Education Loan Kaise Le (एजुकेशन लोन कैसे ले)

आज के समय में प्रत्येक स्टूडेंट यह चाहता है कि वह एक उच्च शिक्षा ग्रहण कर पाए लेकिन प्रत्येक स्टूडेंट उच्च शिक्षा इसलिए नहीं ग्रहण कर पाता है कि उसके पास पैसों की कमी रहती है क्योंकि सभी बच्चे पैसे वाले परिवार से तो नहीं होते है कुछ बच्चे ऐसे भी होते हैं जो गरीब परिवार में जन्म लेते है लेकिन उनकी इच्छा रहती है कि वह एक अच्छी शिक्षा ग्रहण करके अपने परिवार को गरीबी से मुक्ति दिला सके ऐसे स्टूडेंट के लिए आज के समय में बहुत सी सुविधाएं हो चुकी हैं।  अब स्टूडेंट के पास पैसे की तंगी है लेकिन फिर भी वह उच्च शिक्षा ग्रहण करना चाहता है विदेशों में जाकर पढ़ना चाहता है तो इसके लिए उनके सामने दो विकल्प रहते हैं या तो वह किसी से ब्याज पर पैसे ले सकते हैं। लेकिन आज के समय में कोई भी ब्याज पर पैसा नहीं देने वाला होता है वह अगर देता भी है तो आपसे बहुत ज्यादा ब्याज लेता है। वहीं अब उसके सामने दूसरा विकल्प रहता है कि वह Education Loan ले लेकिन अब उसके सामने समस्या यह रह जाती है कि आखिर Education Loan मिलता कैसे है? इसके लिए कौन-कौन से कागजात जरुरी    है? किन-किन तरीकों से लोन लिया जा सकता है? यह सभी प्रश्न एक स्टूडेंट को परेशान करते हैं लेकिन आज का यह पोस्ट आपके लिए बेहद ही महत्वपूर्ण होने वाला है।

Education-Loan

शिक्षा ऋण क्या है (What is Education Loan)

Education Loan लेने से पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि आखिर एजुकेशन लोन होता क्या है? अगर आसान lभाषा में इसको हम समझे तो एजुकेशन लोन उन स्टूडेंट के लिए है जो उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं। विदेशों में जाकर पढ़ाई करना चाहते हैं लेकिन उनके पास पैसों की कमी है उन्हें अपने कॉलेज या इंस्टीट्यूट की फीस पे करनी है उसके लिए उन्हें Education Loan दिया जाता है। यह लोन वह किसी भी बैंक या फिर प्राइवेट संस्थान के द्वारा प्राप्त कर सकते है। लेकिन इसके लिए आपको कुछ प्रमाण की आवश्यकता होती है जिसके बारे में हम आपको आगे बताने वाले हैं।

शिक्षा ऋण के कितने प्रकार है? (How Many Types Of Education Loan )

भारत में मुख्यतः Education Loan की चार प्रकार के होते हैं और आप किसी भी बैंक या प्राइवेट संस्थान से इन चार ही तरीकों के आधार पर लोन ले सकते हैं तो चलिए जान लेते हैं कि एजुकेशन लोन के चारों प्रकार के बारे में

Undergraduate Loan (अंडरग्रेजुएट लोन)

यह लोन नाम से ही स्पष्ट हो रहा है इस तरह का लोन उन स्टूडेंट को दिया जाता है जिन्होंने अपनी हाई सेकेंडरी की पढ़ाई पूरी कर ली है और वह ग्रेजुएशन के लिए विदेशों में पढ़ाई करना चाहते हैं या फिर किसी बड़ी कॉलेज में अच्छी शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें दिया जाता है। जो स्टूडेंट अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के बारे में सोच रहे  है वह किसी भी बैंक या प्राइवेट संस्थान के द्वारा इस तरह का लोन ले सकते हैं और अपनी अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं।

Career Education Loan (कैरियर शिक्षा ऋण)

करियर एजुकेशन लोन उन स्टूडेंट के लिए सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है जो सरकारी कॉलेज से उच्च शिक्षा ग्रहण करना चाहते है। अब आप सोच रहे होंगे सरकारी कॉलेज में तो सब कुछ फ्री रहता है लेकिन IIT या फिर इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान बहुत अधिक मात्रा में पैसा खर्च होता है चाहे आपका प्राइवेट कॉलेज हो या फिर गवर्नमेंट कॉलेज। इसलिए यदि आप एक साधारण से परिवार से आते हो तो यह लोन आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण रहने वाला है।

Professional Graduate Loan (व्यावसायिक शिक्षा ऋण)

यह लोन केवल उन स्टूडेंट को ही दिया जाता है जिन्होंने अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई कंप्लीट कर ली हो और आगे की पढ़ाई करने के बारे में सोच रहे है। मान  लीजिये  आपने किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लिया है अब आप सोच रहे हैं उसमें आपको मास्टर की डिग्री हासिल करनी है तो आप यह लोन ले सकते है।

Parents Loan (माता-पिता का ऋण)

इस तरह का लोन उन पेरेंट्स को दिया जाता है जो अपने बच्चों उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए कहीं विदेश देश में भेजने वाले हैं अगर आज के समय में कोई आसान तरीके से मिलने वाला लोन है तो वह पेरेंट्स लोन ही है।

शिक्षा ऋण पर ब्याज की दर क्या है?  (What Is The Rate Of Interest On Education Loan)

इसके बारे में कोई भी स्पष्ट रूप से आपको नहीं बता सकता है आपको लोन लेने से पहले सभी बैंकों में लोन से संबंधित जानकारी हासिल करनी है, क्योंकि अलग-अलग बैंक अलग-अलग ब्याज दर पर लोन प्रदान करते हैं लेकिन इन सभी का ब्याज दर अन्य किसी दूसरे तरीको से प्राप्त किये गए लोन से बहुत कम होता है।

वही हम आपको कुछ बैंक के ब्याज दर के बारे में बताने वाले हैं जिनको देखकर आप अनुमान लगा सकते हैं कि आपको कितने ब्याज दर तक लोन मिल जाएगा। लेकिन आपको एक बात को ध्यान रखना चाहिए यदि आप देश में पढ़ाई करने के लिए लोन लेते हैं तो आपको इंटरेस्ट रेट कम लगता है वहीं यदि आप सभी देशों में पढ़ाई करने के लिए लोन लेना चाहते हैं तो आपको थोड़ा ज्यादा ब्याज दर देना पड़ेगा ।

बैंक का नाम  भारत में शिक्षा ऋण ब्याज दर (प्रति वर्ष) विदेश में अध्ययन के लिए शिक्षा ऋण ब्याज दर (प्रति वर्ष)
Axis Bank 13.70% 15.20%
Punjab National Bank 6.75% 9.50%
Canara Bank 6.90% 8.90%
State Bank of India 6.85% 8.65%
IDBI Bank 6.75% 8.75%
HDFC 9.55% 13.25%
UCO Bank 4.00% 10.20%
Kotak Mahindra Bank 16%
Tata Capital 10.99%

शिक्षा ऋण के लिए आवश्यक दस्तावेज (Documents required for Education Loan)

  • भारत का नागरिक होना चाहिए
  • 16-27 वर्ष की आयु होनी चाहिए
  • 10वी और 12वी की मार्कशीट और प्रमाणपत्रों की सत्यापित प्रतियाँ होनी चाहिए
  • आय प्रमाण के लिए पिछले 6 महीनों की बैंक स्टेटमेंट होना चाहिए
  • स्कूल, कॉलेज या संस्थान द्वारा जारी किया गया प्रवेश पत्र होना चाहिए
  • स्टूडेंट और उनके माता-पिता दोनों की फोटो पहचान पत्र (आधार कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस) होनी चाहिए
  • पासपोर्ट साइज फोटो होनी चाहिए
  • माता-पिता की आय प्रूफ होना चाहिए

शिक्षा ऋण लेने के लिए आवेदन प्रक्रिया (How to get Education Loan)

आपको शिक्षा ऋण लेने के लिए कुछ आवेदन प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा जो नीचे बताई गई है –

  • एजुकेशन लोन लेने के लिए सबसे पहले यूनिवर्सिटी द्वारा दिया गया एडमिशन कंफर्मेशन लेटर होना चाहिए।
  • किसी भी बैंक या संस्थान में एजुकेशन लोन के लिए apply करना होगा।
  • लोन से संबंधित सभी आवश्यक दस्तावेज को फॉर्म के साथ संलग्न करना होगा।
  • बैंक द्वारा इस पूरी प्रक्रिया की पुष्टि होने के बाद एप्लीकेशन लोन के लिए सबमिट कर दिया जाएगा।
  • बैंक के द्वारा आपको अप्रूवल मिल जाएगा उसके बाद जो भी बैंक अकाउंट आपने फॉर्म भरते समय दिया था उसमें पैसे ट्रांसफर कर दिए जाएंगे।

शिक्षा ऋण के फायदे (Benefits of Education Loan) 

एजुकेशन लोन एक स्टूडेंट के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण रहता है इसके बहुत से फायदे होते हैं जिनके बारे में हम आपको बताने वाले हैं.

  • एजुकेशन लोन में आपको बेहद ही कम ब्याज दर पर पैसा मिलता है.
  • लंबी अवधि के लिए शिक्षा ऋण मिलता है, जिस वजह से आपको जल्दी से पैसा देना है इस बात की कोई चिंता नहीं रहती है।
  • इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि जो भी विद्यार्थी प्रतिभाशाली है और वह अपने सपनों को साकार करना चाहता है लेकिन उसके पास पैसा नहीं है तो वह एजुकेशन लोन लेकर अपने सपनों को पूरा कर सकता है।

शिक्षा ऋण ना चुकाने पर क्या होता है?

  • एक विद्यार्थी के लिए शिक्षा ऋण बहुत ही महत्वपूर्ण होता है जो आगे की पढ़ाई के लिए उन्हें प्रेरित करता है लेकिन कई बार अभिभावक इस लोन को नहीं चुका पाते हैं। जिसके चलते भविष्य में उस विद्यार्थी को बहुत ही मुश्किलों का सामना करना पड़ता है क्योंकि डिफॉल्टर घोषित होने के बाद कोई भी बैंक और शाखा आपको लोन नहीं देने वाला है।
  • जब विधार्थी की पढ़ाई पूरी हो जाती है और वह नौकरी करने लग जाता है तो उसे क्रेडिट कार्ड की बहुत आवश्यकता होती है लेकिन लोन नहीं चुकाने के बाद क्रेडिट कार्ड से भविष्य में कोई भी लो नहीं मिलता है।
  • इसके लिए अभिभावकों को कुछ सावधानियां बरतनी होती है यदि आप लोन की emi नहीं चुका पा रहे हैं तो आप तुरंत बैंक से बातचीत करें और जब आपके पास पैसा हो तो emi का 2%ज भरकर किस्त को पूरा करें।

निष्कर्ष – दोस्तों यदि आप भी एक स्टूडेंट है और सोच रहे हैं कि आप भी एक उच्च शिक्षा ग्रहण करें तो एजुकेशन लोन आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प रहने वाला है इससे आपके ऊपर पड़ने वाला दबाव थोड़ा कम हो जाता है और आप अपने सपनों को पूरा कर पाएंगे।

FAQ

Q : एजुकेशन लोन कितना ले सकते हैं?
Ans : यह आपकी यूनिवर्सिटीज पर निर्भर करता है यदि आप भारत में ही किसी बड़ी यूनिवर्सिटी में अपना एडमिशन लेने की सोच रहे हैं तो आपको 10 लाख से 15 लाख रुपये तक का एजुकेशन लोन मिल सकता है वहीं यदि आप विदेश में पढ़ाई करने की सोच रहे हैं तो आपको 20 लाख रुपए से अधिक का loan मिल जाता है।

Q : क्या मार्कशीट से एजुकेशन लोन लिया जा सकता है? 
Ans : जी हां,  इसके लिए आप निजी बैंक शाखा से संपर्क कर सकते हैं।

Q : शिक्षा लोन पर कितना ब्याज लगता है? 
Ans : बैंकों ने एजुकेशन लोन 6.75% से लेकर 7.15% ब्याज दर पर दे रहे है.

यह भी पढ़े

 

मेरा नाम अशोक जांगिड है. मैं जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. मुझे कई सालो का ब्लॉग्गिंग का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here