क्रिप्टो करेंसी क्या है और यह कैसे काम करती है? (Crypto Currency In Hindi)

दोस्तों आज से कुछ सालो पहले क्रिप्टोकर्रेंसी के बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते थे, लेकिन वर्तमान समय में टेक्नोलॉजी इतनी आगे बढ़ चुकी है। साथ ही इंटरनेट ने भी लोगो की सभी जरूरतों को पूरा कर दिया है।  ऐसे बहुत से प्लेटफार्म available हो गए हैं जहां से क्रिप्टो करेंसी के बारे में संपूर्ण जानकारी हम ले सकते हैं।

जहाँ क्रिप्टो करेंसी में invest  करने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है वही ज्यादा से ज्यादा लोग क्रिप्टो करेंसी के बारे में जानना चाहते है की आखिर क्रिप्टो करेंसी होती क्या है?  वैसे तो ज्यादातर देशो ने इस करेंसी को कानूनी तोर पर वैध कर दिया है।

लेकिन कुछ देश ऐसे भी है जहाँ यह अभी भी illegal है। हमारे देश भारत की बात करें तो लोगो के मन में अक्सर एक सवाल घूमता है की क्या भारत में क्रिप्टो करेंसी legal या illegal?  इन सभी सवालों के जवाब आज हम इस पोस्ट में देने वाले है तो कृपया करके इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़े इसमें आपको क्रिप्टो करेंसी से जुडी सभी जानकारियां मिलने वाली है।

Crypto-Currency-In-Hindi

क्रिप्टो करेंसी क्या होती है? (What is Crypto Currency?)

Crypto Currency कंप्यूटर एल्गोरिथ्म पर तैयार की गई डिजिटल करेंसी है जिसका फिजिकल तौर पर कोई अस्तित्व मौजूद नहीं होता है, ना ही यह आपको दिखाई देती है और ना ही आप इसे छू सकते हैं बस यह एक देश से दूसरे देश की करेंसी के बीच मध्यस्थ होती है।

इस करेंसी को डिसेंट्रलाइज करेंसी कहा जाता है इसके पीछे का कारण यह है कि इस करेंसी का कोई मालिक नहीं होता है इसको एक से ज्यादा व्यक्तियों द्वारा मैनेज किया जाता है। यह करेंसी किसी भी सरकार या संस्थान द्वारा स्वचालित नहीं की जाती है।

अब आप सभी लोगों के मन में एक सवाल जरूर आ रहा होगा कि आखिर जब इसकी कोई प्राइवेसी नहीं है तो इसमें इन्वेस्ट क्यों किया जाए तो इसके लिए सबसे अच्छे तरीके का प्रयोग किया गया जिसका नाम क्रिप्टोग्राफी था इसके द्वारा इन्वेस्ट करने वाले पर्टिकुलर पर्सन का एक कोड जनरेट कर दिया जाता है।

क्रिप्टो का मतलब होता है सीक्रेट और करेंसी का मतलब होता है goods और सर्विसेज यानि इस सीक्रेट करेंसी का यूज़ सर्विसेज खरीदने के लिए किया जाता है।

क्रिप्टो करेंसी कैसे काम करती है?

क्रिप्टो करेंसी को पब्लिक ledger में maintain करके रखा जाता है इसमें करेंसी को सेव करके रखा जाता है। public ledger को कई सारे कंप्यूटर और लोग मिलकर मेंटेन करते हैं जिसको  pear to pear नेटवर्क कहा जाता है वही इसे आसान भाषा में समझे तो पर्सन टू  पर्सन नेटवर्क जिसे बहुत सारे लोग मिलकर ledger को मेंटेन करते हैं।

क्रिप्टो करेंसी का मुख्य काम ब्लॉकचैन के द्वारा  एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में पैसे ट्रांसफर करना होता है।  ब्लॉकचैन एक ट्रेन के डब्बे की तरह काम करता है जैसे ट्रेन में एक के बाद एक डब्बा मिलकर लंबी चैन  बनाते हैं।

उसी तरह ब्लॉकचेन भी इन डब्बो  की तरह काम करता है जब भी एक ब्लॉक में ट्रांजैक्शन भर जाता है तो दूसरा ब्लॉक उससे जुड़ जाता है। इस तरह एक ट्रांजैक्शन दूसरे ट्रांजैक्शन से कनेक्टेड रहता है यह काम किसी एक कंप्यूटर के द्वारा नहीं किया जाता है।

यह कई सारे कंप्यूटर के द्वारा किया जाता है जिस वजह से यदि कोई व्यक्ति इसमें धोखाधड़ी करने की कोशिश करता है तो वह ट्रैक  हो जाता है, और पकड़ा जाता है।  सभी लेनदेन का रिकॉर्ड ब्लॉक चैन में होने के कारण धोखाधड़ी की संभावना काफी कम होती है।

बहुत से कंप्यूटर द्वारा कुछ लोग क्रिप्टो करेंसी में धोखाधड़ी ना हो इसकी निगरानी और जांच करते हैं इस पूरे प्रोसेस को माइनिंग का जाता है और इस में काम करने वाले लोगों को माइनर्स कहते हैं।

हर कोई व्यक्ति इसकी माइनिंग नहीं कर सकता है इसके लिए माइनिंग  करने वालों को एक पर्टिकुलर  कोड दिया जाता है यह कोड तभी दिया जाता है। जब मैथमेटिक्स के क्वेश्चन को हल करते हैं इस स्टेप को पूरा करने के बाद क्रिप्टो करेंसी की माइनिंग का प्रोसेस पूरा हो जाता है।

गूगल क्या है ?

सबसे सस्ती क्रिप्टोकरंसी (Cheapest Cryptocurrency)

दोस्तों जब लोगों को क्रिप्टोकरंसी के बारे में इतना ज्ञान नहीं था तब बहुत ही कम मार्केट में क्रिप्टोकरंसी हुआ करती थी लेकिन वर्तमान समय में बहुत सी क्रिप्टोकरंसी मार्केट में उपलब्ध है। अब अक्सर लोगों के मन में यह सवाल आता है कि भारत की सबसे सस्ती क्रिप्टोकरंसी कौन सी है?  तो हम आपको बता दे की shiba INU सबसे सस्ती क्रिप्टोकरंसी है जिसकी कीमत INR Rs.0.00239 है।

(SHIB) SHIBA INU Rs. 0.00239
Underdog (DOG) Rs. 0.56
(DAI) DAI Rs. 75.05
(DOGE) DOGECOIN Rs. 13.020
(TRX) TRON Rs. 6.135
(CRO) CRYPTO.COM COIN Rs. 39.82
(XRP) XRP Rs. 63.22
(BUSD) BINANCE USD Rs. 75.12
(USDT) TETHER Rs. 76.08
(USDC) USD COIN Rs. 76.03

क्रिप्टो करेंसी के फायदे (Crypto Currency Benefits)

  • क्रिप्टोकरंसी की डिमांड दिनों दिन बढ़ती जा रही है इसलिए इसकी कीमत में लगातार वृद्धि हो रही है यदि आप इसमें आप इन्वेस्ट करते हैं तो आने वाले समय में आपके लिए बहुत फायदेमंद रहने वाला है।
  • ब्लॉकचेन जैसी सुविधा होने की वजह से क्रिप्टोकरंसी में धोखाधड़ी होने की संभावना ना के बराबर होती है।

क्रिप्टो करेंसी के नुकसान (Disadvantages Of Cryptocurrencies)

  • इसका सबसे बड़ा नुकसान यह है कि यह एक डिजिटल करंसी है इसलिए आप इसका मुद्रण नहीं कर सकते हैं।
  • आज के समय में देखा गया है कि क्रिप्टोकरंसी से बहुत से गलत काम किये जा रहे है जैसे : ड्रगस  सप्लाई, जमाखोरी, कालाबाजारी इत्यादि।
  • साथ ही क्रिप्टोकरंसी भर किसी भी देश की  सरकार और संस्थान का संचालन नहीं किया जा सकता है यदि आपको नुकसान होता है तो उसके जिम्मेदार आप स्वयं होते है।
  • क्रिप्टो करेंसी जब भी आप खरीदते हैं तो उसमें आपको एक वॉलेट आईडी दी जाती है जिसको आप को संभाल कर रखना अनिवार्य होता है।  यदि वह आईडी आप भूल जाते हैं तो आपके वॉलेट में जितने भी पैसे हैं वह डूब जाते हैं, और वह आपको कभी भी नहीं मिल पाते।

क्या बिटकॉइन भारत में लीगल है? (Is Cryptocurrency Legal in India?)

दोस्तों वर्तमान समय में भारत में क्रिप्टोकरंसी लीगल है लेकिन बात करें 2018 की तो भारतीय रिजर्व बैंक ने बिटकॉइन को बैन कर दिया था और जो भी लोग क्रिप्टोकरंसी पर ट्रेड कर रहे थे। उनके लिए सजा का प्रावधान लागू कर दिया था जिसके तहत जो भी निवेशक इसमें ट्रेड करता है उसे 10 साल तक की सजा दिए जाने का ऐलान किया गया था।

लेकिन जब इसकी कार्रवाई सुप्रीम कोर्ट में की गई तब वहां से 2020 में अंतिम फैसला आया कि भारत में क्रिप्टो करेंसी legal की जाये वही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी 2022- 23 का बजट पेश किया है।

जिसमें उन्होंने क्रिप्टोकरंसी से जुड़े बहुत से बदलाव किए हैं जिसके तहत उन्होंने क्रिप्टोकरंसी पर 30% का टैक्स लागू कर दिया है और इससे यह बात भी साफ हो चुकी है कि भारत में क्रिप्टोकरंसी का विस्तार बढ़ने वाला है।

क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल करेंसी में क्या हैं अंतर (Crypto Vs Digital Currency)

डिजिटल करेंसी से मतलब है कि जैसे हम अपने बैंक खाते से किसी दूसरे के खाते में पैसा बड़ी आसानी से ट्रांसफर कर सकते हैं वहीं जब हम अपने पैसे को एटीएम या बैंक से निकालते हैं तो उसे डिजिटल करेंसी माना जाता है।

वही बात करी क्रिप्टोकरंसी की तो आप यह मान लीजिए कि यह डिजिटल सिक्के होते हैं जो एंक्रिप्शन द्वारा संरक्षित करके रखे जाते हैं और यह सिक्के पूर्णता एक निजी व्यक्ति के अधिकार में होते हैं लेकिन क्रिप्टो करेंसी के डिजिटल सिक्के अभी तक सभी देशों में लागू नहीं हो पाए हैं।

दुनिया की टॉप 5 मशहूर क्रिप्टोकरेंसी

  • Bitcoin
  • Ethereum (Ether)
  • Ripple XRP
  • Litecoin
  • Cardano

बिटकॉइन में ट्रेडिंग कैसे करें?

दोस्तों बिटकॉइन में ट्रेडिंग डिजिटल वॉलेट के जरिए की जाती है क्योंकि बिटकॉइन की कीमत पूरी दुनिया भर में एक समान रहती है। और जब किसी भी देश की परिस्थिति में बदलाव होता है उसी हिसाब से बिटकॉइन की प्राइस चेंज होती रहती है बिटकॉइन की कीमत लगातार बढ़ती और घटती रहती है यानी यह आपको करोड़पति भी बना सकता है और रोड पर भी ला सकती है।

भारत में बेस्ट क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज ऐप (Cryptocurrency Exchange App)

  • Coin Switch Kuber –  क्रिप्टोक्यूरेसी एक्सचेंज के लिए यह ऐप काफी अच्छी मानी जाती है इसमें यूजर्स को 100 प्लस क्रिप्टो में ट्रेडिंग करने का अवसर मिलता है। इसकी  सबसे बड़ी खासियत है कि इस ऐप पर पहले 1 लाख यूजर्स को 100 दिनों के लिए ट्रेडिंग फीस नहीं देनी होती है।
  • Coin DCX – भारत में क्रिप्टो एसेट्स के लिए सबसे बेहतरीन ट्रेडिंग ऐप में से एक मानी जाती है  इस ऐप के जरिए यूजर्स 200 से ज्यादा तक के ट्रेड कॉइन को buy और sell कर सकते है  अगर यूजर्स ऐप की सेटिंग टैप पर जाते हैं तो वह क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करने की जानकारी प्राप्त कर पाएंगे।
  • WazirX – इस एक्सचेंज ऐप के जरिये भी यूजर ट्रेडिंग कर सकते है. इसके जरिये यूजर कई तरह से पैसे कमा सकते है.

Conclusion –  उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको हमारे द्वारा बताई गई जानकारी अच्छी लगी होगी आज हमने आपके क्रिप्टोकरंसी से जुड़े सभी डाउट इस पोस्ट के माध्यम से solve करने की  कोशिश की है यदि आपको क्रिप्टोकरंसी से लेकर कोई भी प्रसन्न है तो आप इस पोस्ट के माध्यम से उसकी जानकारी ले सकते हैं।

FAQ

Q : क्रिप्टो मार्केट क्या होता है?
Ans : क्रिप्टो मार्केट वह  जगह होती है जहां पर क्रिप्टोकरेंसीज की खरीद, बिक्री और ट्रेनिंग की जाती है।

Q : बिटकॉइन की रेट क्या है?
Ans : बिटकॉइन की कीमत 30,97,751

 

यह भी पढ़े 

सर्वर क्या है?
इंटरनेट क्या है?
कंप्यूटर क्या है ?
NFT क्या है?
मेटावर्स क्या है?

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here