इंटरनेट सर्वर क्या है और कैसे काम करता है?

सर्वर क्या है, सर्वर कैसे काम करता है, सर्वर कितने प्रकार के होते हैं, सर्वर डाउन कैसे होता है, सर्वर प्रॉब्लम, सर्वर का अर्थ (server kya Hai, Server Down Hai Kya, Server Kaise Kaam Karta Hai, Server Kaise Banate Hai)

नमस्कार दोस्तों, सर्वर एक ऐसा शब्द जो शायद सुनने में छोटा हैं परन्तु इसका मतलब और अर्थ काफी बड़ा हैं। हमारे कंप्यूटर और मोबाइल में इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं। इन्टरनेट के इस्तेमाल करने के दोहरान ही हम सर्वर के बारे में जान पाते हैं और समझ पाते हैं। कंप्यूटर में इन्टरनेट के इस्तेमाल करने के प्रोसेस को भी कही न कही सर्वर ही कहते हैं। इस लेख में आपको इसी के बारे में बताया जाएगा की आखिर यह सर्वर क्या होता हैं और यह कैसे काम करता हैं।

इंटरनेट सर्वर क्या है और कैसे काम करता है?

सर्वर क्या हैं ?(What is Server)

सामान्य रूप से समझे तो सर्वर एक ऐसा कंप्यूटर प्रोगाम हैं जो दुसरे कंप्यूटर और डिवाइस के साथ डाटा आदान-प्रदान करता हैं। सर्वर के इस्तेमाल के लिए कम से कम एक प्रकार की केबल और कनेक्शन पोर्ट की जरूरत होती हैं इसमें LAN और WAN निम्न हैं।

अगर स्थानीय कंप्यूटर के माध्यम से अगर आपको कोई सर्वर बनाना हैं तो आप उसके लिए LAN का इस्तेमाल कर सकते हैं। LAN का पूरा नाम Local Area Network होता हैं। वही अगर आपको किसी इंटरनेट के लिए सर्वर की आवश्यकता हैं तो उसके लिए आप WAN का इस्तेमाल कर सकते हैं। WAN यानी Wireless Area Network इसका पूरा नाम होता हैं।

एक और सामान्य शब्दों में एक फिजिकल कंप्यूटर को भी एक सर्वर के रूप में जाना जाता हैं जिसका कारण हैं की उस एक कंप्यूटर से कई अनेक कंप्यूटर और इन्टरनेट डिवाइस जुड़े होते हैं।

सर्वर की आवश्यकता क्यों हैं ?

जब भी हम कंप्यूटर और इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो उस समय हम इन्टरनेट के साथ सर्वर का इस्तेमाल करते हैं। सर्वर का सामान्य और शाब्दिक अर्थ होता हैं परोसना। यानी ऐसा डाटा और सामग्री जिसे केबल माध्यम से इन्टरनेट और कंप्यूटर पर पहुचना।

जब भी हम किसी वेबसाइट को ब्राउज़र के माध्यम से खोलने या एक्सेस करने की कोशिश करते हैं तो उस वेबसाइट का एक आईपी एड्रेस उस वेबसाइट के सर्वर से डाटा लाकर आपको कंप्यूटर या मोबाइल की स्क्रीन पर दिखाता हैं।

सर्वर की कुछ सामान्य आवश्यकता :-

  • सर्वर सुरक्षित होता हैं, मान लो आप किसी ऐसी वेबसाइट जो लाखों लोगो से जुडी हो जैसे Facebook, पर अपना अकाउंट बनाते हैं तो वह डाटा सर्वर पर सेव होता हैं।
  • Server अपनी सेवाएँ 24×7 घंटे देता हैं। मान लोग अगर किसी सर्वर का हार्डवेयर ख़राब हो जाए तो उस स्थिति में सर्वर अपना काम चालू रखेगा।
  • सर्वर इंटरनेट पर स्थिति किसी भी फाइल या उसके डाटा को कंप्यूटर तक पहुंचाने में मदद करता है।

सर्वर के प्रकार (Type of Server)

वैसे तो सामान्य भाषा में सर्वर को एक मशीन और डाटा इनपुट आउटपुट सोर्स के नाम से जानते हैं। इसके अलावा इस सर्वर के यह कुछ सामान्य प्रकार हैं –

(वेब सर्वर) Web Server

यह एक ऐसा सर्वर हैं जो वेबसाइट को चलाता हैं। यह हार्डवेयर और सॉफ्टवेर दोनो से सम्बंधित हैं। इस सर्वर को कंप्यूटर प्रोग्राम की नाम से ही जाना जाता हैं। इस प्रकार के सर्वर का इस्तेमाल मुख्य रूप से Web Page Store, Process और Deliver के रूप में किया जाता है। इस server में Inner Communication करने के लिए HTTP / HTTPS का इस्तेमाल किया जाता हैं।

(एप्लीकेशन सर्वर) Application Server

यह एक ऐसा सर्वर हैं जो यूजर को एप्लीकेशन और के माध्यम से सर्विस प्रदान करता हैं। इसके अलावा यह एक ऐसा फ्रेमवर्क होता हैं जिसके माध्यम से कोई एप्लीकेशन विकसित की जा सकती हैं। इस एप्लीकेशन सर्वर को बनाने के लिए हमे कम से कम एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जरूरत होती हैं जिसमे Java, PHP, etc. इन में से कोई एक या यह सभी।

(प्रॉक्सी सर्वर) Proxy Server

सामान्य भाषा में इसे Proxy के नाम से जाना जाता हैं। यह इंटरनेट और यूजर के बीच का एक गेटवे का काम करता हैं। यह यूजर और वेबसाइट से भी जुडाव रखता हैं ताकि यूजर की मांग के अनुसार वेबसाइट से डाटा लाया जा सके । मुख्य रूप से यह सर्वर Network Connection Sharing, Network Data Filtering और Data Caching करने के लिए Client Program और External Server के बीच Mediator की तरह कार्य करता है।

(फाइल सर्वर) File Server

कोई ऐसा नेटवर्क हैं जो किसी सर्वर पर फाइल को इंस्टाल करने का काम करता हैं तो वो File Server के अधीन आता हैं। ऐसा की सर्वर जहा पर फोटो, डॉक्यूमेंट इत्यादि सेव किये जाते हैं और उसे किसी वेबसाइट और आईपी एड्रेस के माध्यम से एक्सेस किया जा सके। इस प्रकार के सर्वर को फाइल सर्वर के नाम से जाना जाता हैं।

(डाटाबेस सर्वर) Database Server

किसी वेबसाइट में डाटा को एक्सेस करना हो या कोई नाम, पता और मोबाइल नंबर इत्यादि। यक एक ऐसा सर्वर होता हैं जहा पर वेबसाइट के डाटा को रखने और वेबसाइट के डाटा को Maintenance इत्यादि रखने का काम में आता हैं।

(मेल सर्वर)  Mail Server

जैसा की नाम से ही पता चल रह हैं की यह ईमेल भेजने और प्राप्त करने से सम्बंधित हैं। ईमेल भेजने और प्राप्त करने के लिए भी अलग से सर्वर की जरूरत होती हैं तो उसके लिए ययह mail सर्वर काम में आता हैं। इस सर्वर को Internet mailer या MTA के नाम से भी जाना जाता हैं। जब भी कोई mail को भेजा जाता हैं तो उस स्थिति में भी यह कई सारी प्रक्रियाओं से गुजरता हैं।

( एफटीपी सर्वर) FTP Server

FTP यानी File Transfer Protocol भी कहलाता हैं। यह उस समय काम आता हैं जब किसी लोकल फाइल को ऑनलाइन सर्वर पर Transfer करना हो तो। कंप्यूटर से फाइल Transfer करना या ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से भी फाइल Transfer करने के लिए इस FTP Server का इस्तेमाल किया जाता हैं।

सर्वर कैसे काम करता हैं ? (Web Servers Work)

सर्वर कैसे काम करता हैं इसके कुछ चरण होते हैं –

Communication to Server – यह सबसे पहला चरण होता हैं जब आप किसी वेबसाइट को किसी ब्राउज़र में खोजते हैं। उदाहरण के तौर पर अगर आप wonderfactshindi.com/server-kya-hai टाइप करते हैं तो उसके बाद ब्राउज़र इस वेबसाइट के सर्वर से कनेक्शन करता हैं।

Breaking URL – उसके बाद अगला चरण होता हैं URL का ब्रेक होना, जैसे ही आप URL को टाइप करते हैं तो उसके बाद URL तीन हिस्सों में ब्रेक होता हैं जैसे एक {HTTPS} दूसरा {wonderfactshindi.com} और तीसरा फाइल का नाम {server-kya-hai}

Connection Server Name to IP Address – सर्वर URL को ब्रेक करने के बाद उस वेबसाइट जो हमने टाइप किया हैं उसे आईपी एड्रेस के अनुसार सर्वर के साथ जोड़ा जाता हैं। ताकि सर्वर से डाटा वेबसाइट के लिए प्राप्त किया जा सकता हैं।

Send and Received Request – जब भी आपका वेब ब्राउज़र सर्वर से कनेक्ट हो जाता हैं तो उसके बाद वह ब्राउज़र उस सर्वर पर वेब पेज की Request या तो भेजता हैं या प्राप्त करता हैं।

सर्वर के इन प्रोसेस के बाद ही आप अपने वेब ब्राउज़र पर डाटा देख पाते हैं। इसी के साथ हम उम्मीद करते हैं की आपको यह सर्वर का प्रोसेस समझ आया होगा।

क्या होता है सर्वर डाउन (What is Server Down)

जब भी हम किसी वेबसाइट का इस्तेमाल करते हैं तो हमे यह देखने को मिलता हैं की आज Server Down हैं। यह चीज़ हमे ज्यादातर बैंक में सुनने को मिलती हैं। चलिए जानते हैं की आखिर सर्वर डाउन कैसे होता हैं ?

सामान्य शब्दों में हम इसके लिए सुनते हैं Server Failed और Server Not Responding यह दोनों शब्द उस समय सुनने मिलते हैं जब हम किसी वेबसाइट को ब्राउज़र में ओपन करते हैं और वो वेबसाइट ओपन होने में समय लगता हैं या समय पर ओपन नही होता हैं।

Server Down की सामान्य परिभाषा : किसी वेबसाइट को सर्वर तक नही पहुंच पाना या वेबसाइट का आईपी एड्रेस की सर्वर तक नहीं पहुंच पाना। इसी समस्या को सर्वर डाउन की समस्या के नाम से जानते हैं।

अपना खुद का सर्वर बनाना संभव हैं ?

अगर आपके मन में यह सवाल हैं की क्या आप खुद का सर्वर बना सकते हैं क्या ? तो इसका जवाब हैं हाँ, आप अपने कंप्यूटर को घर पर ही रख कर उसकी मदद से एक होम सर्वर बना सकते हों और उससे एक से भी अधिक कंप्यूटर को उस सर्वर से जोड़ सकते हैं।

खुद का सर्वर बनाना वैसे सुनने में तो बहुत ही आसान हैं परन्तु इसके खुद की कुछ समस्याएँ हैं जिन्हें सर्वर बनाने के दोहरान देखने को मिलती हैं जैसे सर्वर का Miscommunication हो सकता हैं। इसके अलावा और भी कई सारे पॉइंट हैं।

वैसे आप अगर चाहे तो खुद का सर्वर बना सकते हैं। यह सर्वर Home Based हो सकता हैं। Home Based Server बनाने के वैसे कई फायदे हैं। जैसे इन सर्वर पर आप का खुद का कण्ट्रोल रहता हैं।

अंतिम शब्द – हमारे इस लेख में आपको सर्वर क्या हैं ? के बारे में बताया गया हैं। उम्मीद हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा। इस लेख में बताई गई जानकारी अगर आपको अच्छी लगी हैं तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे।

FAQ

Q : सर्वर का अर्थ क्या है?
Ans : सर्वर एक ऐसा कंप्यूटर प्रोगाम हैं जो दुसरे कंप्यूटर और डिवाइस के साथ डाटा आदान-प्रदान करता हैं।

Q : सर्वर डाउन कैसे होता है?
Ans : किसी वेबसाइट को सर्वर तक नही पहुंच पाना या वेबसाइट का आईपी एड्रेस की सर्वर तक नहीं पहुंच पाना। इसी समस्या को सर्वर डाउन की समस्या के नाम से जानते हैं।

Q : सर्वर कितने प्रकार के होते हैं?
Ans : Proxy Server, File Server, Database Server, Mail Server, FTP Server, Application Server, Web Server

 

यह भी पढ़े

कंप्यूटर क्या है ?
इंटरनेट क्या है ?
होम पेज

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here