाराज धीरेंद्र कृष्ण का जन्म हुआ. वह बागेश्वर धाम को बहुत मानते थे. उनके दादा बागेश्वर धाम में ही रहते थे और यहां उनके दादा गुरु सन्यासी बाबा की समाधि भी है. सन्यासी बाबा भी उन्हीं के वंश के थे, जिन्होंने करीब 322 सालों पहले समाधि ले ली थी. महाराज के दादाजी लंबे समय तक मंगलवार और शनिवार को बागेश्वर धाम में दरबार लगाया करते थे. और लोग अर्जी लगाते थे. जिसे देखकर उनके प्रति भी आस्था जागी और उन्होंने दादाजी के दरबार में अर्जी लगाई. 9 वर्ष की उम्र से ही अपने दादाजी के साथ मंदिर जाते थे और उन्हें ही अपना गुरु मानने लगे.

बागेश्वर धाम क्या है (What is Bageshwar Dham)

हिंदुओं का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल और हनुमान जी का मंदिर, जिसे बागेश्वर धाम के नाम से जाना जाता है, जो मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के गढ़ा में स्थित है. यह बालाजी का प्रसिद्ध और चमत्कार मंदिर है. यही महाराज धीरेन्द्र कृष्ण पैदा हुए और यही पर ही इनके दादाजी ने समाधी ली. देश दुनिया से भक्तगण यहाँ आते है और अपने नाम और परिवार के नाम की अर्जी लगाते है. यहां हर मंगलवार और शनिवार को अर्जी लगाई जाती है क्योंकि यह बालाजी महाराज का दिन होता है. जहां श्रद्धालु अपने नाम की अर्जी लगाने आते हैं वह लाल कपड़े में बंधा नारियल लेकर आते हैं. मान्यता है कि जो कोई भी नारियल को बागेश्वर धाम मंदिर में बांधकर जाता है, उसकी मनोकामना पूरी होती है. जिस वजह से मंगलवार को लाखों लोग नारियल बांधने आते हैं. यहां महाराज धीरेंद्र कृष्ण का भव्य दरबार भी लगता है. जहां लोग अपनी समस्याओं का समाधान लेने आते हैं.

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का सफर (Dhirendra Krishna Shastri Journey)

  • महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का बचपन गरीबी में बिता. उनके पिता कथा सुनाकर और पुरोहित गिरी का काम करके घर चलाते थे. कुछ समय बाद उनके चाचा ने पुरोहित गिरी का बंटवारा कर लिया जिसके बाद महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के परिवार में आर्थिक स्थिति पैदा हो गई. इसी दौरान धीरेंद्र कुछ काम करने लायक भी हो गए थे.
  • उनका बचपन अपने दादा के साथ बीता, उन्होंने अपने दादा से रामायण, महाभारत, पुराण महाकाव्य और भागवत कथा सीखी, जिसके बाद उन्होंने गाँव में कथा सुनाना शुरू किया.
  • महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने वर्ष 2009 में पहरा गांव के खुदान में पहली बार भागवत कथा सुनाई। ऐसा करते-करते वे धीरे-धीरे आस-पास के गाँवों और शहरों में कथा सुनाने लगे.
  • महाराज ने हनुमान जी के मंदिर के पीछे अपने दादाजी की समाधि पर भी कई बार कथा का आयोजन किया था. यहीं से उन्होंने धर्म प्रेमियों को बुलाना शुरू किया और सभी को धर्म साधना से जुड़े ज्ञान और शक्तियों से जोड़ना शुरू किया. इसके बाद धीरे-धीरे उनके भक्त बढ़ने लगे और बालाजी के मंदिर को बागेश्वर धाम के नाम से जाना जाने लगा. बागेश्वर धाम के महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने अपनी भक्ति का ऐसा चमत्कार दिखाया कि यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचने लगे.

बागेश्वर धाम कहां है ?  

बागेश्वर मंदिर धाम सरकार, जो हिंदुओं के प्रसिद्ध तीर्थ स्थलों में से एक बन गया है, मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में मौजूद है. बागेश्वर धाम मंदिर हनुमान जी के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है. जो मध्यप्रदेश राज्य के छतरपुर जिले के खजुराहो पन्ना मार्ग पर स्थित छोटे शहर गंज से सड़क मार्ग से लगभग 35 किलोमीटर दूर है.

बागेश्वर धाम में घर बैठे अर्जी कैसे लगाएं?

जो भक्त बागेश्वर धाम पहुँचने में असर्मथ है वह भक्तगण अपने घर बैठे बालाजी को अर्जी लगा सकते है. अर्जी लगाने के लिए उन्हें नारियल को लाल कपड़े में बांधना है और ॐ बागेश्वराय नम: का जाप करना है. इसके बाद आपके मन में जो भी सवाल होंगे, उन्हें बोलना है. इससे आपकी फरियाद बालाजी तक पहुंचेगी और जल्द ही आपकी मनोकामना पूर्ण होगी.

बागेश्वर धाम में टोकन कब मिलेगा?

बागेश्वर धाम में दर्शन करने के लिए भक्तो को टोकन वितरित किये जाते है जिस पर तारीख और महिना लिखा होता है. उसके हिसाब से दर्शन किये जाते है और बागेश्वर धाम में अर्जी लगाई जाती है. आपकी जानकारी के लिए बता दूँ टोकन के बिना आप यहाँ पर दर्शन नही कर सकते है.     

महाराज धीरेन्द्र शास्त्री को मिला सम्मान (Dhirendra Shastri Achievement)

बागेश्वर धाम के महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री एक जून 2022 से 15 जून 2022 तक इंग्लैंड के दौरे पर गए थे. लंदन में उनका जोरो शोरो से स्वागत किया गया. लंदन और लीसेस्टर सिटी में उन्होंने हनुमत कथा और श्रीमत भागवत का पाठ किया. जिस वजह से उन्हें ब्रिटिश मेयर की तरफ से तीन अवार्ड से सम्मानित किया गया था. ये तीनो अवार्ड के नाम थे वर्ल्ड बुक ऑफ यूरोप, वर्ल्ड बुक ऑफ लंदन और संत शिरोमणि. इस अवार्ड से सम्मानित होना अपने आप में बहुत ही सौभाग्य की बात है. और यह अवार्ड मिलने पर उन्होंने जय श्रीराम के जयकारे लगाए.

महाराज धीरेन्द्र शास्त्री की नेटवर्थ (Dhirendra Shastri Net Worth)

गरीब परिवार में जन्मे महाराज धीरेन्द्र शास्त्री आज काफी पैसेवाले है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महाराज धीरेन्द्र कृष्ण की नेट वर्थ की बात करे तो उनकी एक दिन की कमाई 8 हज़ार रूपये और एक महीने की 3 लाख से ज्यादा की कमाई हो जाती है. उनकी कुल संपति की बात करे तो उनके पास तक़रीबन 19.5 करोड़ की नेट वर्थ है.   

निष्कर्ष :- तो आज हमने आपने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का जीवन परिचय (Dhirendra Krishna Shastri Biography In Hindi) के बारे में बताया. उम्मीद करते है आपको यह जानकरी जरुर पसंद आई होगी.

FAQ

Q : धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का जन्म कब हुआ
Ans : 4 जुलाई 1996 को

Q : धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की उम्र कितनी है?
Ans : 26 साल

Q : बागेश्वर धाम कहाँ पर है
Ans : मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के ग्राम गढ़ा में

Q : बागेश्वर धाम बालाजी मंदिर कहाँ है
Ans : मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में

Q : बागेश्वर धाम किस जिले में हैं
Ans : छतरपुर

Q : बागेश्वर धाम किस देश में है
Ans : भारत

Q : बागेश्वर धाम का मंत्र क्या है
Ans : ॐ बागेश्वराय नम:

Q : बागेश्वर धाम कहाँ पड़ता है
Ans : मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के ग्राम गढ़ा में

Q : बागेश्वर धाम किधर है
Ans : मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के ग्राम गढ़ा में

Q : बागेश्वर धाम किस गांव में है
Ans : बागेश्वर धाम ग्राम- गढ़ा, पोस्ट- गंज, जिला छतरपुर, मध्य प्रदेश

Q : बागेश्वर धाम का नंबर कैसे मिलेगा
Ans : 8120592371, 8982862921

Q : बागेश्वर धाम से संपर्क कैसे करें
Ans : 8120592371, 8982862921

Q : बागेश्वर धाम का मोबाइल नंबर क्या है
Ans : 8120592371

Q : बागेश्वर धाम कांटेक्ट नंबर
Ans : 8120592371, 8982862921

Q : बागेश्वर धाम के गुरु जी का मोबाइल नंबर
Ans : 8982862921

Q : बागेश्वर धाम का एड्रेस
Ans : बागेश्वर धाम ग्राम- गढ़ा, पोस्ट- गंज, जिला छतरपुर मध्य प्रदेश, पिन-471105

यह भी पढ़े

 

 

 

Previous articleराधिका मर्चेंट का जीवन परिचय | Radhika Merchant Biography in Hindi
Next articleहोली कब और क्यों मनाई जाती है, निबंध, इतिहास | Holi Essay, History in Hindi
Founder of Wonder Facts Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here