बुर्का, हिजाब और नकाब में क्या अंतर है (What Is the Difference between a Hijab and a Burqa)

दुनिया तेजी से बदल रही है। आज हम इक्कीसवीं सदी के दौर से गुजर रहे है। लगातार नए नए तकनीक विकसित किये जा रहे है ताकि मानव का जीवन सुखद और आरामदायक हो सकें। लेकिन इन सभी के बीच कुछ ऐसी बातें भी होती रहती है जिसको कुछ लोग परम्परा के नाम पर अपनाये रखना चाहते है। सभ्यता भले ही विकसित हो जाएँ मगर परंपरा के नाम पर कुछ समुदाय उसे अपनाएं रखना चाहते है। ऐसे ही मामला है मुस्लिम औरतो का पहनावा।

What-Is-the-Difference-between-a-Hijab-and-a-Burqa

पिछले कुछ बर्षो से मुस्लिम औरतो के पहनावे को लेकर कई देशो में बहस छिड़ी हुई है। न केवल भारत बल्कि फ्रांस, श्रीलंका और कई यूरोपीय देशो में यह विवाद चल रहा है। कई देशो में सार्वजनिक स्थल पर चेहरा ढकने पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाया गया है। ऑस्ट्रिया, फ्रांस, चीन, डेनमार्क, जर्मनी, बेल्जियम, नीदरलैंड, इटली में सार्वजानिक स्थल पर चेहरा ढकना प्रतिबंधित है। वही श्रीलंका में भी बुर्के पर बैन लगाने की मांग लगातार उठ रही है। श्रीलंका की सरकार बुर्का पहनने और देश में चल रहे मदरसों को बंद करने की योजना बना रही है। सरकार का कहना है कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर संकट है। श्रीलंका सरकार का यह भी कहना है कि यह एक तरह का धार्मिक कट्टरपंथ है जो कि हाल के वर्षो में उभर कर सामने आया है।

क्या है बुर्का (Kya Hai Burka)

बुर्का को मध्य एशिया के मुसलमान औरते पहनती है। यह पुरे शरीर को ढकने वाला एक लम्बा, चमकीला बाहरी कपडा होता है, जिसमें चेहरे को ढकने वाली जालीदार जगह होती है। बुर्का पहनने के बाद मुसलमान औरतो का पूरा शरीर ढक जाता है। बस आँखों से बाहर देखने के लिए एक जालीदार कपडा होता है। बुर्का पहने हुए मुसलमान औरतो की आँखे भी नहीं दिखती है। विश्व के कई देशो में बुर्का पूर्ण रूप से प्रतिबंधित है।  

क्या है हिजाब (Kya Hai Hijab)

मुस्लिम औरतो के द्वारा पहने जाने वाले कपड़ो में हिजाब का नाम भी आता है। मुस्लिम औरतो के द्वारा वर्तमान समय में हिजाब का प्रचलन बढ़ा है। विशेषकर मुस्लिम की युवा औरते इसका प्रयोग अधिक कर रही है। कुछ तो जींस-टीशर्ट पर भी इसका प्रयोग करती है। मुस्लिम औरते हिजाब का प्रयोग अपने सर को ढकने के लिए करती है। लेकिन इससे कंधे का भी कुछ भाग ढक जाता है। परन्तु इससे चेहरा नहीं ढकता है। इससे चेहरा खुला दिखता है। मुस्लिम औरते भारत के अलावा इसका प्रयोग अन्य कई देशो में कर रही है।

राजकोषीय घाटा क्या होता है?

क्या है नकाब (Kya Hai Niqab)

मुसलमान औरतो के द्वारा पहने जाने वाला नकाब एक ऐसा कपड़ा होता है, जो सर और चेहरे पर लगा होता है। नकाब एक तरह का गमछा होता है जिसको मुस्लिम औरते अपने सिर से लपेटती है। नकाब से आँखे दिखती रहती है। यह शरीर के निचले हिस्से को नहीं ढकता है। इससे केवल चेहरा ढकता है।

क्या है अल अमीरा (Kya Hai AL-Amira)

अल अमीरा दो कपड़ो का सेट होता है। जिसमें एक कपड़े को टोपी की तरह और दूसरा जो थोड़ा बड़ा होता है, को सिर से लपेटते हुए सीने तक लाया जाता है। अल अमीरा में मुस्लिम औरतो का चेहरा पूरा पूरा खुला होता है।

क्या है अबाया (Kya Hai Abaya)

अबाया बुर्का जैसा ही होता है। यह एक लम्बा ढका हुआ कपड़ा होता है जिसको मुसलमान औरते ऊपर से पहनती है। इसमें सर ढकने के लिए स्कार्फ होता है, जिसमें सिर के बाल तो ढके होते है मगर चेहरा खुला होता है। वास्तव में, यह बुर्का ही होता है जिसको मिडिल ईस्ट में अबाया कहा जाता है।

क्या है दुपट्टा

दुपट्टा एक लम्बा स्कार्फ होता है। जिससे केवल सर को ढका जा सकता है। यह कंधे तक आता है। दक्षिण एशिया में दुपट्टे का प्रयोग अधिक होता है। दुपट्टे का प्रयोग मुस्लिम औरते सलवार कमीज के साथ किया करती है।

क्या कहता है भारत का संविधान  

भारत के संविधान में अनुच्छेद 25 से अनुच्छेद 28 तक में धार्मिक स्वतंत्रता की व्यवस्था दी गई है। संविधान लोगो को धार्मिक आधार पर अपने आचरण और प्रचार की स्वतंत्रता देता है। लेकिन इसके बाद भी लोगो को इसके लिए पूर्ण स्वतंत्रता नहीं दी गई है। इनमें शर्ते लागू है। संविधान की अनुच्छेद 25 (A)  के अनुसार, राज्य विभिन्न प्रकार के अपने हितो को ध्यान में रखकर कभी भी इस पर प्रतिबन्ध लगा सकता है। परम्परा और धार्मिक कट्टरता के आधार पर किसी को भी राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ करने का अधिकार नहीं है।

यह भी पढ़े

 

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here