ब्लड ग्रुप कितने प्रकार के होते हैं ? Types Of Blood Groups In Hindi

ब्लड ग्रुप के प्रकार, चार्ट, खोज, ब्लड का ग्रुप, इतिहास, इनफार्मेशन, खासियत, मेरा ब्लड ग्रुप क्या है,  (Types Of Blood Groups In Hindi)

दोस्तों ब्लड के बारे में तो हम सभी जानते हैं कि यह एक तरल पदार्थ होता है जो हमारे शरीर में कई क्रियाओं को निर्धारित करता है। लेकिन कभी ऐसी परिस्थिति आ जाती है कि हमारे किसी दोस्त या फिर रिश्तेदार का एक्सीडेंट हो जाता है और उसे खून की आवश्यकता होती है लेकिन हम न चाह कर भी उसकी मदद नहीं कर पाते हैं क्योंकि हमें पता ही नहीं रहता है कि हमारा ब्लड ग्रुप कौन सा है?

सबसे पहले कार्ल लैंडस्टीनर ने इस बात का पता लगाया था कि एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में ब्लड बिना उसके समूह के पता लगाए नहीं डाला जा सकता है। उन्होंने बताया था कि लाल रक्त कोशिकाओं (Red Blood Cells) की आनुवंशिकता की उपस्थिति और अनुपस्थिति का पता लगाने के बाद ही ब्लड एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में ट्रांसफर किया जा सकता है।

आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे की ब्लड ग्रुप कितने प्रकार के होते हैं? (Types Of Blood Groups In Hindi) कौन से ब्लड ग्रुप का व्यक्ति कौन से ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति को अपना खून डोनेट कर सकता है?

Types Of Blood Groups In Hindi

ब्लड ग्रुप के प्रकार (Types Of Blood Group)

ब्लड ग्रुप चार प्रकार के होते हैं लेकिन इन चारो ब्लड ग्रुप में RHD (+) और RHD (-) होता है इस तरह यह मिलकर आठ प्रकार के हो जाते हैं।

  1. A Rhd Positive A+
  2. A Rhd Negative A-
  3. B Rhd Positive B+
  4. B Rhd Negative B-
  5. AB Rhd Positive AB+
  6. AB Rhd Negative AB-
  7. Rhd Positive O+
  8. Rhd Negative O-

Blood Groups Chart

A Rhd Positive A+

जिन लोगों का ब्लड ग्रुप ए पॉजिटिव होता है उनकी रक्त कोशिकाओं में A एंटीजन पाया जाता है साथ ही प्लाज्मा में B एंटीबॉडी मौजूद होता है। ए पॉजिटिव वाले व्यक्ति अपना ब्लड A+ और AB+ ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति को रक्तदान कर सकता है। इसके साथ ही O प्लस एवं O माइनस और A प्लस एवं A माइनस व्यक्ति से ब्लड ले सकते है. ए पॉजिटिव ब्लड ग्रुप वाले लोग स्वभाव से सेंसिटिव रहते है इस वजह से यह लोग जल्दी तनाव में आ जाते हैं।

A Rhd Negative A-

ए नेगेटिव ब्लड ग्रुप वाले व्यक्तियों की कोशिकाओं पर A एंटीजन और प्लाज्मा पर एंटीबॉडी की उपस्थिति मौजूद होती है। ए नेगेटिव ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति अपना ब्लड A+, A-, AB+, AB- वाले व्यक्तियों को डोनेट कर सकते हैं लेकिन O+ एवं O-  वाले व्यक्तियों को रक्तदान नहीं कर सकते है.  इनसे ए नेगेटिव का व्यक्ति ब्लड ले सकता है।

B Rhd Positive B+

बी पॉजिटिव ब्लड ग्रुप के व्यक्ति के ब्लड में मौजूद सेल्स पर बी एंटीजन पाया जाता है और प्लाज्मा में A एंटीबॉडी मौजूद होता है। बी पॉजिटिव ब्लड ग्रुप का व्यक्ति केवल B+, और AB+ ब्लड ग्रुप के व्यक्तियों को ही अपना ब्लड डोनेट कर सकते हैं और यह B+, B-, O+, O- ब्लड ग्रुप के व्यक्तियों से ब्लड ले सकते हैं। भारत की आबादी में लगभग 32 परसेंट लोगों में बी पॉजिटिव ब्लड ग्रुप पाया जाता है।

B Rhd Negative B-

बी नेगेटिव ब्लड ग्रुप के व्यक्तियों की कोशिकाओं में एंटीजन और प्लाज्मा में एंटीबॉडी मौजूद होता है। इस ग्रुप के व्यक्ति B-, B+,AB+, AB- ब्लड ग्रुप के व्यक्तियों को अपना ब्लड डोनेट कर सकते हैं और O- ग्रुप वालों से ब्लड ले सकते हैं। यह रेयर ब्लड ग्रुप की श्रेणी में आता है क्योंकि 10 में से एक व्यक्ति में ही बी नेगेटिव ब्लड पाया जाता है।

AB Rhd Positive AB+

एबी पॉज़िटिव ब्लड ग्रुप वाले लोगो के ब्लड में रेड ब्लड सेल्स पर एबी एंटीजन पाया जाता है, तथा इसके प्लाज़्मा में कोई भी एंटीबॉडी मौजूद नहीं रहता है।यह केवल AB+ ब्लड ग्रुप वाले लोगो को ही डोनेट कर सकता है और यह किसी भी ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति से ब्लड ले सकता है। चिकित्सा की दृष्टि से इस ब्लड ग्रुप को सबसे अच्छा ब्लड ग्रुप माना जाता है।

AB Rhd Negative AB-

AB- ब्लड ग्रुप के लोगों में भी लाल रक्त कोशिकाओं पर ए बी एंटीजन मौजूद होता है लेकिन प्लाज़्मा में एंटीबॉडी नहीं होती है। ए बी नेगेटिव में व्यक्ति AB-, A-, B-, O- जैसे ब्लड ग्रुप के लोगो से ब्लड ले सकता है, लेकिन केवल AB+, AB- ब्लड ग्रुप के लोगों को ही अपना ब्लड डोनेट कर सकते हैं। यह 0.48% लोगों में पाया जाता है।

Rhd Positive O+

O+ ब्लड ग्रुप वाले लोगो के ब्लड में कोशिकाओं पर ना के बराबर एंटीजन पाया जाता है, तथा प्लाज़्मा में ए और बी दोनों तरह की एंटीबॉडी मौजूद होती है। O+ पॉजिटिव ब्लड ग्रुप के लोग केवल O+,O- ग्रुप वाले व्यक्ति से ब्लड ले सकते है तथा A+, A- AB+, O+ ब्लड ग्रुप वाले लोगों को ब्लड डोनेट कर सकते हैं। ज्यादातर देखा गया है कि 3 लोगों में से 1 यानि लगभग 32.50 परसेंट के आसपास लोगो का ब्लड O+ होता है इसलिए यह सबसे अधिक मात्रा में पाया जाता है। इस ब्लड ग्रुप के लोगों का स्वभाव थोड़ा दयालु और नेक प्रवृत्ति का होता है जिस वजह से ज्यादातर लोग इन्हें पसंद करते है।

Rhd Negative O-

O- ब्लड ग्रुप के लोगो के ब्लड की रेड कोशिकाओ में भी ए और बी दोनों में से कोई भी एंटीजन मौजूद नहीं होता है लेकिन प्लाज़्मा में दोनों ही एंटीबॉडी उपस्थित रहती है। O- ग्रुप वाले व्यक्ति केवल O- ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति से ब्लड लेने में समर्थ रहते है दूसरी तरफ वह किसी भी ब्लड ग्रुप के व्यक्ति को ब्लड डोनेट कर सकते है। O- ब्लड ग्रुप रेयर ब्लड ग्रुप की श्रेणी में आता है इसलिए इस ब्लड ग्रुप को डोनेट करने की मांग रहती है। इस ब्लड ग्रुप को सबसे अच्छा ब्लड ग्रुप माना जाता है क्योंकि इसमें ए और भी एंटीजन मौजूद नहीं रहते हैं और ना ही RhD जिस वजह से इसलिए इसे दूसरे ब्लड ग्रुप में आसानी से मिक्स किया जा सकता है।

Rh Null Blood Group क्या है?

Rh Null Blood Group को दुनिया का सबसे रेयर ब्लड ग्रुप माना जाता है इसलिए इसका नाम गोल्डन ब्लड रखा गया है। दुनियाभर में इस ब्लड ग्रुप को सबसे अच्छा ब्लड ग्रुप माना जाता है क्योंकि यह किसी भी ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति को चढ़ाया जा सकता है और यह उससे आसानी से मैच हो जाता है।

इस ब्लड ग्रुप के खास होने की पीछे की सबसे बड़ी वजह यह है कि इसमें एंटीजन की मात्रा मौजूद नहीं होती है लेकिन अक्सर देखा गया है कि जिन लोगों के शरीर में यह ब्लड पाया जाता है एनीमिया नामक बीमारी से ग्रस्त रहते हैं। इसलिए इस तरह के ब्लड ग्रुप वाले लोगों को अपनी डाइट में सुधार करने के बारे में चिकित्सक कहते हैं।

गोल्डन ब्लड ग्रुप वाले लोग दुनिया में केवल 45 ही है इस बात का पता एक रिसर्च के द्वारा लगा है तो आप अनुमान लगा सकते हैं कि यह कितना रेयर ब्लड ग्रुप है साथ ही इस ब्लड ग्रुप के के व्यक्ति अन्य किसी ब्लड ग्रुप के व्यक्ति से ब्लड नहीं ले सकते है। हालांकि हमारे भारत देश में इस तरह का ब्लड ग्रुप प्रचलित नहीं है इसमें मुख्य रूप से ब्राजील, कोलंबिया, जापान, आयरलैंड और अमेरिका के लोग शामिल है।

ब्लड ग्रुप के बारे में जानना क्यो जानना चाहिए?

ब्लड ग्रुप के बारे में जानना इसलिए आवश्यक है क्योंकि यदि भविष्य में किसी भी व्यक्ति को शरीर में खून की कमी के चलते ब्लड की आवश्यकता हुई तो वह ब्लड बैंक से बड़ी आसानी से ब्लड प्राप्त कर सकता है वहीं दूसरी तरफ यदि किसी जरूरतमंद को ब्लड डोनेट करना है तो उसके लिए भी ब्लड ग्रुप के बारे में जानना आवश्यक है इसकी मदद से खुद की और परिवार वालों की आवश्यकता के समय पर मदद की जा सकती है।

कौन सा ब्लड किसको दे सकता है?

जानते है कौनसे ब्लड ग्रुप का व्यक्ति किस ब्लड ग्रुप के व्यक्ति को रक्तदान कर सकता है.

  • O Positive – सभी व्यक्ति को रक्तदान कर सकते है लेकिन O Negative वाले से ब्लड ले सकते हैं।
  • O Negative – इस समूह का व्यक्ति सभी को ब्लड दे सकते हैं। सिवाय O Negative से रक्त ले सकते हैं.
  • A Positive – A Positive एवं AB Positive  को ब्लड दे सकते हैं। A एवं O Positive, A एवं O Negative को रक्तदान कर सकते है.
  • A Negative – A एवं AB Positive, A एवं AB Negative ग्रुप को ब्लड दे सकते हैं। A एवं O Negative से रक्त ले सकते हैं।
  • B Positive – B एवं AB Positive रक्त समूह को ब्लड दे सकते हैं। B और O Positive, B और O Negative से रक्त ले सकते हैं.
  • B Negative – B और AB Positive रक्त समूह को रक्तदान कर सकते हैं। B और O Negative से ब्लड ले सकता हैं।
  • AB Positive – AB Positive को ब्लड दे सकते हैं। इस ग्रुप के व्यक्ति को यूनिवर्सल रेसिपिएंट्स भी कह सकते है, इन्हें किसी भी समूह का रक्त चढ़ाया जा सकता है।
  • AB Negative – AB Positive और AB Negative को ही रक्त दे सकते हैं। A, B, AB, और O Negative से ब्लड ले सकते हैं।Blood Groups Chart

निष्कर्ष –  उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी ब्लड ग्रुप कितने प्रकार के होते हैं? (Types Of Blood Groups In Hindi) अच्छे से समझ में आई होगी। आज की इस पोस्ट में हमने जाना था कि ब्लड ग्रुप कितने प्रकार के होते हैं और साथ ही हमने गोल्डन ब्लड ग्रुप के बारे में जानना है जो कि दुनिया का सबसे रेयर ब्लड ग्रुप माना जाता है।

FAQ

Q : ब्लड ग्रुप कितने प्रकार के आते हैं?
Ans : A, B, AB और O ब्लड ग्रुप

Q : कौन सा ब्लड ग्रुप सर्वग्राही होता है?
Ans : AB ब्लड ग्रुप

Q : कौन सा ब्लड ग्रुप अच्छा होता है?
Ans : O ब्लड ग्रुप

Q : 1 महीने में कितना खून बनता है?
Ans : मानव के शरीर में 5 से 6 लीटर रक्त होता है. अगर आप रक्तदान करते है तभी खून आपकी बॉडी में बनेगा. और किया गया रक्तदान  24 घंटे की भीतर बन जाता है.

यह भी पढ़े

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here